Hindi News »Rajasthan »Suratgarh» रोडवेज; दो दिन हड़ताल रखी, फिर सहमति नहीं बनी, आज भी बसें बंद

रोडवेज; दो दिन हड़ताल रखी, फिर सहमति नहीं बनी, आज भी बसें बंद

भास्कर संवाददाता| श्रीगंगानगर रोडवेज कर्मियों की प्रदेशव्यापी दो दिवसीय हड़ताल के बाद भी 13 सूत्री मांगों पर...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 27, 2018, 07:15 AM IST

  • रोडवेज; दो दिन हड़ताल रखी, फिर सहमति नहीं बनी, आज भी बसें बंद
    +1और स्लाइड देखें
    भास्कर संवाददाता| श्रीगंगानगर

    रोडवेज कर्मियों की प्रदेशव्यापी दो दिवसीय हड़ताल के बाद भी 13 सूत्री मांगों पर सहमति नहीं बनी। अब हड़ताल आगे भी जारी रहेगी। रोडवेज कर्मियों के संयुक्त मोर्चे की ओर से चक्काजाम हड़ताल जारी रखने का निर्णय लिया गया है। गुरुवार को हड़ताल के दूसरे दिन भी प्रदेश में एक भी रोडवेज की बस नहीं चली। लोगों लोक परिवहन व निजी बसों से ही यात्रा करनी पड़ी। इन बसों में यात्रा करने पर विभिन्न श्रेणियों के यात्रियों को किराया राशि में छूट नहीं मिलने पर अधिक किराया देकर सफर करना पड़ा। जिलेभर में रोडवेज बसों का संचालन ठप होने के कारण निजी बस संचालकों ने दूसरे दिन भी अस्थाई परमिट परिवहन विभाग ने जारी करवाकर 20 से अधिक बसें सड़कों पर उतारी। इसके अलावा श्रीगंगानगर से बीकानेर, हनुमानगढ़, पदमपुर, करणपुर व ग्रामीण रूटों पर लोक परिवहन व निजी बसें संचालित हुई। श्रीगंगानगर से हनुमानगढ़ व सूरतगढ़ के चलने वाली ट्रेनों में भी यात्रीभार 20 प्रतिशत तक अधिक रहा। रोडवेज कर्मचारी संयुक्त मोर्चा बूटासिंह ने बताया कि प्रदेश स्तर पर संयुक्त मोर्चा प्रतिनिधियों की सरकार से हुई वार्ता में मुख्य रूप से सातवें वेतन आयोग का लाभ देने, सेवानिवृत कर्मियों को बकाया राशि का भुगतान करने, नई बसों की खरीद करने व रिक्त पदों पर भर्ती आदि मांगों पर सहमति नहीं बनी।

    परेशानी- यात्री महंगे किराए पर कर रहे सफर, रोडवेज को राजस्व का नुकसान

    रोडवेज बस की हड़ताल के चलते परेशान होते यात्री।

    मांग...सातवें वेतन का लाभ और बकाया भुगतान सहित अन्य

    रोडवेज कर्मियों के चक्काजाम हड़ताल के दूसरे दिन गुरुवार को आगार गेट पर सभा में सरकार को कोसा गया। इस मौके पर कुलदीपसिंह केपी, इंद्रजीत बिश्नोई, लखवीर मान, महिला कांग्रेस जिलाध्यक्ष नमिता सेठी, भूपेंद्र कोर टूरना, तारासिंह, जगदीश बूरा, दीवान सांगवान आदि ने रोडवेज कर्मियों की मांगें नहीं मानने पर नाराजगी जाहिर की। कर्मियों ने मांगें पूरी नहीं होने तक चक्काजाम हड़ताल जारी रखने का निर्णय लिया।

    ट्रांसपोर्ट; नाके लगा ट्रक व पिकअप

    रोके, माल नहीं भरने की चेतावनी

    भास्कर संवाददाता| श्रीगंगानगर

    ट्रांसपोर्टरों की विभिन्न मांगों को लेकर 20 जुलाई से चल रही राष्ट्रव्यापी हड़ताल के चलते गुरुवार को श्रीगंगानगर ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने दोपहर में हनुमानगढ़ व सूरतगढ़ सड़क मार्गों पर नाके लगाकर सामान से भरे ट्रक व पिकअप जीपों को राेका। शाम तक नाकाबंदी के बाद ट्रक चालकों को फिर से हड़ताल के दौरान माल नहीं भरने की चेतावनी देकर छोड़ दिया गया। एसोसिएशन की ओर से शुक्रवार को फिर से सड़कों पर नाकाबंदी कर माल वाहक वाहनों को रोका जाएगा। ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन अध्यक्ष विजय सैन के नेतृत्व में ट्रांसपोर्टर चंद्रशेखर सोनी, गौरव आहुजा, अजय मदान, प्रमोद, ओम मुंजाल, गुंजन, रमेश सेठी, सुरेंद्र गर्ग, अशोक कोठारी, वजीर ग्रोवर व अनमोल मुंजराल सहित बड़ी संख्या में सूरतगढ़ रोड पर नेतेवाला के पास पहुंचे। उन्होंने माल वाहन ट्रकों व पिकअप जीपों को रोकना शुरू कर दिया। हनुमानगढ़ रोड पर भी नाथावाला के पास आरओबी के पास हनुमानगढ़ व पंजाब की ओर से आने वाले ट्रकों को रोकना शुरू कर दिया। शाम छह बजे तक इन वाहनों को यहां रोके रखा गया। इसके बाद हड़ताल के दौरान पुन: माल लोड नहीं करने की चेतावनी देकर छोड़ दिया गया।

    परेशानी- व्यापारी माल आदान-प्रदान नहीं कर पाने से आर्थिक नुकसान में

    नेतेवाला के पास ट्रांसपोर्टर ने रोके ट्रक।

    मांग...पेट्रोल-डीजल की कीमतों को जीएसटी में लाने सहित अन्य

    डीजल पेट्रोल की कीमतों को जीएसटी के दायरे में लिया जाए। मूल्य निर्धारण व डीजल कीमतों में त्रेमासिक संशोधन हो। टोल बैरियर मुक्त भारत किया जाए। तृतीय पक्ष बीमा प्रीमियम निर्धारण में पारदर्शिता बरती जाए। ट्रांसपोर्ट व्यवसाय पर टीडीएस समाप्त हो, आयकर अधिनियम की धारा 44 ए ई में अनुमानित आय में कमी और तर्क संगत की जाए। ई वे बिल से जुड़ी व्यवहारिक समस्याओं के चलते नियम संशोधित हों।

  • रोडवेज; दो दिन हड़ताल रखी, फिर सहमति नहीं बनी, आज भी बसें बंद
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Suratgarh

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×