• Home
  • Rajasthan News
  • Sumerpur News
  • सुमेरपुर में 38 लाख रुपए से 20 जगहों पर लगेंगे 45 सीसीटीवी कैमरे
--Advertisement--

सुमेरपुर में 38 लाख रुपए से 20 जगहों पर लगेंगे 45 सीसीटीवी कैमरे

सुमेरपुर शहरवासियों के लिए अच्छी खबर है। अब शहर की निगरानी तीसरी आंखों से की जाएगी। शहर जल्द ही सीसीटीवी कैमरे की...

Danik Bhaskar | Feb 06, 2018, 07:45 AM IST
सुमेरपुर शहरवासियों के लिए अच्छी खबर है। अब शहर की निगरानी तीसरी आंखों से की जाएगी। शहर जल्द ही सीसीटीवी कैमरे की जद में आएगा। शहर के प्रमुख मार्गों से गुजरने वाला हर शख्स इन कैमरों की नजर में रहेगा। नगर पालिका सुमेरपुर द्वारा शहर के मुख्य स्थानों पर 20 जगहों पर 45 सीसीटीवी कैमरे लगाने का कार्य सोमवार से शुरू किया गया।

करीब 38 लाख की लागत से कैमरे लगाने का टेंडर आईटी प्लस उदयपुर को दिया गया है। सीसीटीवी कैमरे लगाने का कार्य एक महीने में पूरा होगा। सभी कैमरे वाई-फाई नाइट विजन एवं आईपी हाई रेजोल्यूशन होंगे। इन कैमरों को वाई-फाई व फाइबर केबल से जोड़ा जाएगा। क्राइम रोकने के लिए शहर के एंट्री व एक्जिट प्वाइंट पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे। वहीं शहर के कुछ स्थानों पर स्थायी कैमरे लगाए जाएंगे, जबकि कुछ स्थानों पर घूमने वाले कैमरे लगाए जाएंगे। ट्रैफिक के लिए अलग कैमरे लगाए जाएंगे, जो वाहनों पर नजर रखेंगे व कुछ कैमरे ऐसे होंगे, जो नंबर प्लेट को कैच करेंगे। इन सीसीटीवी कैमरों की 15 दिनों तक रिकॉर्डिंग सुरक्षित रहेगी। इन सीसीटीवी कैमरों का कंट्रोल रूम पुलिस थाना परिसर में होगा ताकि कैमरे लगने के बाद उसकी मॉनिटरिंग की जा सकेगी एवं नगरपालिका प्रशासन भी लाइव व रिकॉर्डिंग देख सकेंगे।

पाली शहर और मारवाड़ जंक्शन के बाद सुमेरपुर पालिका ने सीसीटीवी कैमरे लगाने की पहल की

पुलिस थाने में सीसीटीवी कैमरे का टॉवर लगाती आईटी टीम।

शहर में इन स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जा रहे हैं

शहर में 20 मुख्य स्थानों पर 45 सीसीटीवी कैमरों से नजर रहेगी। जिसमें भैरू चौक, बस स्टैंड, चंद्रशेखर सर्किल, टाउन हॉल के पास, जालोर चौराहा, गांधी मूर्ति, मेहता प्याऊ, शीतला चौक, झांसी रानी सर्किल, हनुमान मंदिर के पास मैन बाजार, बाणमाता सर्किल, प्रताप सर्किल, खेड़ादेवी सर्किल, जूना जाखा माताजी रोड, महाराजा उम्मेदसिंह कृषि उपज मंडी सर्किल, आर्य समाज सर्किल, सुभाष सर्किल, साकेत आश्रम, राजगुरु सर्कल, दिनदयाल उपाध्याय सर्किल शामिल है।

अपराध में कमी आएगी


यातायात नियंत्रित किया जा सकता है