विज्ञापन

भद्रा के कारण रात 9 बजे के बाद होगा होलिका दहन

Dainik Bhaskar

Mar 17, 2019, 06:16 AM IST

Sumerpur News - मलमास के चलते एक माह तक नहीं बजेगी शहनाइयां भास्कर न्यूज | सुमेरपुर 17 जनवरी से शुरू हुई शादियों के सीजन पर...

Sumerpur News - rajasthan news after 9 o39clock due to bhadra holika combustion
  • comment
मलमास के चलते एक माह तक नहीं बजेगी शहनाइयां

भास्कर न्यूज | सुमेरपुर

17 जनवरी से शुरू हुई शादियों के सीजन पर गुरुवार को होलाष्टक लगने के साथ ब्रेक लग गया। होलाष्टक 21 मार्च पूर्णिमा तक चलेंगे। होलाष्टक लगने के साथ अब 8 दिनों तक कोई भी शुभ कार्य नहीं हो सकेंगे। पं महेश वी शास्त्री ने बताया कि पौराणिक मान्यताओं के अनुसार फाल्गुन शुक्ल पक्ष अष्टमी को होलाष्टक तिथि का आरंभ होता है। इस तिथि से पूर्णिमा तक के आठों दिनों को होलाष्टक कहा गया है। इस वर्ष होलाष्टक 14 मार्च से आरंभ हुए हैं। होलाष्टक अवधि भक्ति की शक्ति का प्रभाव दिखाने की है।

इन आठ दिनों में शुभ कार्य निषेध रहते हैं : पं. महेश वी शास्त्री ने बताया कि भक्ति पर जिस-जिस तिथि, वार को आघात होता, उस दिन और तिथियों के स्वामी भी हिरण्यकश्यपु से क्रोधित हो जाते थे। इसीलिए इन आठ दिनों में क्रमश-अष्टमी को चंद्रमा, नवमी को सूर्य, दशमी को शनि, एकादशी को शुक्र, द्वादशी को गुरु, त्रयोदशी को बुध एवं चतुर्दशी को मंगल तथा पूर्णिमा को राहु उग्र रूप लिए माने जाते हैं। इसकी वजह से इन दिनों में गर्भाधान, विवाह, नामकरण, विद्यारम्भ, गृह प्रवेश व निर्माण आदि अनुष्ठान अशुभ माने गए हैं। तभी से फाल्गुन शुक्ल अष्टमी के दिन से ही होलिका दहन स्थान का चुनाव किया जाता है। पूर्णिमा के दिन सायंकाल शुभ मुहूर्त में अग्निदेव की शीतलता एवं स्वयं की रक्षा के लिए उनकी पूजा करके होलिका दहन किया जाता है। पं. शास्त्री ने बताया कि इस बार होलिका दहन 20 मार्च को चतुर्दशी युक्त पूर्णिमा में मनाया जाएगा। 20 को रात 8.58 बजे तक भद्र्रा रहेगी। इससे होलिका दहन भद्रा के बाद 8.59 से 9.47 बजे श्रेष्ठ समय में किया जाएगा। होलिका दहन के समय चंद्रमा सिंह राशि में रहेगा।





सिंह राशि का स्वामी सूर्य बुध का मित्र ग्रह होने से आपसी समता व प्रेम बढ़ेगा।

मलमास के चलते एक माह तक नही बजेगी शहनाइयां

15 मार्च को मीन का मलमास लग गया। सूर्य जब गुरु की राशि धनु और मीन राशि में प्रवेश करता है, तब मलमास लग जाता है। 15 मार्च को सुबह 5:45 बजे सूर्य ने मीन राशि में प्रवेश किया। सूर्य मीन राशि में 14 अप्रैल को दोपहर 2 बजे तक रहेगा। शुभ कार्य 15 अप्रैल से शुरू हो सकेंगे। 16 अप्रैल को फिर से शहनाइयां बजने लगेंगी। 12 जुलाई को देवशयन होगा। इससे फिर चार माह तक कोई शुभ और मांगलिक कार्य नहीं हो सकेंगे। 8 नवंबर को देवउठनी एकादशी से फिर शहनाइयां गूंजेंगे।

शादियों के लिए अबूझ मुहूर्त

7 मई अक्षय तृतीया

13 मई जानकी नवमी

18 मई पीपल पूनम

12 जून गंगादशमी

10 जुलाई भड़ल्या नवमी

12 जुलाई देवशयनी एकादशी

8 नवंबर देवउठनी एकादशी

X
Sumerpur News - rajasthan news after 9 o39clock due to bhadra holika combustion
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन