• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Suratgarh News
  • संघर स्कूल के प्रधानाध्यापक पर छेड़छाड़ का आरोप, 30 छात्राओं ने कटवाई टीसी
--Advertisement--

संघर स्कूल के प्रधानाध्यापक पर छेड़छाड़ का आरोप, 30 छात्राओं ने कटवाई टीसी

संघर के राजकीय उच्च प्राथमिक बालिका विद्यालय में प्रधानाध्यापक मोटाराम गोदारा द्वारा छात्राओं से छेड़छाड़ करने...

Dainik Bhaskar

Jul 12, 2018, 06:55 AM IST
संघर के राजकीय उच्च प्राथमिक बालिका विद्यालय में प्रधानाध्यापक मोटाराम गोदारा द्वारा छात्राओं से छेड़छाड़ करने का गंभीर मामला सामने आया है। अभिभावकों ने इस संबंध में प्रशासन को शिकायत की है। यह मामला पुलिस थाना भी पहुंच गया। सूरतगढ़ सदर पुलिस मामले की जांच कर रही है। इस बीच 30 छात्राओं के अभिभावकों ने स्कूल से स्थानांतरण प्रमाण-पत्र (टीसी) प्राप्त कर सरकारी सीनियर सेकंडरी स्कूल में दाखिला करवा दिया। इनमें अधिकांश छात्राएं कक्षा 6 से 8 में अध्ययनरत हैं। कक्षा 6 व 7 वीं कक्षा के छात्राओं के साथ छेड़छाड़ की शिकायत मामला परिजनों तक पहुंचा। इस पर कुछ छात्राओं के अभिभावकों ने सूरतगढ़ सदर थाना में सोमवार को शिकायत दर्ज करवाई थी। जिसकी जांच सदर थाना पुलिस कर रही है। सदर थाना के एएसआई शिवलाल मीणा ने बताया की संघर स्कूल के एक शिक्षक की शिकायत आई है। शिकायत के अनुसार 6 व 7 वीं कक्षा के छात्राओं से शिक्षक मोटाराम गोदारा ने अश्लील हरकतें की। पुलिस मामले की जांच कर रही है। लेकिन ग्रामीणों ने अपने स्तर पर शिक्षक को स्कूल में नहीं पहुंचने की चेतावनी देते हुए आपसी राजीनामा कर लिया। इस घटना के बाद प्रधानाध्यापक दो दिन से स्कूल में नहीं आ रहा। दूसरी ओर अभिभावकों का स्कूल की व्यवस्थाओं से विश्वास उठ गया। गुस्साए अभिभावकों ने बुधवार को 30 छात्राओं की टीसी कटवाकर गांव के सीनियर सेकंडरी स्कूल में एडमिशन करवा दिए। जानकारी मिली है कि बालिका स्कूल में लगभग 120 छात्राएं है। जिसमें से 30 छात्राएं बुधवार को टीसी कटवाकर इस स्कूल में चली गईं।

परिजनों ने प्रशासन और पुलिस को की शिकायत, सूरतगढ़ सदर पुलिस ने की जांच शुरू, स्कूल में 120 छात्राएं

सरपंच बोले- शर्मनाक हरकत से अभिभावक चिंतित

ग्राम पंचायत संघर के सरपंच भजनलाल जलंधरा ने बताया की मामला गंभीर है। बच्चियों के माता पिता ने शिक्षा विभाग व प्रशासन से प्रधानाध्यापक के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है। प्रधानाध्यापक को स्कूल आने से रोक दिया है। एक शिक्षक की शर्मनाक हरकत के बाद अभिभावक चिंतित हैं। बेटियों की सुरक्षा के लिहाज से स्कूल से टीसी कटवाकर दूसरे स्कूल में दाखिला दिलवा रहे हैं।

मामले की जांच कराएंगे : डीईओ


इधर... गांव मांझूवास सरकारी स्कूल के व्याख्याता और शिक्षा अधिकारियों का विवाद अब कोर्ट पहुंचा, इस्तगासा पेश किया

मांझूवास| मांझूवास के सरकारी स्कूल में नियुक्त पूर्व व्याख्याता और शिक्षा अधिकारियों का आपसी विवाद कोर्ट पहुंच गया है। पीड़ित व्याख्याता की ओर से पदमपुर एसीजेएम न्यायालय में इस्तगासा पेश किया गया है। न्यायालय ने इस मामले की अगली सुनवाई एक अगस्त को रखी है। पीड़ित व्याख्याता संजय शर्मा ने इस्तगासा में आरोप लगाए हैं कि उसको चुनाव पर्यवेक्षक की डयूटी के दौरान प्रधानाचार्य रघुवीरसिंह गेदर ने विधि के विरुद्ध जाकर जानबूझकर प्रताड़ित किया। तत्कालीन जिला शिक्षा अधिकारी तेजासिंह के साथ मिलकर शिक्षा निदेशक को गुमराह कर पीड़ित को एपीओ करवा दिया। पीड़ित की शिकायत पर निदेशक की ओर से आरोपी प्रधानाचार्य के खिलाफ विभागीय जांच भी चल रही है। पदमपुर न्यायालय ने पीड़ित के परिवाद पर सीआरपीसी की धारा 200 के तहत मामला दर्ज कर अगली सुनवाई एक अगस्त को तय की है।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..