--Advertisement--

अब टीबी मरीजों के लिए सीबी नाट सैंपल जांच जरूरी

सुमेरपुर| संशोधित राष्ट्रीय क्षय नियंत्रण कार्यक्रम के तहत शनिवार को जिला क्षय निवारण केंद्र सिरोही में...

Dainik Bhaskar

Apr 08, 2018, 03:05 AM IST
सुमेरपुर| संशोधित राष्ट्रीय क्षय नियंत्रण कार्यक्रम के तहत शनिवार को जिला क्षय निवारण केंद्र सिरोही में आरएनटीसीपी की रिव्यू बैठक का आयोजन किया गया, जिसमें जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ. संजय गहलोत ने बताया कि यूनिवर्सल डीएसटी के तहत निजी एवं सरकारी सभी मरीजों का सीबी नाट सैंपल भेजना जरुरी है।

जिला क्षय रोग अधिकारी ने बताया कि टीबी की दवा ले रहे निजी चिकित्सालय के मरीजों को टीबी सुपरवाईजर द्वारा होम विजिट कर उनके परिवार की स्क्रिनिंग की जाएगी। बच्चों में टीबी रोकने की दवा निशुल्क दी जाएगी तथा सरकारी अस्पताल में उपलब्ध निशुल्क एचआईवी जांच, डायबिटीज जांच, डीएसटी (एमडीआर जांच) सुविधा निजी उपचार ले रहे रोगियों को भी दी जाएगी। टीबी मरीजों को अधिक से अधिक खोजने के लिए निजी चिकित्सालय की भागीदारी सुनिश्चित की जाएगी। उन्होंने बताया कि सभी टीबी मरीजों के डॉट्स प्रोवाईडर बनाना भी जरुरी है तथा सभी मरीजों व डॉट्स प्रोवाईडरों का आधार नंबर, बैंक खाता संख्या निक्षय में इंद्राज करना होगा, जिससे मरीज को योजना का लाभ मिल सके। जिला कार्यक्रम समन्वयक सत्यभान सिंह देवड़ा ने सभी एसटीएस-एसटीएलएस को निक्षय में शेष रहे एंट्री को दर्ज करने के निर्देश दिए। जिला पीपीएम समन्वयक दिलीप कुमार दाना ने बताया कि इसके लिए स्कूल कार्यक्रम करना होगा तथा निजी चिकित्सालय से दवा ले रहे टीबी रोगियों की होम विजिट समय पर करें तथा टीबी का प्रचार-प्रसार करने को कहा। बैठक में आरएनटीसीपी कार्यक्रम के तहत कार्यरत रण सिंह, पीएमडीटी कॉर्डिनेटर, विरेंद्र सिंह, बलवीर सिंह, सजन सिह, रघुवीर सिंह, दीपक कुमार, एसटीएस, निर्माल्य बनर्जी, विनोद कुमार, गौमत कुमार, एसटीएलएस, धर्मेंद्र कुमार, टीबीएचवी विशालदीप, डीईओ, प्रवीण सिंह, एआरटी सेंटर सिरोही व स्टाफ मौजूद थे।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..