पार्कों में 6 लाख की लागत से लगे थे फव्वारे, अब नाकारा

Sumerpur News - शहर के सार्वजनिक पार्कों में नगर पालिका की ओर से करीब ७ वर्ष पहले लगवाए रंगीन फव्वारे लंबे अंतराल से बंद पड़े है।...

Feb 15, 2020, 11:26 AM IST
Sheoganj News - rajasthan news fountains were installed in parks at a cost of 6 lakhs now refuse

शहर के सार्वजनिक पार्कों में नगर पालिका की ओर से करीब ७ वर्ष पहले लगवाए रंगीन फव्वारे लंबे अंतराल से बंद पड़े है। चार पार्कों को विकसित करने के नाम पर तत्कालीन कांग्रेस बोर्ड के कार्यकाल में इन फव्वारों पर ६ लाख रुपए व्यय किए गए थे, लेकिन कुछ महिनों तक ये फव्वारे चलने के बाद बंद हो गए थे जो आज भी उसी हालत में पड़े हुए है। फव्वारों पर जंग लगने के साथ पानी के कुंड खाली पड़े हुए है। ऐसे में पार्क के अंदर ये बंद पड़े हुए फव्वारे सिर्फ शो-पीस बनकर रह गए है। नगर पालिका ने शहर के नेहरूनगर, गोकुलवाड़ी, कुटुंब कॉलोनी व छावणी पार्क में वर्ष २०१३ के सितंबर महीने में चार रंगीन फव्वारे लगवाए गए थे। छावणी पार्क में तो रंगीन फव्वारा सिर्फ दो महीने ही चल पाए थे। उसके बाद फव्वारे को चालू भी करवाया,लेकिन वर्षभर चलने के बाद रख-रखाव के अभाव में लगभग सभी पार्कों में ये फव्वारे एक-एक कर बंद हो गए थे,जो अभी भी बंद ही पड़े है।

वर्षभर रही थी पार्कों में रौनक : इन फव्वारों से रंग-बिरंगे पानी की निकलने वाली बौछारों से सभी पार्कों की रौनक बढ़ गई थी। पहले शाम ढलने के बाद अंधेरा होते ही इन पार्कों में लोगों की चहल-पहल शुरू हो जाती थी, लेकिन रंगीन फव्वारे बंद होने के बाद शाम को ये पार्क अब वीरान दिखने लगे है। पार्कों में पहले फव्वारों के रंग-बिरंगे पानी की तेज बौछारों को देखने एवं इसका लुप्त उठाने के लिए देर शाम तक लोगों का आगमन रहता था,जो अब नहीं दिख रहा है। छावणी पार्क व गोकुलवाड़ी पार्क में खड़े पुराने पेड़ों की कटाई तो कर दी गई, लेकिन उनके एवज में इन पार्कों के अंदर नए पौधे नहीं लगवाने से आज भी हरियाली का अभाव है।

नेहरू पार्क की हालत खस्ता

शहर के नेहरूनगर मोहल्ले में देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के नाम का सार्वजनिक पार्क है। लेकिन इस समय अन्य पार्कों से उसकी स्थित दयनीय है। पार्क के मुख्य प्रवेशद्वार पर लगे हुए बोर्ड पर पहले चाचा नेहरू पार्क लिखा हुआ था,वह भी नहीं है। उस बोर्ड पर इस समय कुछ भी लिखा हुआ नहीं है। यही नहीं, पार्क में लोगों के बैठने की सुविधा भी अपर्याप्त है। सीमेंट के बैंच टूटे पड़े है। एक बैंच तो टूट कर उसका आधा भाग जमीन में धंस पड़ा है। ऐसे में पार्क के अंदर घूमने के लिए आने वाले लोगों को बैठने में भी असुविधा हो रही है।

नेहरु पार्क में 2013 में लगे थे रंगीन फव्वारे।

शिवगंज. नेहरु पार्क में बंद पड़े फव्वारे।

Sheoganj News - rajasthan news fountains were installed in parks at a cost of 6 lakhs now refuse
X
Sheoganj News - rajasthan news fountains were installed in parks at a cost of 6 lakhs now refuse
Sheoganj News - rajasthan news fountains were installed in parks at a cost of 6 lakhs now refuse
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना