--Advertisement--

घर बैठे पता कर सकेंगे आपकी डाक डिलीवरी कब हुई

कोर सिस्टम इंटीग्रेटेड चालू होने से अब भेजी गई डाक को ट्रैक करना होगा आसान भास्कर न्यूज | सुमेरपुर राजस्थान...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 03:45 PM IST
घर बैठे पता कर सकेंगे आपकी डाक डिलीवरी कब हुई
कोर सिस्टम इंटीग्रेटेड चालू होने से अब भेजी गई डाक को ट्रैक करना होगा आसान

भास्कर न्यूज | सुमेरपुर

राजस्थान परिमंडल में पाली जिले के डाक मंडल में डाक विभाग के कोर सिस्टम इंटीग्रेटेड से घर बैठे ही पता कर सकेंगे कि आपकी डाक कहां पहुंची है। यह किस शहर में है तथा डिलीवरी कब हुई, यदि नहीं हुई तो कब होगी। इसमें मुख्य पोस्ट ऑफिस से लेकर सब पोस्ट ऑफिस तक की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है व पाली जिले में सभी पोस्ट ऑफिसों में यह सिस्टम 23 जनवरी से लागू हो गई है। राजस्थान में पाली डाक मंडल पहला जिला है, जिसमें कोर सिस्टम इंटीग्रेटेड लागू किया गया है।

डाक विभाग के इस सिस्टम के जरिए बुकिंग से लेकर डिलीवरी तक की स्थिति ट्रैक की जाएगी। जैसे ही डाक बुकिंग होगी, डाक विभाग के सिस्टम में उसकी एंट्री हो जाएगी। इसके बाद डिलीवरी होने तक सिस्टम के जरिए ट्रैक की जाएगी। ऐसे में यदि डाक गुम हुई तो कहां गुम हुई, इसका पता चल जाएगा। पाली डाक अधीक्षक डी.आर. सुथार ने बताया कि इस व्यवस्था से उपभोक्ताओं को काफी फायदा होगा। मुख्य डाकघर सहित जिले के सभी डाकघरों में कोर सिस्टम इंटीग्रेटेड 23 जनवरी से ही चालू कर दिया गया है। इसमें बुकिंग से लेकर डिलीवरी तक की पूरी प्रक्रिया ऑनलाइन की जाएगी। इससे डाक कब पहुंची, यह पता चल जाएगा। ग्राहक घर बैठे डाक की डिलीवरी का पता कर सकेंगे। कई बार डाक विभाग के पोस्टमैन पर आरोप लगते हैं कि वे डाक नहीं बांटते। ये आरोप अब नहीं लग सकेंगे। डाक बुकिंग से लेकर डिलीवरी तक का पता चल जाएगा कि डाक कितने दिन में पहुंची। डाक गुम होने का डर खत्म होगा। डाक गुम हुई तो ट्रैक से पता चल जाएगा कि किस पोस्ट ऑफिस में यह गुम हुई। इससे सीधे संबंधित पोस्टमैन और पोस्टमास्टर पर कार्रवाई की जा सकेगी। ट्रैकिंग होने से डाक भी जल्द बंटेगी।

डाक की हर स्तर पर एंट्री : डाक बुकिंग के दौरान विभाग जो भी आर्टिकल लेगा उस पर बार कोड लगाएगा। बुकिंग के बाद यह विभाग के पार्सल ऑफिस पहुंचेगा। यहां एंट्री की जाएगी। इसके बाद आरएमएस के साथ यह जिस शहर के पोस्ट ऑफिस पहुंचेगा, वहां एंट्री होगी। डिलीवरी के दौरान भी बार कोड के जरिए एंट्री की जाएगी। डाक विभाग की बुकिंग से लेकर डिस्पैच की प्रक्रिया ऑनलाइन हो गई है। इससे इसकी जानकारी विभाग की वेबसाइट पर नजर आएगी।

पिछले सप्ताह शुरू कर दिया इंटीग्रेटेड सिस्टम


राजस्थान में पाली डाक मंडल पहला जिला जिसमें कोर सिस्टम इंटीग्रेटेड लागू हुआ, डाक की हर स्तर पर एंट्री होगी

ऐसे कर सकते हैं पता

आपको विभाग की वेबसाइट डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू डॉट इंडिया पोस्ट डॉट जीओवी डॉट पर लॉग इन करना होगा। यहां ट्रैक का ऑप्शन आएगा। इस पर क्लिक करने के बाद आपको आर्टिकल का रजिस्ट्रेशन नंबर डालना होगा। यह नंबर डाक की बुकिंग के दौरान जो रसीद मिलती है उस पर लिखा रहता है। इसके बाद आपको डाक की स्थिति का पता चल जाएगा कि वह कहां पर है। बुकिंग से लेकर डिलीवरी तक की स्थिति तारीख सहित बताएगा।

X
घर बैठे पता कर सकेंगे आपकी डाक डिलीवरी कब हुई
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..