Hindi News »Rajasthan »Suratgarh» भास्कर संवाददाता| श्रीगंगानगर/ सादुलशहर (आंचलिक)/ बीकानेर

भास्कर संवाददाता| श्रीगंगानगर/ सादुलशहर (आंचलिक)/ बीकानेर

मोबाइल पर बात करते हुए बस चला रहा था रोडवेज का चालक, सड़क से नीचे खड़े ट्रेलर में पीछे से मारी टक्कर, महिला सहित...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 09, 2018, 06:25 AM IST

भास्कर संवाददाता| श्रीगंगानगर/ सादुलशहर (आंचलिक)/ बीकानेर
मोबाइल पर बात करते हुए बस चला रहा था रोडवेज का चालक, सड़क से नीचे खड़े ट्रेलर में पीछे से मारी टक्कर, महिला सहित पांच युवतियों की मौत


भास्कर संवाददाता| श्रीगंगानगर/ सादुलशहर (आंचलिक)/ बीकानेर

जामसर से 500 मीटर दूर लूणकरणसर की तरफ रोडवेज बस के चालक ने सड़क से नीचे खड़े ट्रेलर को पीछे से टक्कर मार दी। टक्कर इतनी तेज थी कि बस में सवार पांच महिलाओं की मौके पर ही मौत हो गई और 15 लोग घायल हो गए जिन्हें पीबीएम अस्पताल ले जाया गया। बस ड्राइवर मौके से फरार हो गया। मृतकों में चार महिला परीक्षार्थी बताई जा रही हैं, जो नेट की परीक्षा देकर लौट रही थीं। जामसर पुलिस थाने के एसएचओ अमरसिंह ने बताया कि रविवार को लोहे के सामान से भरे दो ट्रक ट्रेलर गुजरात से पंजाब में गोविंदगढ़ मंडी जा रहे थे। दोनों ट्रेलर राष्ट्रीय राजमार्ग 15 पर जामसर से 500 मीटर दूर लूणकरणसर की तरफ भारत पेट्रोल पंप के पास के पास रुके। एक ट्रेलर का चालक पेट्रोल भरवाने गया और दूसरे ने अपनी गाड़ी सड़क से पूरी तरह नीचे उतारकर खड़ी की थी। दिन में करीब 3:30 बजे बीकानेर से सवारियों को लेकर श्रीगंगानगर की ओर जा रही रोडवेज बस के ड्राइवर ने लापरवाही से गाड़ी चलाते हुए खड़े ट्रेलर के पीछे से जोरदार टक्कर मार दी। दुर्घटनाग्रस्त बस में श्रीगंगानगर रूट की महिला परीक्षार्थी भी थीं जो नेट का पेपर देकर लौट रही थीं।

निगेटिव न्यूज

सिर्फ वही नकारात्मक खबर, जो अापको जानना जरूरी है

मृतकों में 4 श्रीगंगानगर के, 15 घायल, चार महिला परीक्षार्थी नेट की परीक्षा देकर घर आ रही थीं, चालक फरार

किस्मत देखिए...राकेश और उसकी प|ी की यूं बची जान

उधर, इस प्रकरण में जाको राखे साइयां मार सके ना कोय...वाली कहावत चरितार्थ हो गई। हुआ यूं कि गोलूवाला निवासी राकेश शर्मा अपनी प|ी को नेट का पेपर दिलाने बीकानेर गए हुए थे। राकेश ने बताया कि बीकानेर से वापस आने के लिए सबसे आगे की सीट उन्हीं के लिए तय थी। बस बीकानेर से 3:10 बजे रवाना होनी थी। उस समय वे अपनी बहन के घर थे जो बीकानेर रहती है। जब वे बस पकड़ने के लिए रवाना हुए तो उन्हें उनकी बहन-बहनोई ने रोक लिया। बहन ने उन्हें जबरदस्ती यह कहते हुए रोक लिया कि पांच वाली ट्रेन से जाना है, तब तक हम बातें करेंगे। उसी बस का एक्सीडेंट हो गया। राकेश ने बताया कि अगर बहन जिद नहीं करती तो वे सबसे आगे की सीट पर बैठे होते और उनकी जान भी खतरे में होती।

जामसर के पास हुई सड़़क दुर्घटना में मन्नीवाली की युवती की मौत, परिजन बीकानेर हुए रवाना

इस सड़क दुर्घटना में मन्नीवाली की सुमन पुत्री का. परमानंद यादव की मौत हो गई है। घटना की जानकारी मिलते ही सुमन के घर में कोहराम मच गया। सुमन का भाई अमन बीकानेर में रहता है। परीक्षा देने के बाद अमन अपनी बहन सुमन को मन्नीवाली जाने के लिए बीकानेर-श्रीगंगानगर बस में बैठाकर गया था। कुछ ही देर में उसकी बहन के मोबाइल से ही यह सूचना मिली। तीन बहन-भाइयों में सुमन सबसे बड़ी थी।

इन पांच युवतियों की हुई मौत, घायलों में कुछ अबोहर, सादुलशहर व सूरतगढ़ के

इस सड़क दुर्घटना में जस्सूसर गेट निवासी निरमा बिस्सा (45), श्रीगंगानगर निवासी शिल्पा (25) पुत्री बद्री, पूजा (22) पुत्री कालूराम कस्वां व अर्पिता और सादुलशहर के मन्नीवाली निवासी सुमन यादव की मौत हो गई जबकि अबोहर निवासी रमेश कुमार, सूरतगढ़ की रूपाली, अर्चना, मुकेश, गणेशगढ़ का परिचालक जगदेवसिंह, विजयनगर की कमला, भावेश, ढाई साल का भंवर, श्रीगंगानगर का मनमोहन कुमार, सतीश, नीलम, नरेंद्र कुमार, पुष्पा, भानू प्रताप, नरेंद्र, विजयनगर की ममता सारस्वत, पीलीबंगा की कृष्णा, राजाराम, हनुमानगढ़ का मनीष जिंदल, हैप्पी जिंदल, प्रियंका, हेतराम, पवन, सादुलशहर का संदीप, इंद्रजीत, लूणकरणसर का भंवरलाल, हिंदुमलकोट का महिपालसिंह, पीलीबंगा की रोहिता, सुनीता, श्योरान का रोहिताश्व, उमेश, आसिफ खान घायल हो गए।

अस्पताल में भर्ती घायल बोले-ओवर स्पीड थी बस

पीबीएम अस्पताल में भर्ती घायलों ने बताया कि दुर्घटना का जिम्मेदार रोडवेज बस का चालक मुंशीराम है। बस ओवर स्पीड थी और ड्राइवर मोबाइल पर बात कर रहा था। इसलिए वह सड़क से नीचे खड़े ट्रेलर को नहीं देख पाया और नजदीक पहुंचने पर बस नियंत्रित नहीं कर पाया। ट्रेलर को पीछे से टक्कर मार दी जिससे पांच जानें गईं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Suratgarh

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×