Hindi News »Rajasthan »Suratgarh» एसओजी, श्रीगंगानगर व पंजाब पुलिस का एक टारगेट-गैंगस्टर अंकित भादू व संपत नेहरा को पकड़ो... अगर भागें तो एनकाउंटर में ही मार दो

एसओजी, श्रीगंगानगर व पंजाब पुलिस का एक टारगेट-गैंगस्टर अंकित भादू व संपत नेहरा को पकड़ो... अगर भागें तो एनकाउंटर में ही मार दो

भास्कर संवाददाता| श्रीगंगानगर पुरानी आबादी थाना के हिस्ट्रीशीटर विनोद श्योराण उर्फ जॉर्डन चौधरी (36) की हत्या के...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 25, 2018, 06:45 AM IST

एसओजी, श्रीगंगानगर व पंजाब पुलिस का एक टारगेट-गैंगस्टर अंकित भादू व संपत नेहरा को पकड़ो... अगर भागें तो एनकाउंटर में ही मार दो
भास्कर संवाददाता| श्रीगंगानगर

पुरानी आबादी थाना के हिस्ट्रीशीटर विनोद श्योराण उर्फ जॉर्डन चौधरी (36) की हत्या के आरोपी लॉरेंस बिश्नोई गैंग के गुर्गे अंकित भादू और संपत नेहरा को जिंदा या मुर्दा किसी भी स्थिति में पकड़ने के निर्देश जारी हो गए हैं। इसी के साथ आरोपियों को पकड़ने के लिए छापेमारी कर रही टीमें बुलेट प्रूफ जैकेट्स और भारी मात्रा में हथियार आदि लेकर निकल चुकी हैं। एसपी हरेंद्र महावर ने तीन अलग-अलग टीमें गठित की हुई हैं जो अपने तरीके से काम कर रही हैं। पहली टीम सूचना संग्रहण करने के लिए गठित है। दूसरी टीम छापेमारी कर संदिग्धों को पकड़ रही है। तीसरी टीम इनसे पूछताछ के लिए बनाई गई है। सभी टीमें एसपी के निर्देशन पर काम कर रही हैं। एसओजी के एएसपी संजीव भटनागर, पंजाब से आई ओकू टीम छापेमारी के लिए लिंक उपलब्ध करवा रही है। इसी आधार पर टीमों ने अब तक 40 से अधिक संदिग्धों से पूछताछ की है। कुछ आरोपियों को तीन दिन से राउंडअप किया हुअा है। एसओजी की टीम के कई अधिकारी गुरुवार शाम को जिला मुख्यालय पहुंच गए हैं जो इस वारदात के आरोपियों को पकड़ने में मदद करेंगे। इधर एसपी ने बुधवार शाम को और गुरुवार शाम को भी पुलिस लाइन में जांच में जुटी पूरी टीम के अधिकारियों से बैठक की और किए जा रहे काम की समीक्षा ही। हालांकि बता दें इतना कुछ होने के बावजूद अभी तक पुलिस के हाथ मुख्य आरोपी नहीं लगे हैं।

पुलिस सूत्रों से पता चला है कि मंगलवार की सुबह जॉर्डन की हत्या को आए अंकित भादू, संपत नेहरा व अन्य आरोपी सफेद रंग की कार में सवार होकर हनुमानगढ़ रूट की ओर से श्रीगंगानगर मेटालिका जिम पहुंचे थे। वारदात के बाद सभी आरोपी उसी कार पर सवार होकर वापस हनुमानगढ़ राेड से ही फरार होने में कामयाब हो गए। इससे पहले आरोपियों की मदद करने वाले स्थानीय लिंक को पुलिस अभी भी तलाश कर रही है। इसके लिए तीन विशेष टीमों ने गुरुवार को जॉर्डन के पुरानी आबादी स्थित आवास से मेटालिका जिम तक आने के सभी प्रमुख रास्तों का निरीक्षण किया। रास्तों में लगे कैमरों पर से फुटेज लिए गए हैं, जिनको विशेषज्ञ टीमें निरीक्षण कर रही हैं। एक टीम सुबह ही नेहरू पार्क भी पहुंची। यहां भ्रमण कर रहे लोगों से पूछताछ की और उनका मोबाइल नंबर व पते की जानकारी को दर्ज किया है। जॉर्डन इसी पार्क में रोज सुबह आता था। लोगों से जॉर्डन के पार्क में आने से लेकर जाने तक, किस बैंच पर बैठता था, क्या करता था, गाड़ी कहां रोकता था और कहां-कहां घूमता था, जैसी ही बारीक जानकारियों के बारे में सवाल पूछे।

वारदात की सुबह हनुमानगढ़ की आेर से आए थे आराेपी, उसी रास्ते वापस भागे

इन पर सख्ती...स्टूडेंट यूनियन एसयूपीयू पर लॉरेंस की गैंग का प्रभाव ज्यादा, इसलिए इस संगठन से जुड़े स्थानीय सदस्य पुलिस के निशाने पर

पंजाब व चंडीगढ़ क्षेत्र में स्टूडेंट यूनियन ऑफ पंजाब यूनिवर्सिटी से अनेक युवा जुड़े हुए हैं। इनके चुनावों व सदस्यता को लेकर गुटबाजी हावी है। इसमें गैंगस्टर लारेंस बिश्नोई की गैंग का काफी प्रभाव है। अंकित भादू आैर संपत नेहरा भी इसी संगठन के जरिए लॉरेंस से जुड़े थे। संगठन के अपराधिक गतिविधियों में संलिप्त सदस्यों को पकड़ने के लिए जिला पुलिस ताकत लगा रही है। लॉरेंस और उसके गुर्गे पंजाब पुलिस के भी निशाने पर हैं। इसलिए पंजाब की ओकू टीम के पास आरोपियों से संबंधित जानकारियों को सीआई विक्रमजीत बराड़ साझा कर श्रीगंगानगर पुलिस को लीड दे रहे हैं। बुधवार से लेकर गुरुवार तक एएसपी सुरेंद्रसिंह राठौड़, पुरानी आबादी थाना प्रभारी, सादुलशहर थाना प्रभारी, सूरतगढ़ सदर और घमूड़वाली थाना प्रभारी के नेतृत्व में टीमों ने 10 से अधिक जगह छापेमारी की है।

सोशल मीडिया पर अफवाह...नोहर-भादरा में नेहरा व भादू के एनकाउंटर की चर्चा

इधर आरोपी अंकित भादू और संपत नेहरा का नोहर व भादरा क्षेत्र में राजस्थान पुलिस द्वारा एनकाउंटर किए जाने की खबर सोशल मीडिया पर दिनभर चलती रही। सोशल मीडिया पर चल रही इस सूचना की पुष्टि काे जिलेभर के लोग सक्रिय रहे। लोगों ने जिला पुलिस के साथ ही मीडियाकर्मियों से इस खबर की जानकारी लेने के प्रयास किए। हालांकि एसपी ने इस खबर को अफवाह बताकर सारी आशंकाओं को विराम लगा दिया। आईजी बिपिन पांडे ने पूरे बीकानेर संभाग पुलिस को अंकित भादू अौर संपत नेहरा को जिंदा या मुर्दा पकड़ने के लिए एक्शन मोड पर रहकर जानकारियां जुटाने के निर्देश दिए हैं। यह भी कहा है कि श्रीगंगानगर पुलिस की ओर से मांगी जाने वाली मदद को तत्काल उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Suratgarh

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×