सुमेरपुर में चेयरमैन पद के लिए भाजपा की उषा कंवर के नाम पर मोहर, कांग्रेस में फूट, बागी महिला पार्षद मैदान में

Sumerpur News - नगरपालिका चेयरमैन पद पर भाजपा का पलड़ा मजबूत है। भाजपा के पक्ष में बहुमत लायक पार्षद होने तथा 4 निर्दलीयों का...

Nov 22, 2019, 11:20 AM IST
Sumerpur News - rajasthan news bjp39s usha kanwar39s name for the post of chairman in sumerpur congress split rebel women councilor
नगरपालिका चेयरमैन पद पर भाजपा का पलड़ा मजबूत है। भाजपा के पक्ष में बहुमत लायक पार्षद होने तथा 4 निर्दलीयों का समर्थन मिलने के बाद तय माना जा रहा है कि उषा कंवर ही चेयरमैन बनेगी। वहीं बहुमत से काफी दूर रही कांग्रेस निर्दलीयों तथा क्रॉस वोटिंग के जरिए खेल करना चाहती थी, मगर कांग्रेस में फूट पड़ गई है। कांग्रेस की अधिकृत उम्मीदवार परमिंदर कौर के सामने कांग्रेस की पार्षद मंजू मेवाड़ा ने बगावत कर दी है। उन्होंने भी कांग्रेस के साथ ही निर्दलीय चुनावी पर्चा दाखिल किया है। सिंबल के अभाव में उनका कांग्रेस का नामांकन तो खारिज हो जाएगा, लेकिन निर्दलीय चुनाव लड़ने में वे स्वतंत्र है। ऐसे में कांग्रेस नेताओं ने मेवाड़ा का मनाने के प्रयास तेज कर दिए हैं। शुक्रवार काे नामांकन पत्रों की जांच हाेगी। 23 नवंबर काे नाम वापस लिए जाएंगे। 26 नवंबर काे चेयरमैन पद के लिए चुनाव होगा।

भाजपा के पक्ष में अंकगणित क्योंकि- नगरपालिका चुनाव में कुल 35 सीटों में से भाजपा को 18 सीटें मिली है। वहीं 4 निर्दलीयों ने भी भाजपा को समर्थन देने का आश्वासन दिया है। इसमें दो निर्दलीय पार्षदों ने तो गुरुवार को जिलाध्यक्ष की मौजूदगी में भाजपा की सदस्यता भी ग्रहण कर ली। ऐसे में उनके पास 22 पार्षदाें का समर्थन होने का दावा किया जा रहा है। वहीं 2 अन्य निर्दलीयों ने भी भाजपा को समर्थन देने का भरोसा दिया है। ऐसे में उषा कंवर का चेयरमैन बनना तय माना जा रहा है।

कांग्रेस बहुमत से काफी दूर, एक उम्मीदवार के 3 संतान होने के कारण चुनाव लड़ने से वंचित

कांग्रेस चुनाव की शुरुआत में ही पिछड़ गई थी। ऐनवक्त पर ही सिंबल जमा कराने के कारण उसके 4 उम्मीदवार तो नामांकन ही दाखिल नहीं कर पाए थे। एक उम्मीदवार को 3 संतान होने के कारण चुनाव लड़ने से वंचित कर दिया। अब कांग्रेस ने 9 सीटें ही जीती है। 8 निर्दलीय जीते हैं, मगर इसमें से 4 तो खुले तौर पर भाजपा के खेमे में हैं। वहीं 2 पार्षद भी उनके पास होने का दावा है। शेष 2 पार्षद कांग्रेस के साथ जा सकते हैं। दूसरा कांग्रेस में फुट भी है।

उम्मीदवारी नहीं मिली तो बगावत पर उतरे कांग्रेस नेता

जिला कांग्रेस के महासचिव व पार्षद रहे सुभाष मेवाड़ा की प|ी मंजू देवी भी कांग्रेस से चुनाव जीतकर पार्षद निर्वाचित घोषित की गई है। वे सुमेरपुर चेयरमैन पद पर प्रबल दावेदार थी, मगर विधानसभा में प्रत्याशी रही रंजू रामावत से छत्तीस का आंकड़ा होने के कारण टिकट परमिंद्रकौर को दे दिया गया। ऐसे में मेवाड़ा ने अपनी प|ी को कांग्रेस के साथ ही निर्दलीय लड़ाने के लिए नामांकन दाखिल करवा दिया। हालांकि मेवाड़ा को मनाने के प्रयास देर रात तक जारी है, मगर वे अब तक अड़े हुए हैं। ऐसे में कांग्रेस का बिखराव तथा पर्याप्त संख्या बल नहीं होने के कारण भाजपा के सामने मुकाबले में कहीं नहीं टिक रही है।

सुमेरपुर. अारअाे के समक्ष नामांकन प्रस्तुत करती कांग्रेस प्रत्याशी परमिंदर काैर।

4 निर्दलीयाें ने भाजपा और 2 ने कांग्रेस काे दिया समर्थन, उषा कंवर का अध्यक्ष बनना संभव

इस बार हुए चुनावाें में भाजपा ने 18, कांग्रेस ने 9 एवं निर्दलीयाें ने 8 सीटाे पर कब्जा किया था। चेयरमैन बनने के लिए 35 में से 18 मताें की अावश्यकता है। गुरुवार काे 2 निर्दलीय पार्षदाें काे भाजपा जिलाध्यक्ष करणसिंह नेतरा ने भाजपा की सदस्यता ग्रहण करवाई। वार्ड नंबर 23 से गाेविंद कुमार एवं वार्ड नंबर 25 से पर्बतसिंह ने भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर पार्टी के पक्ष में मतदान करने का निर्णय लिया। दाे अन्य निर्दलीय पार्षद वार्ड नंबर 29 से वीणा देवड़ा एवं वार्ड नंबर 30 से चतुर्भुज शर्मा ने भी भाजपा काे समर्थन देने की घोषणा की है। इससे भाजपा के पास पार्षदों की संख्या 22 हाे गई है। दाे अन्य निर्दलीय प्रत्याशियाें ने भी भाजपा के पक्ष में मतदान कर सकते हैं। इससे माना जा रहा है कि भाजपा की उषा कंवर का अध्यक्ष बनना तय है। कांग्रेस के पक्ष में दाे निर्दलीय पार्षद जाने के समाचार है।


सुमेरपुर. अध्यक्ष पद के िलए अारअाे के समक्ष नामांकन प्रस्तुत करती भाजपा प्रत्याशी उषा कंवर।


उपचुनावाें में कांग्रेस समर्थित अध्यक्ष पद का प्रत्याशी 1 वाेट से हारा था

सुमेरपुर | कांग्रेस ने गत जनवरी में हुए पालिकाध्यक्ष के उप चुनावाें में वार्ड नंबर 23 के पार्षद रतनलाल घांची काे अपना समर्थन िदया था। िजसमें कांग्रेस ने भाजपा काे कड़ी टक्कर दी थी। बावजूद इसके वार्ड नंबर 20 से भाजपा पार्षद फुलाराम सुथार ने बाजी मारते हुए अपने निकटतम प्रतिद्वन्द्वी निर्दलीय रतनलाल घांची को एक मत से हराते हुए अध्यक्ष पद के लिए निर्वाचित हुए थे। पालिका के 24 पार्षदों में से भाजपा के पक्ष में 12 जबकि निर्दलीय प्रत्याशी के पक्ष में 11 मत प्राप्त हुए एवं एक पार्षद ने दोनों प्रत्याशियों को नकारते हुए नोटा में मतदान किया था। गाैरतलब है कि तत्कालीन पालिकाध्यक्ष जाेराराम कुमावत जाे वार्ड नंबर 17 से चुनाव जीतकर पार्षद बने थे। कुमावत ने िवधायक बनने के बाद उक्त वार्ड से इस्तीफा दे दिया था। उसी के चलते उप चुनाव करवाए गए थे, िजसमें कांग्रेस ने संख्या बल कम यानि 3 पार्षद हाेने के बावजूद नतीजाें से सभी का चाैका िदया था। उस समय यदि एक वाेट नाेटा में नहीं जाता ताे िस्थति कुछ अाेर ही हाेती।

Sumerpur News - rajasthan news bjp39s usha kanwar39s name for the post of chairman in sumerpur congress split rebel women councilor
Sumerpur News - rajasthan news bjp39s usha kanwar39s name for the post of chairman in sumerpur congress split rebel women councilor
X
Sumerpur News - rajasthan news bjp39s usha kanwar39s name for the post of chairman in sumerpur congress split rebel women councilor
Sumerpur News - rajasthan news bjp39s usha kanwar39s name for the post of chairman in sumerpur congress split rebel women councilor
Sumerpur News - rajasthan news bjp39s usha kanwar39s name for the post of chairman in sumerpur congress split rebel women councilor
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना