Hindi News »Rajasthan »Sumerpur» भामाशाहों ने पुलिस को पीढ़ियों तक सहेजने वाली सौगात दी, ऐसे ही सामुदायिक भवन अन्य जिलों में भी बनें: महानिदेशक

भामाशाहों ने पुलिस को पीढ़ियों तक सहेजने वाली सौगात दी, ऐसे ही सामुदायिक भवन अन्य जिलों में भी बनें: महानिदेशक

पिचावा में तिहरे हत्याकांड में सुलझाने के लिए सुमेरपुर डीएसपी अमरसिंह चंपावत तथा पाली जिले के श्रेष्ठ कार्य करने...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 11, 2018, 07:35 AM IST

भामाशाहों ने पुलिस को पीढ़ियों तक सहेजने वाली सौगात दी, ऐसे ही सामुदायिक भवन अन्य जिलों में भी बनें: महानिदेशक
पिचावा में तिहरे हत्याकांड में सुलझाने के लिए सुमेरपुर डीएसपी अमरसिंह चंपावत तथा पाली जिले के श्रेष्ठ कार्य करने वाले 32 अन्य पुलिस कर्मियों व अधिकारियों को पुलिस महानिदेशक ने किया सम्मानित।

भास्कर संवाददाता | पाली

पुलिस महानिदेशक ओपी गल्होत्रा का कहना है कि अक्सर पुलिस की नकारात्मक छवि पेश कर उसका मनोबल कमजोर किया जाता है। मगर, पाली में भामाशाहों ने खुले दिल से पुलिस का सहयोग करते हुए करीब सवा करोड़ रुपए की लागत से मल्टीपरपज सामुदायिक भवन बनवाकर पुलिस-प्रशासन को पीढ़ियों तक सहेजने वाली सौगात दी है। पुलिस लाइन में शनिवार को गल्होत्रा ने भवन के लोकार्पण समारोह में यह बात कही। उन्होंने कहा कि यह पाली पुलिस और जनता के बीच अच्छे संवाद व समन्वय की नजीर है। डीजीपी ने एसपी दीपक भार्गव व उनकी टीम की सराहना की। कहा कि ऐसे भवन हर जिलों में बनने चाहिए।

श्रेष्ठ कार्य के लिए सुमेरपुर डीएसपी-सीआई सहित 33 अधिकारी-कर्मचारियों को सम्मानित किया डीजीपी ने : समारोह के दौरान डीजीपी द्वारा श्रेष्ठ कार्य करने वाले 33 पुलिस अधिकारी-कर्मचारियों का सम्मान किया गया। इनमें तखतगढ़ के पिचावा गांव में तिहरे हत्याकांड के अपराधियों को पकड़ने के लिए सुमेरपुर सीओ अमरसिंह चंपावत व उनकी टीम में शामिल नाणा थाने के तत्कालीन थानेदार नारायणलाल विश्नोई, एएसआई रघुनाथसिंह, हैडकांस्टेबल भगवतसिंह, श्रवणसिंह, तखतगढ़ थाने के कांस्टेबल प्रकाश व आबूरोड के कांस्टेबल जयंतीलाल का सम्मान किया गया। साइबर सेल में रहते हुए साइबर तकनीक से नाइजीरियन ठग के साथ विभिन्न गिरोह को पकड़ने के लिए सादड़ी एसएचओ पदमपाल सिंह भाटी, सदर थाना साइबर सेल के हैडकांस्टेबल गौतम आचार्य, कांस्टेबल राकेश शर्मा, मगनाराम के साथ रायपुर थाना प्रभारी राजेंद्रसिंह चारण, बर चौकी प्रभारी धौलाराम परिहार, वहां के कांस्टेबल राजेश को सम्मानित किया गया। सुमेरपुर थाना प्रभारी सुमेरसिंह, नाणा थानेदार दाऊद खान, रानी एसएचओ दीपसिंह भाटी, रास थानेदार राजेश मीणा, पुलिस लाइन के आरआई मादाराम मेहरड़ा, कंट्रोल रूम के एएसआई दीपाराम देवड़ा, मिलगेट चौकी प्रभारी सुरेश कुमार बारोलिया,बाढ़ के दौरान हेमावास बांध के ओवरफ्लो में फंसे तीन लोगों की जान बचाने पर हैडकांस्टेबल चंपालाल प्रजापत, एसपी ऑफिस के साइबर सेल के कांस्टेबल ओमप्रकाश सीरवी, राजेंद्रसिंह, हैडकांस्टेबल दीपाराम, पुलिस लाइन के हैडकांस्टेबल गणेश, कालू थाने के हैडकांस्टेबल उमराव खान, नामी तस्कर हड़मान विश्नोई को पकड़ने के दौरान फायरिंग में जख्मी हुए सदर थाने के कांस्टेबल राजेश जाट, ट्रैफिक पुलिस की कांस्टेबल किनिया, एसपी के ड्राइवर दिलीपसिंह, गनमैन राजेश सीरवी, कोतवाली थाने के साइबर एक्सपर्ट कांस्टेबल जितेंद्र बागौड़ा, पुलिस लाइन के कांस्टेबल स्वतंत्र कुमार व राजेंद्र को भी सम्मानित किया गया।

पाली के पुलिसकर्मियों की एक और बड़ी नजीर- सबने दो दिन का वेतन कटवाया, दिवंगत साथियों के परिवारों को मिले 5-5 लाख : समारोह में वर्ष 2017 में दिवंगत सात पुलिसकर्मियों के आश्रितों को सहायता राशि के चेक दिए गए। इस दौरान कलेक्टर सुधीर शर्मा व विधायक ज्ञानचंद पारख भी मौजूद थे। एसपी दीपक भार्गव ने बताया कि जिला पुलिस के सभी अधिकारी-कर्मचारियों ने दो दिन की वेतन कटौती कराकर सहायता राशि के रूप में प्रत्येक मृतक के आश्रित को 5 लाख 20 हजार 257 रुपए उपलब्ध कराए।

जवानों से मिले, अफसरों को दिए क्राइम कंट्रोल के टिप्स : पुलिस लाइन में ही डीजीपी ने संपर्क सभा कर जवानों से उनकी समस्याओं के बारे में विस्तार से जानकारी ली। सभी जवानों से वे बड़ी आत्मीयता से मिले। इसके बाद उन्होंने एसपी कक्ष में जिले के पुलिस अफसरों के साथ बैठक कर क्राइम कंट्रोल के टिप्स दिए।

गल्होत्रा ने कहा

अक्सर लोग पुलिस की नकारात्मक छवि ही पेश करते हैं, यदि ऐसा होता तो पाली में भामाशाहों की मदद से करीब सवा करोड़ रुपए की लागत से विशाल इमारत खड़ी नहीं होती।

पाली की यह नजीर पूरे प्रदेश में पुलिस महकमे को देंगे, ताकि अन्य जिलों में भी पुलिस के सहयोग के लिए आमजन व भामाशाह आगे आएं।

भामाशाहों का किया सम्मान, जताया आभार

कार्यक्रम के दौरान डीजीपी समेत सभी अतिथियों ने भवन निर्माण में सहयोग करने वाले भामाशाहों का सम्मान किया गया। इनमें श्री सीमेंट के प्रतिनिधि संजय मेहता व पुष्पेंद्र, निरमेक्स सीमेंट के एसबी सिंह व डीएस भाटी, सेलो ग्रुप सादड़ी के गोविंद व्यास, पाली की सीईटीपी ट्रस्ट अध्यक्ष अशोक लोढ़ा, समाजसेवी केसाराम घांची, खीमावत ट्रस्ट के नवीन व अंकित, सूर्या एसोसिएट, अल्ट्रा ट्रैक के संजय जैन, ओम लोहा उद्योग के अंकित अग्रवाल, सूर्या एसोसिएट के हिम्मतसिंह व बांगड़ ग्रुप के केबी धूत के साथ ही भवन निर्माण करने वाले आर्किटेक्ट पंकज कवाड़ व कपिल जैन का भी सम्मान किया गया।

आत्मरक्षा का डेमो देख अभिभूत हुए डीजीपी

पुलिस लाइन में डीजीपी के साथ एडीजीपी व आईजी ने पुलिसकर्मियों की ओर से आत्मरक्षा के प्रशिक्षण का डेमो देखा। डीजीपी आत्मरक्षा का डेमो देख अभिभूत हो गए और उन्होंने इसका प्रशिक्षण देने वाले कोच मोहम्मद आसिफ की सराहना की।

एडीजी व आईजी ने कहा-पाली भामाशाहों की नगरी

कार्यक्रम के दौरान एडीशनल डीजी, लॉ एंड आर्डर एनआरके रेड्डी व जोधपुर रेंज आईजी हवासिंह घुमरिया ने कहा कि वे भी पाली में एसपी रह चुके हैं। पाली में डयूटी के दौरान उनके बड़ी संख्या में पालीवासियों से गहरे रिश्ते हैं। पाली के भामाशाहों का आभार जताते हुए कहा कि पूरे प्रदेश में पाली जिले के भामाशाहों द्वारा दिल खोलकर कर वेलफेयर के काम में सहयोग करने के किस्से सुनाए जाते हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Sumerpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×