सूरतगढ़

  • Hindi News
  • Rajasthan News
  • Suratgarh News
  • किसानों ने नाके लगा रोकी दूध-सब्जी की सप्लाई जो लाए, उसे जब्त कर गुरुद्वारों-अस्पतालों में भेजा
--Advertisement--

किसानों ने नाके लगा रोकी दूध-सब्जी की सप्लाई जो लाए, उसे जब्त कर गुरुद्वारों-अस्पतालों में भेजा

बाईपास पर खुद स्टाॅल लगा बेचा अपना माल श्रीगंगानगर| स्वामीनाथन रिपोर्ट की सिफारिशें लागू करने और संपूर्ण...

Dainik Bhaskar

Jun 02, 2018, 06:45 AM IST
किसानों ने नाके लगा रोकी दूध-सब्जी की सप्लाई जो लाए, उसे जब्त कर गुरुद्वारों-अस्पतालों में भेजा
बाईपास पर खुद स्टाॅल लगा बेचा अपना माल

श्रीगंगानगर| स्वामीनाथन रिपोर्ट की सिफारिशें लागू करने और संपूर्ण कर्जा माफी की मांग पर शुक्रवार से शुरू हुए किसानों के गांव बंद आंदोलन का पहले दिन किसानाें द्वारा लगाए नाकों पर अच्छा असर दिखा। हालांकि शहर में हालात सामान्य रहे क्योंकि व्यापारियों के पास सब्जी आदि का स्टॉक मौजूद था। शहर में आने के सभी आठों प्रवेश द्वारों पर किसानों ने रात 12 बजे से ही पहरेदारी शुरू कर दी। हर रोज शहर में जहां 25 से अधिक ट्रक फल-सब्जी मंडी में आते हैं, शुक्रवार सुबह 4 बजे तक महज 5 ट्रक ही पहुंचे। इसके बाद एक भी दूध अथवा सब्जी के वाहन को किसानों ने शहर में प्रवेश नहीं करने दिया। किसानों ने खुद अपनी सब्जी व दूध को स्टॉल लगाकर बेचा।

1. सूरतगढ़ रोड बाइपास...

सुबह 7:15 बजे यहां करीब दो सौ किसान दूध-सब्जी लेकर शहर में घुस रहे लोगों को कांग्रेस के जगदीशराय जांदू, पृथीपाल संधू, मनिंदर मान सहित अन्य किसान संगठनों ने रोका और उन्हें शहर में नहीं घुसने दिया। दूध-सब्जी जब्त कर सरकारी अस्पताल, अन्नपूर्णा रसोई व गुरुद्वारों में भिजवा दिया। सरस छाछ को किसानों ने पी लिया।

2. हनुमानगढ़ रोड गंगनहर पुल

सुबह 8:30 बजे करीब किसानों ने कैरी भरी पिकअप काे रोक लिया। किसान दल अध्यक्ष रघुवीर ताखर व किसानों ने दूध-सब्जी को गुरुद्वारों में भिजवाया। विनोद झटवाल, बंतासिंह, लाभसिंह, कृष्णलाल, परमिंदरसिंह आदि मौजूद रहे।

3. एसएसबी पुल

सुबह 9:30 बजे दूध यूनियन प्रधान सुभाष स्वामी, गुरुद्वारा सिंहसभा के गुरविंदरसिंह, नंदकिशोर, बलजिंद्रसिंह, भरपूरसिंह आदि किसानों ने शहर को हो रही सप्लाई ठप की। लंगर पानी की व्यवस्था गुरुद्वारा सिंह सभा ने की। रजत स्वामी व मोहन सोनी ने बताया कि शाम को दो दूधिए जिद से शहर में दूध लेकर जा रहे थे जिन्हें जबरन रोका।

4. कालूवाला हैड

यहां 11 बजे तक किसानों ने दो टेंपो सब्जी, डेढ़ क्विंटल दूध जब्त कर सरकारी अस्पताल व गुरुद्वारा सिंह सभा में भेजा। किसानों के अनुसार यह शहर में घुसने का चोर रास्ता है, जहां पहरेदारी जरुरी थी। किसान विजयपाल, जसकरणसिंह, हरकेवलसिंह, देवकरण नायक व साहबराम गोदारा, सुशील बिश्नोई आदि किसान तैनात रहे।

5. साधुवाली

दोपहर 12 बजे यहां सब्जी की 10 दुकानें सजी थीं। प्रत्येक स्टॉल पर शहरवासियों की भीड़ भी अच्छी थी। सुखदेवसिंह घोड़ीवाल, एडवोकेट दलबारासिंह सहित अन्य किसानों और किसान नेताओं ने एक भी दूध या सब्जी की गाड़ी को शहर में प्रवेश ही नहीं करने दिया। सरकार विरोधी नारेबाजी कर जायज मांगे मानने की अपील की।

6. पदमपुर बाइपास

यहां सुबह चार बजे पहुंचे गुरदीपसिंह, हरभजनसिंह, अमृतपाल आदि किसानों ने नाकाबंदी शुरू कर फल-सब्जी व दूध लेकर आ रहे वाहनों को रोका। केले भरा टेंपो आया तो उसे रोककर वहीं खाली करवा दिया। दूध बेचने के लिए आए कई दूधिए किसानों को देख अपने मोटर साइकिल दूर से ही वापस ले गए। टैंट लगा दिनभर डटे रहे।

7. मिर्जेवाला रेलवे फाटक

श्रीकरणपुर की ओर से आलू बेचने आए किसान को रोक आलू गुरुद्वारे में दान करवाए। दोधी से दूध भी धार्मिक स्थलों पर भिजवाया। यहां भी दिनभर किसान टैंट लगाकर बैठे रहे। हरविंद्र सिंह, राकेश भांभू, बलवंत बिश्नोई, अवतार सिंह, हरविंद्र सिंह, मनजिंद्र सिंह, गुरजीत सिंह निर्भय सिंह सहित बड़ी संख्या में किसान मौजूद रहे।

8. तीन पुली

तीन पुली पर किसानों ने बीती रात 12 बजे के बाद नाकाबंदी शुरू कर दी। कालियां रोड पर स्टॉलें लगाकर सब्जी बेची। दोधियों से दूध मंदिर व गुरुद्वारे में दान करवाया। सब्जी खरीदने वाले किसानों की शाम को यहां भीड़ लगी। यहां पर दिनभर संतवीर सिंह, राधेश्याम बिश्नोई, रणजीत सिंह राजू सहित बड़ी संख्या में किसान उपस्थित रहे।

X
किसानों ने नाके लगा रोकी दूध-सब्जी की सप्लाई जो लाए, उसे जब्त कर गुरुद्वारों-अस्पतालों में भेजा
Click to listen..