Hindi News »Rajasthan »Suratgarh» जल संसाधन विभाग का यूडीसी खाला बनाने की एवज में दो हजार रुपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार

जल संसाधन विभाग का यूडीसी खाला बनाने की एवज में दो हजार रुपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार

स्थानीय सूत्रों के अनुसार पूर्व में किसान संघ के एक नेता की शिकायत पर यूडीसी महेंद्र सिंह का छतरगढ़ स्थानांतरण...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 18, 2018, 07:05 AM IST

जल संसाधन विभाग का यूडीसी खाला बनाने की एवज में दो हजार रुपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार
स्थानीय सूत्रों के अनुसार पूर्व में किसान संघ के एक नेता की शिकायत पर यूडीसी महेंद्र सिंह का छतरगढ़ स्थानांतरण हुआ था, लेकिन स्थानांतरण आदेश में यूडीसी महेंद्र सिंह के स्थान पर महेंद्र कुमार लिखा होने व जनप्रतिनिधियों द्वारा सिफारिश कराए जाने के बाद ट्रांसफर ऑर्डर निरस्त कराने की भी चर्चाएं सामने आईं।

एसीबी एएसपी राजेंद्र ढिढारिया ने बताया कि सूरतगढ़ 242 आरसीपी ताल कॉलोनी यूडीसी महेंद्र सिंह अपने पिता दीप सिंह के स्थान पर अनुकंपित नौकरी कर रहा था। महेंद्र सिंह के पिता सिंचाई विभाग में वर्कचार्ज कर्मचारी थे, उनके देहांत के बाद महेंद्र सिंह ने करीब 20 वर्ष पूर्व नौकरी प्राप्त की थी।

श्रीविजयनगर में कार्यरत आरोपी ने पहले पांच हजार रुपए मांगे थे, पीड़ित की आर्थिक हालत देखकर कम लेने को हुआ तैयार

श्रीगंगानगर/श्रीविजयनगर| एसीबी श्रीगंगानगर की टीम ने जिले के श्रीविजयनगर क्षेत्र में कार्रवाई करते हुए जल संसाधन विभाग के यूडीसी को दो हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। कार्रवाई की सूचना लगते ही विभाग में हड़कंप मच गया। एसीबी एएसपी राजेंद्र ढिढारिया के अनुसार जिले के रामसिंहपुर क्षेत्र के गांव गोमावाली निवासी परिवादी मोहनलाल पुत्र जमनाराम ने गत दिनों विभाग को शिकायत कर बताया कि परिवादी की भूमि में बना सिंचाई खाला पड़ोसी काश्तकार ने तोड़ दिया। इसकी रिपोर्ट पुलिस थाना में भी की गई। खाला टूटने से परिवादी सिंचाई सुविधा से वंचित हो रहा था। पिछली बारी का पानी उसके खेत में नहीं लगा। पीड़ित ने इस संबंध में सिंचाई विभाग द्वारा खाला बनवाने के लिए अनूपगढ़ खंड प्रथम के श्रीविजयनगर इलाके के अधिशासी अभियंता जल संसाधन विभाग के यूडीसी महेंद्र सिंह (43) पुत्र दीपसिंह से संपर्क किया तो उसने पांच हजार रुपए रिश्वत की मांग की।

आरोपी ने पहली मुलाकात में ही 600 रुपए ले लिए। इसके बाद विभाग ने सोमवार को शिकायत का सत्यापन कराया तो आरोपी ने पांच सौ रुपए फिर ले लिए। इसके बाद मंगलवार को मोहनलाल की हालत देखते हुए शेष तीन हजार 900 रुपए के स्थान पर दो हजार रुपए में ही काम करने की हां की तो मोहनलाल ने यूडीसी महेंद्र सिंह को दो हजार रुपए पकड़ाते हुए टीम को इशारा कर दिया। तभी टीम ने मौके पर दबिश देकर आरोपी यूडीसी को रिश्वत राशि सहित गिरफ्तार कर लिया। टीम ने यूडीसी के हाथ धुलाए तो नोटों पर लगा हुआ रंग उतर गया। गौरतलब है कि इससे पहले श्रीगंगानगर टीम ने 13 जुलाई को सादुलशहर के पन्नीवाली ग्राम पंचायत में कार्रवाई करते हुए ग्राम सचिव सुखपालसिंह को तीन हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया था।

भास्कर पड़ताल

छतरगढ़ हुआ था तबादला, लेकिन सिफारिश से निरस्त कराया आदेश

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Suratgarh

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×