टोडाभीम

--Advertisement--

लाखों भक्तों ने बालाजी महाराज की चौखट पर मत्था टेका

टोडाभीम | उपखंड क्षेत्र में स्थित उत्तर भारत प्रमुख सिद्धपीठ श्री मेहंदीपुर बालाजी में चल रहे पांच दिवसीय होली के...

Danik Bhaskar

Mar 04, 2018, 04:30 AM IST
टोडाभीम | उपखंड क्षेत्र में स्थित उत्तर भारत प्रमुख सिद्धपीठ श्री मेहंदीपुर बालाजी में चल रहे पांच दिवसीय होली के लक्खी मेले में गुरूवार को होली महापर्व पर लाखों श्रद्धालुओं ने श्री बालाजी महाराज के दर्शन कर मन्नतें मांगी। इस अवसर पर शाम 7 बजकर 41 मिनट पर स्व. महंत श्री गणेशपुरी जी महाराज की समाधि स्थल पर होलिका दहन किया गया जिसमें उपखंड सहित देश के विभिन्न प्रांतों से आए लाखों श्रद्धालु साक्षी बने। इस दौरान भक्तों ने होलिका को पुष्प, नारियल तथा चुनरी भेंट की। होली दहन में उमड़े भक्तों के सैलाब को देखते हुए पुलिस द्वारा सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए और समाधि स्थल पर एसडीओ जगदीश आर्य, पुलिस उपाधीक्षक प्रकाशचंद सहित टोडाभीम, नादौती, बालघाट, गढ़मोरा थाना प्रभारी सहित इन थानों से बुलाया गया जाब्ता व पुलिस लाईन व आरएससी के जवान चप्पे-चप्पे पर तैनात रहे।

होली पर दर्शनों का विशेष महत्व होने के कारण एक दिन पूर्व बुधवार से ही दर्शनार्थियों का बालाजी पहुंचना शुरू हो गया था जो देर रात तक अनवरत जारी रहा। होली महापर्व पर अपने आराध्य प्रभू श्री राम के परम भक्त स्वयं भू श्री बालाजी महाराज के दर्शनों के लिए प्रात: 4 बजे से ही मंदिर पर पहुंचने का दौर शुरू हो गया था और आरती शुरू होने से पूर्व ही मंदिर के सामने दूर-दूर तक भक्तों का सैलाब नजर आने लगा। आरती संपन्न होने के बाद जैसे भक्तों का लाइनों में लगना शुरू हुआ मंदिर के दोनों ओर कई किलोमीटर लंबी कतारे लग गई। इन लंबी कतारों में घंटों इंतजार के बाद भक्तों ने अपने आराध्य के दर्शन कर अपनी व अपने परिवाजनों की खुशहाली के लिए मन्नते मांगी। शाम को महंत गणेशपुरी जी महाराज की समाधि स्थल पर होलिका दहन के दर्शनों के लिए भक्तों का समाधि स्थल पर जमा होना शुरू हो गया और होलिका दहन से एक घंटे पूर्व समाधि स्थल पर भक्तों को पैर रखने काे भी जगह नहीं मिली जिससे हजारों भक्तों ने समाधि स्थल के आसपास के मकानों व धर्मशालाओं की छतों पर तथा पहाड़ी पर चढ़ कर होलिका दहन के ऐतिहासिक नजारे को अपनी नजरों में सजाकर भक्त भाव विभोर हो गए। शाम 7 बजकर 41 मिनट पर महंत श्री किशोरपुरी जी महाराज के सानिध्य में विद्वान ब्राह्मणों के द्वारा मंत्रोच्चारण के साथ होलिका दहन किया गया। इस दौरान दर्शनार्थियों के द्वारा लगाए गए श्री बालाजी महाराज व महंत किशोरपुरी जी महाराज के जयकारों से समूची पावन नगरी गुंजायमान हो उठा।

पुलिसकर्मी रहे मुस्तैद

मेहंदीपुर बालाजी महाराज की पवित्र नगरी में श्री बालाजी महाराज के दर्शनों के उपरांत महंत श्री गणेशपुरी जी महाराज की समाधि स्थल पर आयोजित होलिका दहन के दर्शनों के उपरांत संकट ग्रस्त व्यक्ति किसी भी उपरी बाधा से मुक्त हो जाता है। गुरूवार को होलिका दहन के दर्शनों की कामना लिए दोपहर से ही समाधि स्थल पर भक्तों का जमावड़ा शुरू हो गया था जिससे पुलिस को सुरक्षा के अतिरिक्त इंतजाम करने पड़े।

आश्रय नहीं मिलने से सरकारी भवनों में भक्तों का ठहराव

श्री बालाजी महाराज के पांच दिवसीय लक्खी मेले में धर्मशाला एवं गेस्ट हाऊस फुल चल रहे है और भक्तों का अभी भी मेले में दर्शनों के लिए आने का दौर जारी है, ऐसे में सैकड़ों भक्तों का सरकारी भवनों के प्रांगण में आश्रय बना हुआ है। मेहंदीपुर में स्थित प्राथमिक विद्यालय का खाली पड़ा भवन दर्जनों श्रद्धालुओं का ठहराव स्थल बना हुआ है वहीं सरकारी अस्पताल के सामने भी भक्तों ने डेरा डाल रखा है।

Click to listen..