Hindi News »Rajasthan »Suratgarh» छात्राओं को आत्मरक्षा के तरीके सिखाने के बाद घरेलू व कामकाजी महिलाओं को सिखाए जाएंगे बचाव के तरीके

छात्राओं को आत्मरक्षा के तरीके सिखाने के बाद घरेलू व कामकाजी महिलाओं को सिखाए जाएंगे बचाव के तरीके

भास्कर संवाददाता| श्रीगंगानगर शहर की करीब पांच हजार छात्रों को आत्मरक्षा के तरीके सिखाने के बाद अब महिला...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 07, 2018, 06:30 AM IST

छात्राओं को आत्मरक्षा के तरीके सिखाने के बाद घरेलू व कामकाजी महिलाओं को सिखाए जाएंगे बचाव के तरीके
भास्कर संवाददाता| श्रीगंगानगर

शहर की करीब पांच हजार छात्रों को आत्मरक्षा के तरीके सिखाने के बाद अब महिला कांस्टेबल अन्य युवतियों को भी आत्मरक्षा का प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसकी शुरुआत 13 मई सुबह से ही कर दी जाएगी। इस अभियान की निगरानी कर रहे सीओ सिटी तुलसीदास पुरोहित ने बताया कि यह अभियान जिलेभर के गांवों में भी चलाया जाएगा। इसके लिए प्रत्येक थाने की गांव अनुसार सूची बनाने का काम थाना स्तर से शुरू करवाया गया है। सीओ पुरोहित के अनुसार दुर्गा मंदिर के निकट स्थित आदर्श पार्क में 13 मई सुबह 7 से 8 बजे तक शिविर लगाया जाकर इलाके की युवतियों को प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसके बाद हनुमानगढ़ रोड़ स्थित एक निजी कन्या महाविद्यालय में सुबह 9 से 10 बजे तक आत्म रक्षा के तरीके सिखाने को शिविर शुरू होगा। उल्लेखनीय है कि जिला पुलिस द्वारा करीब तीन माह से किशोरियों और युवतियों को आत्मरक्षा के तरीके सिखाने को विशेष शिविर स्कूलों और महाविद्यालयों में संचालित किए गए हैं। इसे अब पूरे जिले में लागू करने की योजना एसपी हरेंद्र कुमार ने बनाई है।

घरेलू व कामकाजी महिलाएं ले सकती है भाग

गर्ल्स कॉलेज के बाद अब घरेलू कामकाजी व जॉब करने वाली युवतियों व महिलाओं को इस चरण में शामिल किया गया है। सेल्फ डिफेंस की ट्रेनिंग दे रही महिला पुलिस की निर्मला कुमारी व भगवती ने बताया कि शहर के पार्क आदि में यह शिविर लगाए जाने प्रस्तावित किए गए हैं। जिससे नजदीक इलाके में रहने वाली कोई भी महिलाएं इस कैंप के लिए उनसे मिल सकती है। वहीं यदि कोई महिलाओं का कोई ग्रुप अथवा संस्था महिलाओं को एकत्रित कर शिविर लगाना चाहे तो उनसे भी सुझाव लिए जाएंगे।

एक हॉस्टल में छात्राओं को ट्रेनिंग देती महिला पुलिसकर्मी। (फाइल फोटो)

शहर के बाद गांवों में भी बेटियों को सिखाएंगे आत्मरक्षा

एसपी हरेंद्र कुमार ने बताया कि शहर में फिलहाल स्टूडेंट्स को ट्रेनिंग दिए जाने के बाद आम महिलाओं व युवतियों को प्रशिक्षण दिया जाएगा। शहर में यह चरण पूरा होने के बाद गांवों में कैंप लगाए जाएंगे। सीओ पुरोहित ने बताया कि सादुलशहर, पदमपुर, सूरतगढ़ आदि स्थानों से इसकी शुरुआत की जाएगी। उन्होंने बताया कि फिलहाल महिला पुलिस की दो कांस्टेबल को इस काम में लगाया गया है लेकिन प्रत्येक थाना स्तर पर दो-दो महिला कांस्टेबल को तैयार कर यह प्रशिक्षण दिलाया जाएगा। इसमें किशोरियों, युवतियों व महिलाओं को खुद पर हुए हमले से बचाव करने, सामने से वार कर हमलावर को घायल करने, शरारती प्रवृति के लोगों से निपटने का पूरा प्रशिक्षण देकर आत्म निर्भर बनाया जाएगा। इससे जिले की प्रत्येक बेटी और बहु आत्म सम्मान के साथ घर से बाहर अपनी पढ़ाई और कामकाज के लिए आ जा सकेगी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Suratgarh

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×