सूरतगढ़

  • Home
  • Rajasthan News
  • Suratgarh News
  • जिनके हक में हड़ताल, उन्हीं सब्जी उत्पादक किसानों को 6 दिन में बड़ा नुकसान
--Advertisement--

जिनके हक में हड़ताल, उन्हीं सब्जी उत्पादक किसानों को 6 दिन में बड़ा नुकसान

किसानों ने अब बाजार के बाहर से नाके हटाकर गांवों के बाहर लगाने की घोषणा की है। प्रत्येक सड़क पर आने वाले चार-पांच...

Danik Bhaskar

Jun 07, 2018, 06:35 AM IST
किसानों ने अब बाजार के बाहर से नाके हटाकर गांवों के बाहर लगाने की घोषणा की है। प्रत्येक सड़क पर आने वाले चार-पांच गांवों के लिए एक नाका तय किया गया है। यहां गुरुद्वारा सिंह सभा में बुधवार दोपहर को हुई बैठक में किसान नेताओं ने उन कार्यकर्ताओं की सराहना की, जिन्होंने नाकों पर रात-दिन एक कर बाजार की सप्लाई रोकी। किसान नेताओं ने कहा कि अब अबोहर एवं सूरतगढ़ मार्ग पर नाकाबंदी कर बाहर से आने वाली सब्जियों एवं दूध को रोका जाएगा। उधर सब्जी उत्पादक किसान समिति ने कहा है कि संगठन के किसान गंगानगर क्लब के सामने सब्जियों की अस्थाई दुकानें लगाएंगे।

प्रत्येक रोड के लगाए प्रभारी, कांग्रेस का समर्थन रहेगा बरकरार

बैठक में मिर्जेवाला पुल, 5 वाई, मोहनपुरा, कालियां, 4 एमएल नाकों सहित शहर के बाहर सड़कों पर चार-चार गांवों के नाका प्रभारियों की नियुक्ति की है। दस दिवसीय गांव बंद में कांग्रेस खुलकर समर्थन में उतरी। कांग्रेस के अनेक पदाधिकारियों ने खुद नाकाबंदी पर रात दिन एक किया। बुधवार को किसानों की सभा में जिलाध्यक्ष संतोष सहारण, पूर्व जिलाध्यक्ष पृथीपालसिंह संधू, जगदीश जांदू, शहर ब्लाॅक अध्यक्ष अंकुर मगलानी, ललित बहल और गंगानगर किसान समिति के संतवीर सिंह मोहनपुरा, हरजिंद्र बराड़, सत्यप्रकाश सिहाग, अमरसिंह, गुरचरण सिंह खोसा, कुलदीप खिलेरी आदि ने संबोधित किया। बैठक में अमरसिंह बिश्नोई, भानीराम शाक्य, राजकुमार सीगड़, संजय सीगड़, प्रमोद स्याग, दलीप कुमार सहित बड़ी संख्या में सब्जी उत्पादक थे।

मुकदमे का विरोध, वापस लेने की मांग पर हुई बैठक

दूध सप्लाई मजदूर संघ ने चेतावनी दी है कि अगर सुभाष स्वामी सहित अन्य लोगों के खिलाफ मुकदमा वापस नहीं लिया तो दूध यूनियन गिरफ्तारी देगी। यह निर्णय गत दिवस तीन पुली स्थित गुरुद्वारा साहिब बाबा बुड्ढा में हुई बैठक में लिया। बैठक में महेश पेड़ीवाल, कांग्रेस पूर्व जिलाध्यक्ष पृथीपालसिंह संधू, अमित चलाना, गंगानगर किसान समिति के रणजीत सिंह राजू, मनिंदर मान आदि ने मुकदमे की निंदा की। नवीन बिश्नोई, मनफूल राम नाथ, प्रेम गजरा आदि ने रोष प्रकट किया।

...और यहां शहर के लिए 2 राहतें

1. बाजार में 100 क्विंटल टमाटर, दाम 70 से गिरकर 20 रुपए पहुंचे : छह दिन से शहर के लोगों को सब्जियों के लिए इधर-उधर भटकना पड़ रहा था, इस पर बुधवार को विराम लग गया। बाजार में 1 जून को बहुत कम सब्जी आई। इसके अलावा शेष दिनों में सब्जियां बिलकुल नहीं आईं। बुधवार को सब्जी में 100 क्विंटल टमाटर, आलू 90 क्विंटल, प्याज 40 क्विंटल, भिंडी व नींबू 25-25 क्विंटल, आम 60 एवं तरबूज 70 क्विंटल आया। इसके अलावा बहुत कम मात्रा में खीरा, पपीता, लीची भी आई।

2. पंजाब में टूटी हड़ताल का भी हमें फायदा, अब वहां से भी यहां सप्लाई होने लगी सब्जियां :पंजाब में किसानों की हड़ताल बुधवार से पूरी तरह समाप्त हो गई है। बुधवार को पंजाब से थोड़ी मात्रा में सब्जियां आने से स्थानीय सब्जियों को लोगों ने कम तव्वजो दी। यहां गंगानगर क्लब के पास लगी सब्जियों की हाट में ग्राहकी कम देखने को मिली, क्योंकि मंडी क्षेत्र में पंजाब से काफी सब्जियां पहुंची। सब्जी उत्पादकों की हुई बैठक में अगले चार दिन सब्जी की हाट लगाने की बात दोहराई।

Click to listen..