• Hindi News
  • Rajasthan
  • Suratgarh
  • प्रकृति बचाने की मुहिम; मोहल्लों में जा बताते हैं पेड़ों के फायदे, फिर ट्री गार्ड सहित लगाते हैं पौधे
--Advertisement--

प्रकृति बचाने की मुहिम; मोहल्लों में जा बताते हैं पेड़ों के फायदे, फिर ट्री-गार्ड सहित लगाते हैं पौधे

Dainik Bhaskar

Aug 06, 2018, 07:20 AM IST

Suratgarh News - भास्कर संवाददाता| श्रीगंगानगर प्रकृति बचाने को लेकर ग्रीन वेलफेयर सोसायटी की टीम ग्रीन गंगानगर अभियान चला रही...

प्रकृति बचाने की मुहिम; मोहल्लों में जा बताते हैं पेड़ों के फायदे, फिर ट्री-गार्ड सहित लगाते हैं पौधे
भास्कर संवाददाता| श्रीगंगानगर

प्रकृति बचाने को लेकर ग्रीन वेलफेयर सोसायटी की टीम ग्रीन गंगानगर अभियान चला रही है। इस टीम की एक खास बात ये भी है कि इसके सदस्य पहले गली-मोहल्लों में जाते हैं और लोगों को पेड़ों के फायदे बताते हैं। पर्यावरण के प्रति इस तरह जागरुक करते हैं कि लोग वहां पौधे लगवाने की बात कहने लगते हैं। ग्रीन टीम इसके बाद खुद ही उस मोहल्ले में पौधे लगाती है। यही नहीं ज्यादातर पौधों के साथ ट्री गार्ड भी लगवाए जाते हैं। यह प्रक्रिया लंबे समय से साल के कई महीनों में चलती आ रही है। हाल ही में लोगों के जुड़ने के साथ इस टीम का जुनून इतना बढ़ा कि इस टीम ने 5 जून से लेकर 31 अगस्त तक 50 हजार पौधे लगाने का लक्ष्य तय कर लिया। साथ ही करीब 10 हजार ट्री गार्ड भी लगाए जाएंगे। यह टीम अपने लक्ष्य के करीब भी पहुंच चुकी है। इस अवधि में इनका टारगेट 50 गांवों में पौधरोपण करने का है। हालांकि गांवों में पेड़ काफी होते हैं, लेकिन आज के दौर में पक्की सड़कें होने के कारण पेड़ कम नजर आते हैं।

ग्रीन वेलफेयर सोसायटी का ग्रीन गंगानगर अभियान, 3 माह में जिले में 50 हजार पौधे व 10 हजार ट्री गार्ड लगाने का चल रहा काम

भावनात्मक जुड़ाव ऐसा...टीम ने सदस्यों कहा-ये महज पेड़ नहीं, बच्चे हैं हमारे

ग्रीन टीम के चेयरमैन शंकर सलूजा बताते हैं कि ये महज पौधे या पेड़ नहीं...हमारे बच्चे हैं। हम पौधे लगा देते हैं। उसके बाद उनकी नियमित देखभाल के लिए वहीं रहने वाले लोगों को जागरुक करते हैं। लोगों को बताते हैं कि जिस तरह हमारे बच्चों को भोजन-पानी की जरूरत है, ठीक वैसे ही पौधों की खुराक पानी है। शुरुआती दिनों मेें पौधे की निगरानी भी करनी पड़ती है, क्योंकि तना बेहद कमजोर होता है। ऐसे में कोई पशु भी पौधे को तोड़ सकता है, जिससे इसकी वृद्धि रुक जाती है। इस तरह जिस गली में पौधे लगाते हैं, वहां के लोग उक्त पौधे को अपने परिवार के सदस्य के रूप में शामिल करते हैं। इनकी टीम शंकर सलूजा, रंजना सेतिया, गुरचरणसिंह पाहवा, श्रवणसिंह, किशन बजाज, राहुल शर्मा, शीतल सिडाना, किशन रेलन, लक्ष्मणदास कामरा, जगदीश सिडाना, शंकर बंसल, प्रेमसिंह, प्रो. इंद्रसिंह व कुलदीपसिंह आदि शामिल हैं।

इस महीने जिलेभर में इन जगहों पर लगेंगे पौधे

शंकर सलूजा के मुताबिक इस माह पौधरोपण की शुरुआत 83 एलएनपी जोड़कियां से हो चुकी है। 31 अगस्त तक अनूपगढ़ क्षेत्र, रोहिड़ांवाली व कोनी, सूरतगढ़ क्षेत्र के पुलिस थानों, कोर्ट व अन्य जगहों पर 300 पौधे लगेंगे।

इस दरमियान कालियां क्षेत्र में 100, श्रीकरणपुर में 100, सादुलशहर के स्कूल-कॉलेजों व अन्य संस्थानों में 300, घड़साना क्षेत्र में 300, श्रीविजयनगर में 100, ग्राम पंचायत 4 एमएल क्षेत्र में 200, रायसिंहनगर इलाके में 500 व रिको क्षेत्र में 100 पौधे लगाने का लक्ष्य है। यह लक्ष्य इसी माह हासिल कर लिया जाएगा।

जोड़कियां में हुए कार्यक्रम के दौरान रिछपाल गोदारा, स्कूल प्रधानाचार्य सुमनलता, हरीकृष्ण शास्त्री, सीमा रानी, ग्राम विकास अधिकारी उमेश बिश्नोई व महेंद्र प्रताप सुथार, अरविंद गोदारा, जितेंद्र सिहाग, पवन गोदारा, नत्थूराम सुथार व सुखदेवसिंह और ग्रीन गंगानगर टीम के सदस्य मौजूद थे।

X
प्रकृति बचाने की मुहिम; मोहल्लों में जा बताते हैं पेड़ों के फायदे, फिर ट्री-गार्ड सहित लगाते हैं पौधे
Astrology

Recommended

Click to listen..