Hindi News »Rajasthan »Suratgarh» 13 साल की किशोरी को पड़ोसन गुजरात ले गई, फिर हावड़ा में बेच दिया वहां उससे दुष्कर्म, अब डेढ़ माह की गर्भवती...भागकर श्रीगंगानगर पहुंची

13 साल की किशोरी को पड़ोसन गुजरात ले गई, फिर हावड़ा में बेच दिया वहां उससे दुष्कर्म, अब डेढ़ माह की गर्भवती...भागकर श्रीगंगानगर पहुंची

भास्कर संवाददाता|श्रीगंगानगर एक अप्रैल की रात करीब 10:30 बजे एक लड़की रामसिंहपुर स्टेशन पर डरी-सहमी सी दुबकी बैठी...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 26, 2018, 07:10 AM IST

13 साल की किशोरी को पड़ोसन गुजरात ले गई, फिर हावड़ा में बेच दिया वहां उससे दुष्कर्म, अब डेढ़ माह की गर्भवती...भागकर श्रीगंगानगर पहुंची
भास्कर संवाददाता|श्रीगंगानगर

एक अप्रैल की रात करीब 10:30 बजे एक लड़की रामसिंहपुर स्टेशन पर डरी-सहमी सी दुबकी बैठी थी। सूरतगढ़ से होकर अनूपगढ़ जा रही ट्रेन रवाना होने के थोड़ी देर बाद ही स्टेशन पर सन्नाटा पसर गया। लाइटों की धुंधली रोशनी में स्टेशन मास्टर को यह लड़की दूर से दिखाई दी। वे लड़की के पास पहुंचे तो फटे हुए कपड़े, उलझे हुए बाल और चेहरे पर डर और आशंकाओं की असंख्य लकीरें दिखीं। देखने से ही लग गया था कि लड़की उत्तरप्रदेश अथवा बिहार मूल की है।

स्टेशन पर दुबकने का कारण पूछा तो पता चला कि ट्रेन पर लखनऊ से भागकर आई है। लड़की के बारे में स्टेशन मास्टर ने चाइल्ड लाइन को सूचना दी। जिला समन्वयक त्रिलोक वर्मा ने रात को ही जीआरपी को सूचना दी। रातभर बच्ची को रामसिंहपुर पुलिस स्टेशन रखा गया। सुबह ही जीआरपी लड़की को लेकर श्रीगंगानगर स्थित बाल कल्याण समिति के सामने पेश हुई। अध्यक्ष एडवोकेट लक्ष्मीकांत सैनी, सदस्य जगदीश चंदेल, प्रदीप धेरड़ और प्रभा शर्मा ने काउंसलिंग की और मेडिकल करवाने के आदेश दिए। मेडिकल ज्यूरिस्ट बोर्ड ने हाल ही दी रिपोर्ट में बताया है कि लड़की 13 साल की किशोरी है और करीब डेढ़ माह की गर्भवती है। किशोरी को रहने के लिए फतूही स्थित आश्रम मे भिजवाया गया। अब किशोरी की इच्छा पर उसे उसके घर लखनऊ भिजवाने के प्रयास किए जा रहे हैं।

मां की मौत, पिता का जो पता बताया, वहां कोई नहीं मिला, अब लखनऊ बाल समिति के पास भेजा

हाथ पर लिखा है- ‘ये प्रेम तिवाड़ी की प|ी है’, एक बड़े घर में एक साल तक नौकरानी भी बनकर रही, वहीं से भागी

किशोरी जब बरामद हुई थी तब उसकी हालत बहुत दयनीय थी। तपोवन चाइल्ड लाइन संरक्षक महेश पेड़ीवाल ने किशोरी को कपड़े दिलाए और परिवार के बारे में काउंसलिंग की। किशोरी ने बाल कल्याण समिति को बताया कि उसका परिवार लखनऊ में चार बाग स्टेशन के पास है। मां की कई साल पहले मौत हो गई थी और पिता के साथ ही रहती थी। करीब सवा साल पहले वहीं रहने वाली सीमा नाम की लड़की उसको बहलाकर अपने साथ गुजरात ले गई। वहां चार दिन रही और प्रेमकुमार तिवाड़ी नाम के आदमी के साथ हावड़ा भेज दिया। आरोपी ने पीड़िता के साथ दुष्कर्म किया। इसके बाद वह उसे वापस गुजरात छोड़ गया। गुजरात में वह किसी बड़े से मकान में नौकरानी रखवा दी गई। इस मकान में एक साल तक रही और फिर एक दिन मौका पाकर ट्रेन से घर जाने को भाग निकली। चाइल्ड लाइन शुक्रवार रात को किशोरी को लखनऊ स्थित किशोर गृह छोड़ने गई है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Suratgarh

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×