सूरतगढ़

--Advertisement--

तनाव मुिक्त को सुबह सुदर्शन किया, शाम को सूफी भजन संध्या

भास्कर संवाददाता| श्रीगंगानगर भजन गायक शुभमसिंह ने श्रीगंगानगर में रविवार की शाम को सुहाना बना दिया। सूरतगढ़...

Dainik Bhaskar

May 14, 2018, 06:50 AM IST
तनाव मुिक्त को सुबह सुदर्शन किया, शाम को सूफी भजन संध्या
भास्कर संवाददाता| श्रीगंगानगर

भजन गायक शुभमसिंह ने श्रीगंगानगर में रविवार की शाम को सुहाना बना दिया। सूरतगढ़ मार्ग स्थित एक पैलेस में उन्होंने एक से बढ़कर एक मधुर भजन और पुराने नगमे सुनाए। यहां आर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक श्रीश्री रविशंकर के 62वें जन्मदिवस के उपलक्ष्य में भजन संध्या का आयोजन किया गया था। इसमें शुभम ने अपनी आवाज की बदौलत युवाओं के दिल में जगह बनाई। बॉलीवुड और सूफी गीतों को प्रस्तुत कर उन्होंने समां बांधे रखा। कार्यक्रम की शुरुआत में गणेश वंदना व श्रीश्री रविशंकर की प्रतिमा पर फूल मालाएं पहनाई गई। उन्होंने सबसे पहले अछुतम केशवम कृष्ण दामोदरम..., दमादम मस्त कलंदर अली दम दम दे अंदर..., नित खैर मंगा सौनेया मैं तैरी दुआ ना कोई होर मंग्दा... जैसे स्वर पेश किए। इसके बाद उन्होंने कबीर के सूफी भजनों की प्रस्तुतियां दी।

श्रीश्री रविशंकर के जन्मदिवस पर आयोजित कार्यक्रम में बताई योग की महता

साधकों को महासुदर्शन क्रिया में लोगों को योग, प्राणायाम व ध्यान करवाया

गुरुद्वारा नानक दरबार में महान कीर्तन समागम आज

श्रीगंगानगर| गुरुनानक देव के 550वें साला गुरुपर्व को समर्पित गुरुमत समागम सोमवार को जी ब्लाक स्थित गुरुद्वारा नानक दरबार में होगा। सेवादार मंदीप सिंह ने बताया कि इसकी तैयारियों के लिए समिति की बैठक हुई। समागम रात 8 से 10 बजे तक होगा। इसमें दरबार साहिब श्रीअमृतसर से आए हजूरी रागी भाई जगतार सिंह कथा कीर्तन करके संगत को निहाल करेंगे। इनके साथ भाई संतोख सिंह पटना साहिब वाले व भाई दलीप सिंह धूरी कथा कीर्तन करके संगत को निहाल करेंगे। इसके बाद गुरु का अटूट लंगर बरताया जाएगा। बैठक में गुरबचन सिंह वासन, गुरुचरण सिंह अलख, गुरदयाल सिंह, अमृतपाल सिंह, इकबाल सिंह, जसपाल सिंह, गुरदीप सिंह समेत बड़ी संख्या श्रद्धालू मौजूद थे।

श्रीनवगृह शनि मंदिर में कल भरेगा मेला: पुरानी आबादी स्थित सिद्धपीठ श्री नवगृह शनिमंदिर धाम में शनि जयंती के उपलक्ष्य में शनिवार से उत्सव शुरू हुआ। पंडित ओमप्रकाश भार्गव, गोविंद भार्गव के नेतृत्व में विधि विधान से पूजा अर्चना करके मंदिर का 18वां धार्मिक उत्सव शुरू हुआ। आयोजकों ने बताया कि चार दिवसीय यह उत्सव 16 मई को समाप्त होगा। शनि जयंती के मौके पर मंगलवार को मेला भरेगा और इसमें बड़ी संख्या में श्रद्धालु शामिल होंगे।

भजन संध्या से पूर्व श्रीश्री रविशंकर के जन्मदिवस के उपलक्ष्य में सुबह इसी पैलेस में साधकों को महासुदर्शन क्रिया करवाई गई। संजय सिंगल व पवन अग्रवाल ने बताया कि सुदर्शन क्रिया व्यक्ति को तनाव से बाहर निकालती है। इसमें लोगों को योग, प्राणायाम व ध्यान क्रियाएं कराई गई। वहीं मदर्स डे भी मनाया गया। सुदर्शन क्रिया प्रशिक्षक विनोद गोयल, अंजू अग्रवाल, मीतू शर्मा, शरद कामरा, सोनाली मित्तल, रोहित मित्तल, आदि ने करवाई।

तनाव मुिक्त को सुबह सुदर्शन किया, शाम को सूफी भजन संध्या
X
तनाव मुिक्त को सुबह सुदर्शन किया, शाम को सूफी भजन संध्या
तनाव मुिक्त को सुबह सुदर्शन किया, शाम को सूफी भजन संध्या
Click to listen..