--Advertisement--

जिलेभर में रंग व गुलाल की पुरजोर मची धमाल

Todabheem News - करौली. शहर के मासलपुर चुंगी के पास धुलंडी पर धमाल मचाती युवाओं की टोली। (दाएं) चौबेपाड़ा मोहल्ले में होली जलाते...

Dainik Bhaskar

Mar 04, 2018, 04:30 AM IST
जिलेभर में रंग व गुलाल की पुरजोर मची धमाल
करौली. शहर के मासलपुर चुंगी के पास धुलंडी पर धमाल मचाती युवाओं की टोली। (दाएं) चौबेपाड़ा मोहल्ले में होली जलाते मोहल्ले के लोग।

होली व धुलंेडी के बाद महिलाओं ने मनाई भाई दूज, मेलों में दिखी लोक संस्कृति की झलक

कार्यालय संवाददाता|करौली

आपसी प्रेम और रंगों का त्यौहार होली, जिलेभर में धूमधाम व हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। रंग और गुलाल की चहुंओर धमाल रही। एक-दूजे को गुलाल व रंग मलकर आपस में बधाई दी और बुजुर्गों से पैर छूकर आशीर्वाद लिया। गांवों में परंपरागत तरीके से होली दहन तथा धुलंडी पर रंग व कीचड़ की होली खेली गई। शनिवार को भाई दूज पर्व पर महिलाओं ने दूज की पूजा की और भाईयों को तिलक कर सुखी व दीर्घायु होने की कामना की। भाईयों ने भी बहिनों को उपहार भेंट किए।

होली पर्व पर युवा व बच्चों की टोली ने जमकर होली का हुड़दंग रंगों की बौछार व नाचकूद के साथ मनाया। होली के गीतों पर जमकर डीजे व फाग गीतों पर ठुमके भी लगाए। शुक्रवार को सुबह से ही लोग अपने हाथों में रंग गुलाल लेकर टोलियों के रूप में एक-दूजे को होली की बधाई देने घरों से निकल गए। एक दूसरे के घरों पर जाकर रंग गुलाल लगाया और बड़े -बुजुर्गों से आशीर्वाद लेकर होली की बधाई दी। दूसरी ओर कई स्थानों पर डीजे के अलावा ढोल-नगाड़ों की थाप पर होली गीतों पर युवाओं व बच्चों ने जमकर नृत्य किया और होली का लुत्फ उठाया।

करौली के चटीकना, सीताबाड़ी, गुलाब बाग, कलेक्ट्री सर्किल, हिंडौन दरवाजा आदि क्षेत्रों में बुजुर्ग महिलाओं, युवाओं व बच्चों ने रंग गुलाल लगाकर जमकर होली का आनंद लिया। इसी प्रकार करौली जिले के हिंडौन, सपोटरा, टोडाभीम, मंडरायल आदि कस्बों में भी होली को रंगोत्सव के रूप में मनाया। हालांकि होली पर कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए जिलेभर में पुलिस-प्रशासन मुस्तैद रहा। कलेक्टर की ओर से जिले में तीन दिन के लिए धारा 144 लागू की हुई थी, शांति व सुरक्षा व्यवस्था के लिए पुलिस के जवानों ने प्रभावी गश्त की। दूज के दिन पुलिस की तरफ से भी होली खेली गई। मासलपुर चुंगी के पास बसपा नेता लाखनसिंह कटकड़ के निवास पर जमकर होली खेली गई। कई गांवों में दूज पर मेले भी आयोजित हुए,जिसमें कई सजीव झांकियों के साथ ठड्‌डा गायन व स्वांग के प्रतीक पारंपरिक खेल भी हुए। प्रसिद्ध तीर्थ स्थल कैलादेवी और आराध्यदेव श्री मदन मोहनजी मंदिर में श्रद्धालुओं की रेलमपेल रही। मंदिर परिसर होली व धुलंडी के दिन खचाखच भरा नजर आया। रंग-गुलाल के साथ फूलों की होली और महिलाओं के फाग गीत व नाचकूद से ब्रज की छटा और लोक संस्कृति की झलक दिखाई दी।

देवर-भाभियों के बीच होली खेली

टोडाभीम|
उपखंड मुख्यालय सहित आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में आपसी प्रेम व रंगों का त्यौहार होली हर्षोल्लास से मनाया गया। शहर में दो दर्जन से अधिक स्थानों सहित गांव-गांव और ढाणियों में होलिका दहन किया गया। उपखंड मुख्यालय पर गुरूवार को होली का दहन का विशेष आयोजन किया गया। शहर में जीप स्टैंड, तिवाडी पाडा, जोशी पाडा, सेड पाडा, राजाजी का गढ़, नोविस्वा में बडी होली, रूपा कॉलोनी, पुरानी अनाज मंडी, जिंसीकापुरा, बालकापुरा, रंगलालकापुरा, कैंगना पाडा सहित दर्जनों स्थानों पर मोहल्ले के नागरिक सुबह से ही होली का दहन की तैयारियों में जुट गए। शाम 7 बजे से शुरू हुआ होलिका दहन के शुभ मुहूर्त में 8 बजे तक अधिकांश: स्थानों पर होली का दहन का कार्यक्रम पूर्व हो गया था। होली दहन से पूर्व महिलाओं ने परंपरा के अनुसार होली व उसमें लगने वाले डांडे का विधिवत पूजा अर्चना की तथा होलिका को गोबर से बनी बिलूकडीयां अर्पित की गई। अगले की दिन शुक्रवार को धुलंडी पर सुबह से ही हर आयु वर्ग के लोग अपने घरों से गुलाल लेकर सामूहिक रूप से ढोल नगाड़ों की थाम के साथ नाचते-कूदते एक दूसरे को गुलाल का तिलक लगाकर अपने प्रेम का इजहार करते नजर आए। दोपहर को गली मौहल्लों में देवर-भाभियों के बीच भी जमकर होली खेली गई। शनिवार को भाई बहनों के प्रेम का प्रतीक भाई दूज का त्यौहार भी हर्षोल्लास व उमंग के साथ मनाया गया। इस मौके पर बहनों ने व्रत रख कर अपने भाईयों को टीका लगाकर ईश्वर से उनकी लंबी उम्र की कामना की।

X
जिलेभर में रंग व गुलाल की पुरजोर मची धमाल
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..