• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Suratgarh News
  • जैश-ए-मोहम्मद के निशाने पर नेवी; श्रीगंगानगर बॉर्डर के सामने बहावलपुर में आतंकियों को दे रहा ट्रेनिंग
--Advertisement--

जैश-ए-मोहम्मद के निशाने पर नेवी; श्रीगंगानगर बॉर्डर के सामने बहावलपुर में आतंकियों को दे रहा ट्रेनिंग

भास्कर संवाददाता|श्रीगंगानगर पाकिस्तान के आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने आतंकियों को ट्रेनिंग देने का काम शुरू...

Dainik Bhaskar

Jul 19, 2018, 07:40 AM IST
जैश-ए-मोहम्मद के निशाने पर नेवी; श्रीगंगानगर बॉर्डर के सामने बहावलपुर में आतंकियों को दे रहा ट्रेनिंग
भास्कर संवाददाता|श्रीगंगानगर

पाकिस्तान के आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने आतंकियों को ट्रेनिंग देने का काम शुरू कर दिया है। इस बार उनके निशाने पर भारत की नौसेना है। इसमें हमारे लिए चिंता की बात ये है कि जैश-ए-मोहम्मद ने आतंकी कैंप श्रीगंगानगर में रायसिंहनगर-अनूपगढ़ से सटी अंतरराष्ट्रीय सीमा के ठीक सामने शुरू किए हैं। इसके बाद यहां बाॅर्डर पर घुसपैठ की आशंका भी बढ़ गई है। खुफिया एजेंसियों के इस अलर्ट के बाद बीएसएफ समेत जिले में तमाम एजेंसियां हाई अलर्ट पर आ गई हैं। बताया जा रहा है कि जैश-ए-मोहम्मद इन आतंकियों को खास तरह की ट्रेनिंग दे रहा है और ये जमीन के साथ समुद्र में भी हमले को अंजाम दे सकेंगे। इनपुट ये भी है कि कश्मीर में सेना के ऑपरेशनों के बाद से जैश-ए-मोहम्मद बौखलाया हुआ है। इसलिए इस बार वह नेवी को टारगेट करने की तैयारी कर रहा है।

ना’पाक हरकत

जैश-ए-मोहम्मद ने आतंकियों के लिए 25 साल तक की उम्र के युवकों का चयन किया है। इनमें ज्यादातर आतंकी पाकिस्तान के यजमान मंडी, बहावलनगर, हारुनाबाद, मलसी, बुरेवाला, मिनचिनाबाद से सटे इलाकों के हैं। वहीं कुछ युवक पंजाब व सिंध प्रांत के भी हैं। खास बात ये है कि ये सभी इलाके श्रीगंगानगर व बीकानेर जिले के ठीक सामने हैं और ये आतंकी यहां के बॉर्डर से भी भली-भांति वाकिफ हैं। इनमें ज्यादातर युवक गरीब तबके के हैं और फिलहाल इनका भारत के खिलाफ माइंड वॉश किया जा रहा है। साथ ही इन्हें मरीन ट्रेनिंग दी जा रही है। इसके तहत वे समुद्र के अंदर काफी गहराई तक तैर सकेंगे। फिर पानी के अंदर ही हमला कर हमारी बोट, शिप को भी नुकसान पहुंचाएंगे। इसी तरह इन्हें घातक हथियार चलाने व विस्फोटक के साथ हमला करने का प्रशिक्षण भी दिया जाएगा।

आतंकी 25 साल तक की उम्र के और श्रीगंगानगर के सामने वाले पाक क्षेत्र के

बहावलपुर

श्रीगंगानगर

नौ सेना प्रवक्ता कैप्टन डीके शर्मा ने बताया कि नौसेना पूरी तरह से अलर्ट है और हम पाकिस्तान के किसी मंसूबे को कामयाब नहीं होने देंगे। हम उनके हर हमले का जवाब देने को हर समय तैयार हैं।

सूरतगढ़ एयरबेस पर भी 2 साल पहले हमला करने आए थे, चौकसी से भाग गए

यूं तो बहावलपुर में आतंकी कैंप काफी समय से चल रहे हैं, लेकिन चार साल में इन्हें काफी सक्रिय किया गया है। इन्हीं कैंपों में तीन साल पहले कुछ आतंकी तैयार किए गए थे, जिनका टारगेट सूरतगढ़ एयरबेस था। तब ये हमला करने के लिए अगस्त 2015 में बॉर्डर पर पिल्लर संख्या 340 के पास आ भी गए थे, लेकिन बीएसएफ की कड़ी चौकसी के चलते इन्हें लौटना पड़ा। उल्लेखनीय है कि श्रीगंगानगर जिले की अंतरराष्ट्रीय सीमा पर इन्हीं महीनों में नशे व हथियारों की सप्लाई के मामलों में बढ़ोतरी हुई है। अप्रैल में भी यहां हथियारों की सप्लाई लेने आए तस्कर पकड़े गए थे।

X
जैश-ए-मोहम्मद के निशाने पर नेवी; श्रीगंगानगर बॉर्डर के सामने बहावलपुर में आतंकियों को दे रहा ट्रेनिंग
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..