• Hindi News
  • Rajasthan
  • Sumerpur
  • शिवगंज में भरा पाबूजी महाराज का मेला, शामिल हुए भील समाज के लोग
--Advertisement--

शिवगंज में भरा पाबूजी महाराज का मेला, शामिल हुए भील समाज के लोग

शिवगंज | जवाई नदी में भील समाज की ओर से आयोजित पाबूजी महाराज के वार्षिक मेले में सैकड़ों श्रद्धालु पहुंचे। समाज के...

Dainik Bhaskar

Mar 26, 2018, 08:00 PM IST
शिवगंज में भरा पाबूजी महाराज का मेला, शामिल हुए भील समाज के लोग
शिवगंज | जवाई नदी में भील समाज की ओर से आयोजित पाबूजी महाराज के वार्षिक मेले में सैकड़ों श्रद्धालु पहुंचे। समाज के लोगों ने मंदिर पहुंचकर पाबूजी महाराज के दर्शन किए एवं आराध्यदेव को चूरमा का भोग लगाकर मन्नतें मांगी। शिवगंज-सुमेरपुर के बीच नदी के किनारे स्थित इस प्राचीन धाम पर भरे मेले में देर शाम तक लोगों का आगमन जारी रहा।

मेले में सिरोही, पाली व जालोर जिलों समेत अन्य शहरों व प्रांतों में रहने वाले भील समाज के लोग बड़े उत्साह के साथ भाग लेते है। मेला सोमवार देर शाम को विसर्जित होगा। मेले में शाम को अंधेरा होने के बाद आस पास शहरों व गांवों के लोग पहुंचने पर हाट बाजार में भीड़ नजर आई। हाट बाजार, झूलों व अन्य मनोरंजन साधनों के पास लोगों की खासी भीड़ रही। भीड़ के कारण वहां से पैदल चलना भी मुश्किल हो रहा था। मंदिर में दर्शनार्थियों की लंबी कतारें लगी हुई दिखी। मंदिर को बिजली रोशनी व माला मंडप से सजाया गया।

हाट बाजार में रही रौनक

मेले में रंगबिरंगे परंपरागत परिधानों में सजे-धजे लोग अस्थाई हाट बाजार में सामान की खरीदारी एवं झूलों, सर्कस मौत के कुएं में दौड़ती बाइक, जादूगर के करतबों को देखने एवं झूलों का लुप्त उठाते मेलार्थी को देखा गया। मंदिर के पास नदी में इस हाट बाजार में तेज धूप के बावजूद दिनभर लोगों की भीड़ रही।

परंपरा का हुआ निर्वहन

आदिवासी भील समाज के लोगों ने वर्षों पुरानी परंपरा का निर्वहन करते हुए अपनी एताईयों में रिश्तेदारों व मित्रों को बुला कर उनकी मेहमान नवाजी की। मेले के दौरान परिवार के लोग अपने जवाई को एताई में बुलाते है और उनके सम्मान में महिलाएं व युवतियां लोकगीत गाती है। इसके पहले मंदिर जाकर अपने आराध्यदेव पाबूजी महाराज को देशी घी-गुड़ के चूरमा का भोग लगाते है।

X
शिवगंज में भरा पाबूजी महाराज का मेला, शामिल हुए भील समाज के लोग
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..