--Advertisement--

लोगों की मांग+समय =बदला कॉमेडी का फ्लेवर

आज काॅमेडी का फ्लेवर लोगों की पसंद के अनुसार बदल रहा है। कॉमेडी शो हो या फिल्मों में होने वाली कॉमेडी, आज इसमें हो...

Dainik Bhaskar

Jul 23, 2018, 07:00 AM IST
लोगों की मांग+समय 
 =बदला कॉमेडी का फ्लेवर
आज काॅमेडी का फ्लेवर लोगों की पसंद के अनुसार बदल रहा है। कॉमेडी शो हो या फिल्मों में होने वाली कॉमेडी, आज इसमें हो रहा बदलाव पब्लिक की डिमांड के अनुसार है। इसलिए लोगों को चाहिए कि वह अपनी वह अपनी पसंद को बदले। अगर वह साफ सुथरी कॉमेडी चाहते हैं तो उन्हें अपनी पसंद भी बदलनी होगी। यह बात शनिवार को राष्ट्रीय कला मंदिर में आयोजित कॉमेडी शो में हास्य कलाकारों की कही।

रेत के धोरे, हरियाली,पुरानी हवेलियां सब यहां इसलिए पॉलीवुड-बॉलीवुड की पसंद श्रीगंगानगर

1 साल में 15 से ज्यादा फिल्मों व एलबम की हो चुकी है शूटिंग

पंजाबी व राजस्थानी फिल्मों के साथ ही बॉलीवुड के बड़े प्रोडक्शन हाउस को भी अपनी फिल्मों की शूटिंग के लिए श्रीगंगानगर की लोकेशंस पसंद आ रही है। पिंजर के बाद अब जाने-माने फिल्म डायरेक्टर राजकुमार संतोषी ने बॉलीवुड स्टार रणदीप हुड्डा के साथ एक महीने तक श्रीगंगानगर में अपनी फिल्म “बैटल ऑफ सारागढ़ी’ की शूटिंग की। इसमें उन्होंने हिंदुमलकोट, मोहनपुरा, श्रीकरणपुर व केसरीसिंहपुर के आसपास की लोकेशन पर फिल्म के विभिन्न सीन शूट किए। सूत्रों के अनुसार आने वाले दिनों में राजकुमार संतोषी बॉलीवुड स्टार सन्नी देओल के साथ शहर में फिल्म फतेह सिंह की भी शूटिंग कर सकते हैं।

निंजा और गुरदास मान तक फिल्मा चुके हैं फिल्में

सादुलशहर व भादरा में पंजाबी गायककार गुरदास मान ने फिल्म ननकाना की शूटिंग की थी। रंगमहल में जेजी बी ने अपने गाने की शूटिंग की थी। 28 पीबीएन में पंजाबी गायक अमरिंद्र गिल ने पंजाबी फिल्म अंग्रेज की शूटिंग की थी। निंजा की फिल्म चन्ना मेरया की शूटिंग यहीं खालसा कॉलेज और मोहनपुरा इलाके में हुई थी। राजस्थानी फिल्म तावड़ो, निक्का जेलदार, लाहौरिया, अंग्रेज सहित 15 से ज्यादा फिल्मों व एलबम की शूटिंग जिले में हो चुकी है। अब अभिनेता गगन कोकरी की फिल्म लाटू की शूटिंग मौहलां इलाके में चल रही है।

इस पेज के बारे में अपनी राय हमें 8318280602 पर वॉट्‌सएप भी कर सकते हैं। कार्यक्रमों की सूचना भी इसी नंबर पर दे सकते हैं।

आशीष तिवारी

दिल्ली के आशीष तिवारी का कहना है कि एक सामान्य व्यक्ति हो या गैंगस्टर। वह कभी न कभी हंसता है और हंसी मजाक हर किसी के जीवन का हिस्सा होता है। इसलिए कॉमेडी हर किसी को पसंद आती है और लोग इसे सुनते हैं। यही कारण है कि टीवी शो हो या फिर फिल्में, सभी में इसे शामिल किया जाता है।

श्याम रंगीला

श्रीगंगानगर में हिंदी व पंजाबी िफल्मों की शूटिंग। खास बात है कि पिछले माह बॉलीवुड के डायरेक्टर राजकुमार संतोषी के अपनी फिल्म की यहां शूटिंग की।

यह 4 खासियत

बॉर्डर बना टूरिस्ट प्लेस

हमारे जिले में हिंदुमलकोट बॉर्डर के लिए जल्दी विजिट परमिशन मिल जाती है। यहां आसानी से शूटिंग करके बाॅर्डर का माहौल दिखाया जा सकता है। बीएसएफ ने भी इस बाॅर्डर को टूरिस्ट प्लेस के तौर पर विकसित किया है।

राजस्थानी व पंजाबी कल्चर

सूरतगढ़ के टिब्बा क्षेत्र में रेगिस्तान और यहां बने मकानों से पूरा राजस्थानी माहौल दिखाया जा सकता है। रंगमहल और 28 पीबीएन में कई राजस्थानी व पंजाबी फिल्मों की शूटिंग हुई है।

पाक माहौल का अहसास

श्रीगंगानगर जिले के चकमहाराजका, केसरीसिंहपुर, श्रीकरणपुर के गांवों में कई लोकेशन ऐसी हैं जो पाकिस्तानी माहौल का अहसास कराती हैं। इसलिए भारत-पाक पर आधारित फिल्में भी यहां शूट की जा सकती हैं।

हवेलियां व घर पुराने

शहर के नजदीक मोहनपुरा व इसके आसपास के गांवों में आज भी पंजाबी माहौल से जुड़ी लोकेशन हैं, जो फिल्म निर्माताओं को पसंद आती हैं। यहां पंजाबी कल्चर को दिखाती हुई पुरानी हवेलियां, कुएं, सरसों के खेतों जैसी लोकेशन मौजूद हैं।

सौरभ

कानपुर के सौरभ ने बताया कि आज कॉमेडी में डबल मीनिंग बातों का खुलकर इस्तेमाल किया जाता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि ऑडियंस इसे ही पसंद करती है। सामान्य कॉमेडी उन्हें पसंद ही नहीं आती है और ऐसा करने वाले कलाकार को वह उतना महत्व भी नहीं देते। मांग के अनुसार आज कॉमेडी का स्वरूप बदलता जा रहा है।

लोगों की मांग+समय 
 =बदला कॉमेडी का फ्लेवर
X
लोगों की मांग+समय 
 =बदला कॉमेडी का फ्लेवर
लोगों की मांग+समय 
 =बदला कॉमेडी का फ्लेवर
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..