Hindi News »Rajasthan »Sumerpur» टिकट लेने से पहले पता चल जाएगा सीट कंफर्म होगी या नहीं

टिकट लेने से पहले पता चल जाएगा सीट कंफर्म होगी या नहीं

ट्रेनमें सफर करने वालों के लिए अक्सर कंफर्म टिकट पाना किसी सपने जैसा होता है। खासकर त्योहार के दिनों में और भी...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jan 04, 2018, 01:20 PM IST

ट्रेनमें सफर करने वालों के लिए अक्सर कंफर्म टिकट पाना किसी सपने जैसा होता है। खासकर त्योहार के दिनों में और भी समस्या होती है। काफी लोग कई दिन पहले टिकट कटवाते हैं फिर भी उन्हें कंफर्म टिकट नहीं मिलता है। ज्यादातर लोग इस उम्मीद में वेटिंग टिकट ले लेते हैं कि चलो अभी यात्रा में समय है, तब तक शायद टिकट कंफर्म हो ही जाएगा। लेकिन कई बार ऐसा नहीं होता और यात्रियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। कई बार तो यात्रियो को अपनी यात्रा रद्द तक करनी पड़ती है। अब तक ट्रेन का स्टेशन की टिकट खिड़की या आईआरसीटीसी से टिकट लेने पर मिलने वाले प्रतीक्षा टिकट में ये गारंटी नहीं होती थी कि ये कंफर्म होगा या नहीं।

इसी को देखते हुए अब भारतीय रेल एक ऐसा ऐप लाने का मन बना रहा है जिसके जरिए यह पता चल सकेगा कि वेटिंग टिकट के कंफर्म होने की कोई संभावना है या नहीं। रेलवे एक ऐसे ऐप पर काम कर रहा है जो यह पता लगाने में मदद करेगा कि वेटिंग टिकट के कंफर्म होने की कोई संभावना कितने प्रतिशत है। रेल्वे के कहने पर क्रिस सॉफ्टवेयर रेल्वे के लिए ऐसा सॉफ्टवेयर तैयार कर रहा है जो टिकट लेने के दौरान प्रतीक्षा रहने पर बता देगा कि जो टिकट लिया जा रहा है उसके कंफर्म होने की कितने प्रतिशत संभावना है। यह पूर्वानुमान पिछले 13 सालों के यात्री ऑपरेशन और बुकिंग पैटर्न डेटा पर आधारित होगा। सीआरआईएस (रेलवे सूचना प्रणाली केंद्र) रेलवे के लिए मिश्रित एप्लीकेशन विकसित कर रहा है जहां एक उपयोगकर्ता को रेलवे की वेबसाइट और ऐप पर टिकट बुक करते वक्त वेटिंग टिकट की पुष्टि होने की संभावना के बारे में सूचित किया जाएगा। वर्तमान में यात्रियों को प्रतीक्षा का टिकट रहने पर इमरजेंसी कोटा के अलावा अन्य कोई रास्ता नहीं रहता है। कई बार ऐसा भी होता है कि जनप्रतिनिधि या रेल्वे के वरिष्ठ अधिकारी की सिफारिश आने पर आम यात्री का टिकट आईक्यू में भी कंफर्म नहीं हो पाता है। ऐसे में अब ये नया सॉफ्टवेयर यात्रियो के लिए बहुत उपयोगी साबित होगा।

इसतरह से करेगा काम : सूत्रोंके अनुसार रेलवे में दो स्टेशन की यात्रा के बीच अनेक इस प्रकार के कोटे सी सीट रहती है जो यात्रा के दौरान रिक्त रह जाती है। ऐसे में उन कोटे की सीट पर यात्रियो के टिकट को कंफर्म किया जाएगा। इसके अलावा यात्री को विशेष तरीके के तैयार हो रहे सॉफ्टवेयर की मदद से पहले ही बता दिया जाएगा कि सीट कंफर्म होगी या नहीं।

राहत

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Sumerpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×