--Advertisement--

सुमेरपुर-शिवगंज भास्कर

एक मात्र स्थिर अवस्था वो है, जिसमें सभी इंसान कानून के समक्ष बराबर हैं। -अरस्तू सांडेराव तखतगढ़...

Danik Bhaskar | Feb 18, 2018, 07:45 AM IST
एक मात्र स्थिर अवस्था वो है, जिसमें सभी इंसान कानून के समक्ष बराबर हैं।

-अरस्तू

सांडेराव
रविवार 18 फरवरी, 2018 फाल्गुन शुक्ल पक्ष-3, 2074

पप्पू ट्रेन की पटरी पर सो गया। एक आदमी बोला ट्रेन आएगी तो मर जाएगा। पप्पू- अभी प्लेन ऊपर से गया कुछ नहीं हुआ। तो ट्रेन क्या चीज है।