• Hindi News
  • Rajasthan
  • Suratgarh
  • एसीटीओ ने 20 साल पहले कराया था मारपीट और राजकार्य में बाधा का केस, बरी हुए 3 व्यापारी नेता

एसीटीओ ने 20 साल पहले कराया था मारपीट और राजकार्य में बाधा का केस, बरी हुए 3 व्यापारी नेता / एसीटीओ ने 20 साल पहले कराया था मारपीट और राजकार्य में बाधा का केस, बरी हुए 3 व्यापारी नेता

Suratgarh News - भास्कर संवाददाता|श्रीगंगानगर 20 साल पुराने राजकार्य में बाधा, सरकारी गाड़ी को नुकसान पहुंचाने, मारपीट और निजता...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2018, 07:10 AM IST
एसीटीओ ने 20 साल पहले कराया था मारपीट और राजकार्य में बाधा का केस, बरी हुए 3 व्यापारी नेता
भास्कर संवाददाता|श्रीगंगानगर

20 साल पुराने राजकार्य में बाधा, सरकारी गाड़ी को नुकसान पहुंचाने, मारपीट और निजता में भंग डालने के आरोप के मामले में अदालत ने तीन व्यापारी नेताओं को दोषमुक्त कर दिया है। यह निर्णय सीजेएम सुषमा पारीक की अदालत ने बुधवार को सुनाया। प्रकरण के अनुसार परिवादी तत्कालीन एसीटीओ पन्नालाल ने 22 जनवरी 1998 को कोतवाली थाना में मुकदमा दर्ज करवाया था। इसमें आरोप लगाए गए कि वाणिज्यिक कर विभाग की ओर से सूरतगढ़ में कार्रवाई की गई थी। वहां से पता चला कि उक्त ट्रक श्रीगंगानगर स्थित पुरानी धानमंडी की एक फर्म से दो नंबर का माल भेजा गया है। परिवादी और विभाग का लिपिक रामप्रताप पुरानी धानमंडी स्थित फर्माें की जांच करने गए जब आरोपी तरसेम गुप्ता, कृष्ण मील व अनूप धींगड़ा सहित अन्य ने अफसरों को सरकारी काम करने से रोका। मारपीट की और सरकारी गाड़ी को नुकसान पहुंचाया। मामले में पुलिस पीड़ित की ओर से लगाए गए आरोप साबित नहीं कर पाई तथा एक पीड़ित रामप्रताप आरोपों से अदालत में मुकर गया। इस पर अदालत ने संदेह का लाभ देते हुए तीनों नामजद आरोपियों को दोष मुक्त कर दिया।

X
एसीटीओ ने 20 साल पहले कराया था मारपीट और राजकार्य में बाधा का केस, बरी हुए 3 व्यापारी नेता
COMMENT