• Hindi News
  • Rajasthan
  • Suratgarh
  • रोडवेज बंद, डीटीओ से अस्थाई परमिट ले चलीं 10 निजी बसें, ओवरलोड लोक परिवहन में वसूला ज्यादा किराया

रोडवेज बंद, डीटीओ से अस्थाई परमिट ले चलीं 10 निजी बसें, ओवरलोड लोक परिवहन में वसूला ज्यादा किराया / रोडवेज बंद, डीटीओ से अस्थाई परमिट ले चलीं 10 निजी बसें, ओवरलोड लोक परिवहन में वसूला ज्यादा किराया

Bhaskar News Network

Jul 26, 2018, 07:15 PM IST

Suratgarh News - भास्कर संवाददाता|श्रीगंगानगर रोडवेज कर्मियों की हड़ताल के तहत प्रदेश में बुधवार को रोडवेज बसों का संचालन...

रोडवेज बंद, डीटीओ से अस्थाई परमिट ले चलीं 10 निजी बसें, ओवरलोड लोक परिवहन में वसूला ज्यादा किराया
भास्कर संवाददाता|श्रीगंगानगर

रोडवेज कर्मियों की हड़ताल के तहत प्रदेश में बुधवार को रोडवेज बसों का संचालन पूर्णतया ठप रहा। एक भी रोडवेज बस सड़क पर नजर नहीं आई। रोडवेज कर्मियों ने श्रीगंगानगर आगार मुख्य गेट पर धरना दिया। निजी बस संचालकों ने अस्थाई परमिट लेकर सड़कों पर बसें उतारी। सूरतगढ़, पदमपुर, करणपुर व हनुमानगढ़ रूटों पर कई लोक परिवहन व निजी ओवर लोड सवारियां भरकर आती जाती दिखाई दी। वहीं ट्रेनों में भी यात्रीभार पहले के मुकाबले ज्यादा दिखा। रोडवेज की बसें गुरुवार को भी नहीं चलेंगी। पहले दिन हड़ताल से रोडवेज को इलाके में 10 लाख रुपए से ज्यादा राजस्व का नुकसान हुआ।

रोडवेज की हड़ताल को ध्यान में रखते हुए लोक परिवहन व निजी बसों के संचालक सुबह से ही सक्रिय नजर आए। बस अड्डे के सामने अलग-अलग रूट की बसों को कतार में लगाकर सवारियां भरकर रवाना की। सुबह-सुबह बसों में यात्रीभार अधिक रहा। दोपहर में सभी बसों में यात्रीभार सामान्य रहा। निजी बस संचालकों ने भी परिवहन विभाग से सूरतगढ़, बीकानेर, पदमपुर, ग्रामीण रूटों के 10 अस्थाई परमिट जारी करवाकर सड़कों पर बसें उतारी। बीकानेर रूट पर संचालित होने वाली लोक परिवहन व निजी बसों में यात्रीभार बसों की क्षमता से अधिक रहा। रोडवेज हड़ताल के दौरान केंद्रीय बस अड्डे व आगार डिपो में बसें रुकी रही। आगार गेट पर धरना स्थल पर हुई सभा में कर्मचारियों को मोहनलाल यादव, बूटासिंह, जसविंद्र सिंह, मंजीत सिंह, हरविंद्र सिंह, जरनैल सिंह, सतीष बेदी, सुरजीत ग्रेवाल व कर्मचारी महासंघ के जिलाध्यक्ष सतीष शर्मा, एडवोकेट इंद्रजीत बिश्नोई, संदीप जाखड़ आदि ने संबोधित करते हुए सरकार को कोसा।

हनुमानगढ़ रूट पर लोक सेवा की बसें ओवरलोड, किराया भी मनमाना

दुकानों पर काम करने वाले युवक देरी से शहरों-कस्बों तक पहुंचे, बस स्टैंड के पास दुकानदारों के काम पर असर

रोडवेज बसों की हड़ताल के कारण यात्रियों की दिनचर्या पर पूरा असर दिखा। वहीं शहर में दुकानों पर अनेक युवा काम करने आते हैं, जो देरी से शहर पहुंचे। वहीं जाते समय में भी उन्हें भीड़ के बीच सफर करना पड़ा। इसके अलावा बस स्टैंड के पास दुकानदारों व रिक्शा-ऑटोवालों के काम पर भी असर नजर आया। बस स्टैंड पर यात्री नहीं थे। इस वजह से आसपास की दुकानों पर ग्राहकी नहीं दिखी।

हनुमानगढ़ रूट पर दोपहर में श्रीगंगानगर से रवाना हुई बसों में यात्रा करने वाले कई यात्रियों ने अधिक किराया वसूलने का आरोप लगाया। हनुमानगढ़ के लिए लोक परिवहन की बस में दोपहर दो बजे सवार हुए राजेश कुमार ने बताया कि परिचालक ने यात्रियों ने हनुमानगढ़ का किराया 60 रुपए की जगह 100 रुपए वसूला। विरोध करने पर परिचालक ने यात्रियों को बस से उतारने की धमकी भी दी। वहीं निजी व लोक परिवहन में क्षमता से अधिक सवारियां थी। बावजूद इसके लिए ऐसी बसों पर कोई कार्रवाई नहीं की गई।

अनूपगढ़ आगार को एक दिन में 7.5 लाख का नुकसान

अनूपगढ़| राजस्थान रोडवेज की कर्मचारी यूनियनों के संयुक्त मोर्चा ने 13 सूत्री मांगों को लेकर बुधवार को रोडवेज बसों का चक्काजाम किया। इससे अनूपगढ़ आगार को एक दिन में साढे सात लाख रुपए का नुकसान हुआ। वहीं यात्रियों का परेशानी हुई। इस बीच रोडवेज कर्मियों ने आगार कार्यशाला के सामने धरना दिया। कर्मचारी नेता महेंद्र बुटर ने बताया कि मांगों को लेकर यूनियन कई बार सरकार के साथ वार्ता कर चुकी है। सरकार के साथ कई मांगों पर लिखित समझौता भी हुआ है। कार्यशाला के सामने हुई सभा को मनोज तरड़, जलंधरसिंह, हाकम सिंह, लूणाराम, दलीप, ओम बिश्नोई, भागचंद, सीटू के अध्यक्ष सुखदेव सिंह, महेंद्रबुटर, बहादुर सिंह, गुरचरण सिंह, सुंदरपाल गिल व सुक्खा सिंह आदि ने संबोधित किया।

केसरीसिंहपुर| 13 सूत्री मांगों को लेकर रोडवेज बसों का संचालन नहीं हुआ। हालांकि कस्बे से रोडवेज की महज दो बसें ही चलती हैं। सुबह 6 बजे बीकानेर जाने वाली बस ही अड्डे पर ही खड़ी रही।

सूरतगढ़| . प्रदेश में राजस्थान रोडवेज कर्मचारियों की विभिन्न मांगों को लेकर हडताल के चलते बुधवार को यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ा। लोक परिवहन बसों में भीड़ रही। यात्रियों खड़े रह कर सफर किया। राजस्थान रोडवेज की हड़ताल के चलते लोक परिवहन ने ज्यादा बसें लगाकर हड़ताल का फायदा उठाया। हनुमानगढ़, बीकानेर और श्रीगंगानगर जाने वाली ट्रेनों में भीड़ रही।

हड़ताल का पहला दिन रोडवेज को 12 लाख से ज्यादा राजस्व का नुकसान, आज भी नहीं चलेंगी बसें

रोडवेज बंद, डीटीओ से अस्थाई परमिट ले चलीं 10 निजी बसें, ओवरलोड लोक परिवहन में वसूला ज्यादा किराया
X
रोडवेज बंद, डीटीओ से अस्थाई परमिट ले चलीं 10 निजी बसें, ओवरलोड लोक परिवहन में वसूला ज्यादा किराया
रोडवेज बंद, डीटीओ से अस्थाई परमिट ले चलीं 10 निजी बसें, ओवरलोड लोक परिवहन में वसूला ज्यादा किराया
COMMENT