• Hindi News
  • Rajasthan
  • Todabheem
  • विकल्प पत्र जमा कराने में बीईओ गंभीर नहीं, अटक सकता है शिक्षकों का वेतन स्थिरीकरण
--Advertisement--

विकल्प पत्र जमा कराने में बीईओ गंभीर नहीं, अटक सकता है शिक्षकों का वेतन स्थिरीकरण

Todabheem News - पंचायत समिति क्षेत्र में कार्यरत प्रारंभिक शिक्षा विभाग के तृतीय श्रेणी व द्वितीय श्रेणी के शिक्षकों के 7वें...

Dainik Bhaskar

Mar 01, 2018, 07:00 AM IST
विकल्प पत्र जमा कराने में बीईओ गंभीर नहीं, अटक सकता है शिक्षकों का वेतन स्थिरीकरण
पंचायत समिति क्षेत्र में कार्यरत प्रारंभिक शिक्षा विभाग के तृतीय श्रेणी व द्वितीय श्रेणी के शिक्षकों के 7वें वेतन आयोग में स्थिरीकरण का काम मुश्किल होता जा रहा है। इसका कारण ब्लॉक शिक्षा अधिकारियों की ओर से शिक्षकों की जानकारी सेवा पुस्तिका में इन्द्राज नहीं करते हुए विकल्प पत्र (वेतन नियतन प्रपत्र) को जिला शिक्षा अधिकारी (प्रारंभिक शिक्षा) में जमा कराने में देरी होना है। जिले के पांच ब्लॉकों के अधीन प्रारंभिक शिक्षा के 3380 शिक्षकों का वेतन स्थिरीकरण किया जाना है। 9 दिसंबर को जारी किए नोटिफिकेशन के 80 दिन बाद भी इन पांच ब्लॉकों के शिक्षा अधिकारियों ने मात्र 2418 शिक्षकों के ही विकल्प पत्र जमा कराए हैं। टोडाभीम ब्लॉक शिक्षा अधिकारी वेतन स्थिरीकरण को लेकर गंभीर नहीं है। टोडाभीम ब्लॉक शिक्षा अधिकारी ने 463 में से मात्र 2 ही कर्मचारियों के विकल्प पत्र जमा कराएं हैं। सहायक लेखाधिकारी गणेश नारायण अवस्थी का कहना है कि 8 मार्च तक विकल्प पत्र जमा नहीं कराए गए तो शिक्षकों को आर्थिक नुकसान का सामना करना पड़ेगा और उन्हें स्वत: ही एक जनवरी 2016 से कार्मिकों का वेतन स्थिरीकरण करना होगा।

नोटिफिकेशन जारी होने के 90 दिन में विकल्प पत्र पेश करना जरूरी, अब 8 दिन ही शेष

जिला शिक्षा अधिकारी(प्रारंभिक) कार्यालय के सहायक लेखाधिकारी गणेश नारायण अवस्थी ने बताया कि जिले के पांच ब्लॉकों में सातवां वेतन आयोग को लेकर स्थिरीकरण किया जाना है। सरकार की ओर से 9 दिसंबर 2017 को नोटिफिकेशन जारी किया गया था। नोटिफिकेशन जारी करने के बाद 90 दिन का समय मिलता हैं। ऐसे में विकल्प पत्र पेश करने की अंतिम तिथि 8 मार्च है। करौली जिले की पांच ब्लॉकों में 3380 शिक्षकों का वेतन स्थिरीकरण किया जाना है। ब्लॉक शिक्षा अधिकारियों से विकल्प पत्र मांगे गए थे। ब्लॉक शिक्षा अधिकारी की जिम्मेदारी होती है कि वो शिक्षकों से सातवां वेतन आयोग का लाभ आदि की जानकारी लेकर सेवा पुस्तिका में इन्द्राज करे और विकल्प पत्र भरकर संबंधित अधिकारी कार्यालय में जमा कराए। लेकिन कई ब्लॉक शिक्षा अधिकारी अपने कार्य के प्रति गंभीर नहीं है। 3380 में से मात्र 2418 शिक्षकों के ही विकल्प पत्र जमा हुए हैं।

टोडाभीम ब्लॉक के 463 में से दो के ही विकल्प पत्र जमा

शिक्षकों के विकल्प पत्र जमा कराने में अभी तक हिंडौन ब्लॉक शिक्षा अधिकारी कार्यालय आगे हैं। ब्लॉक शिक्षा अधिकारी ने 769 में से 759 शिक्षकों के विकल्प पत्र कार्यालय में जमा करा दिए हैं। करौली बीईईओ ने 881 में से 637, सपोटरा बीईईओ ने 921 में से 308, नादौती बीईईओ ने 346 में से 251 शिक्षकों के विकल्प पत्र जमा कराए हैं। टोडाभीम ब्लॉक शिक्षा अधिकारी वीर सिंह मीणा ने 463 में से दो ही शिक्षकों के विकल्प पत्र भेजे हैं। जबकि उन्हें कई बार पत्र भेजे जा चुके हैं। बीईईओ ने स्थिरीकरण के प्रकरण प्रस्तुत नहीं करते हुए वेतन स्थिरीकरण नहीं कराया है।

विकल्प पत्रों में कमियां बता कर जिला शिक्षा अधिकारी ने लौटा दिए


बीईओ के रवैए से शिक्षकों में नाराजगी


X
विकल्प पत्र जमा कराने में बीईओ गंभीर नहीं, अटक सकता है शिक्षकों का वेतन स्थिरीकरण
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..