Hindi News »Rajasthan »Tonk» अब दसवीं बोर्ड के विद्यार्थियों का भी जांचा जाएगा शैक्षणिक स्तर

अब दसवीं बोर्ड के विद्यार्थियों का भी जांचा जाएगा शैक्षणिक स्तर

एनसीआरईटी की आेर से सरकारी स्कूलों के कक्षा दस के विद्यार्थियों का शैक्षणिक स्तर जांचने एवं जिले,स्टेट वार...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 02, 2018, 07:45 AM IST

एनसीआरईटी की आेर से सरकारी स्कूलों के कक्षा दस के विद्यार्थियों का शैक्षणिक स्तर जांचने एवं जिले,स्टेट वार शिक्षा की रैंक तय करने के लिए देशभर में ओएमआर सीट से 5 फरवरी को टेस्ट होगा। इसमें जिले में भी 80 स्कूलों के सैकड़ों छात्र शामिल होंगे।

इसके लिए रमसा प्रभारी ने तैयारियां शुरू कर दी है। केंद्र सरकार यह टेस्ट राष्ट्रीय केंद्र शिक्षा शौध एवं प्रशिक्षण परिषद नई दिल्ली की ओर से नेशनल एचीवमेंट सर्वे के तहत किया जाएगा। विदित रहे कि सरकार लंबे समय से सरकारी स्कूलों के बच्चों का शैक्षणिक स्तर सुधारने के लिए भरसक प्रयास कर रही है। इसके लिए विभिन्न अभियान,योजनाएं चलाने समेत समय-समय पर नवाचार कर रही है। इसके बावजूद शिक्षा का स्तर अपेक्षाकृत नहीं बढ रहा है। सूत्रों के अनुसार कई जिलों से शैक्षिक स्तर खराब होने के बावजूद कई अधिकारी विभागीय कार्रवाई से बचने एवं अपने जिले का प्रदर्शन अच्छा बताने के लिए शैक्षणिक स्तर अच्छा बता दिया जाता था। अब केंद्र सरकार बच्चों की शिक्षा का वास्तविक स्तर जानने के लिए ओएमआर सीट से नेशनल एचीवमेंट सर्वे के तहत देश भर की चिन्हित की गई सरकारी स्कूलों की कक्षा दस के विद्यार्थियों का ओएमआर सीट से टेस्ट कराएगी। यह टेस्ट एक साथ 5 फरवरी को होगा। प्रत्येक चयनित स्कूल से न्यूूनतम 15 व अधिकतम 45 बच्चे टेस्ट में शामिल होंगे। यह टेस्ट 80 स्कूलों में ही होगा। इसमें सभी प्रमुख पांच विषयों में बच्चों का शैक्षणिक स्तर जांचा जाएगा। इसके रिजल्ट के आधार ही जिले,राजस्थान समेत अन्य राज्यों की शिक्षा की रैंक सरकार तय करेगी। रैंक के हिसाब से ही संबंधित स्टेट का शिक्षा का बजट आदि एलोट होगा। जो स्टेट स्तर में पिछडेगा,उसके लिए खास कार्य योजना तैयार कर सरकार वहां के बच्चों का शैक्षिणक स्तर बढ़ाने का और प्रयास करेगी।

टेस्ट के लिए 160 फील्ड इनवेस्टीगेटर लगेंगे

इस टेस्ट को पारदर्शिता से कराने के लिए एक सेंटर पर दो-दो फील्ड इनवेस्टीगेटर तैनात किए जाएंगे। टेस्ट में प्रमुख रुप से गणित,अंग्रेजी, सामाजिक विज्ञान,हिंदी, विज्ञान विषय का शैक्षिक स्तर का पता लगाया जाएगा।

अधिकतम 45 बच्चे बैठेंगे टेस्ट में

रमसा समन्वयक ओमप्रकाश जाट ने बताया कि इस टेस्ट में चयनित स्कूल के न्यूनतम 15 एवं अधिकतम 45 विद्यार्थी शामिल होंगे। इन बच्चों का चयन संबंधित संस्थाप्रधान करेंगे।

फील्ड इनवेस्टीगेटरों की करवाई जाएगी ट्रैनिंग

रमसा समन्वयक ओमप्रकाश जाट ने बताया कि कक्षा दस के विद्यार्थियों का शैक्षिक स्तर जांचने के लिए 5 फरवरी को ओएमआर सीट पर कक्षा दस के विद्यार्थियों का टेस्ट होगा। इसके आदेश उच्च स्तर से आ चुके है। इस टेस्ट को पारदर्शिता से करवाने के लिए जल्द ही फील्ड इनवेस्टीगेटरों की ट्रैंनिंग करवाई जाएगी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Tonk

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×