• Home
  • Rajasthan News
  • Tonk News
  • सफाई कर्मियों की भर्ती : एमए के बेरोजगारों ने भी किया आवेदन, सामान्य वर्ग के भी नहीं रहे पीछे
--Advertisement--

सफाई कर्मियों की भर्ती : एमए के बेरोजगारों ने भी किया आवेदन, सामान्य वर्ग के भी नहीं रहे पीछे

शहर में सफाई कर्मचारियों की भर्ती के लिए 15 मई तक लिए गए आवेदनों की तस्वीर साफ हो गई है। 391 पदों के लिए 1436 बेरोजगारों ने...

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 07:30 AM IST
शहर में सफाई कर्मचारियों की भर्ती के लिए 15 मई तक लिए गए आवेदनों की तस्वीर साफ हो गई है। 391 पदों के लिए 1436 बेरोजगारों ने आवेदन किया है। इसमें खास बात यह है कि बीए,एमए तक के सामान्य वर्ग से जुडे बेरोजगारों ने भी आवेदन किया है। अब एक माह तक नगर परिषद की ओर से इन आवेदन फार्मो को जांचा जाएगा। उसके बाद उच्चनिर्देशों पर लॉटरी सिस्टम से सफाईकर्मियों की भर्ती की जाएगी। इसी के साथ नगर परिषद में सफाई कर्मियों की लंबे समय से चल रही कमी काफी हद तक दूर हो जाएगी।

विदित रहे कि करीब दो लाख की आबादी वाली नगर परिषद में सफाई कर्मियों की कमी बनी हुई है। इसको लेकर 2013 में चुनावों के दौरान सफाई कर्मियों की भर्ती करने का आश्वासन दिया था। इस पर सभापति लक्ष्मी जैन भी लंबे समय से इस भर्ती को लेकर प्रयासरत थी। आखिरकार नए साल में सरकार ने जिले में 391 सफाई कर्मियों की भर्ती करने की स्वीकृति दी। इसके बाद गत दिनों से 15 मई तक सफाईकर्मियों के पदों के लिए आवेदन मांगे थे। इस तिथि में 1436 बेरोजगारों ने आवेदन किए है। अब इनका चयन लॉटरी सिस्टम से किया जाएगा।

जल्द ही कर ली जाएगी भर्ती प्रक्रिया पूरी

सभापति लक्ष्मी जैन ने बताया कि सरकार ने पीएम मोदी के स्वच्छ भारत मिशन को सफल बनाने की दिशा में कार्य करते हुए सफाई कर्मियों की भर्ती निकाली है। इसके तहत आवेदन जमा कराने की प्रक्रिया पूरी कर ली गई है। जुलाई में सफाईकर्मियों की भर्ती पूरी कर ली जाएगी। उसके बाद परिषद क्षेत्र में सफाई व्यवस्था और बेहतर हाेगी।

अभी 120 स्थायी सफाईकर्मी है

नगर परिषद क्षेत्र में अभी 120 स्थायी सफाई कर्मचारी है। जबकि जरुरत 800 की है। अब ऐसे मे बहरहाल सफाई व्यवस्था को सुचारू बनाए रखने के 180 जनों को ठेके पर ले रखे है। नियमानुसार एक हजार की आबादी पर चार सफाईकर्मियों की जरुरत होती है। इस भर्ती के बाद आठ सौ की संख्या तो सफाईकर्मियों की नहीं हो पाएगी, लेकिन काफी हद तक सफाई कर्मियो की कमी पूरी हो जाएगी।

ये सफाई के साधन

घर से कचरा संग्रहण वाहन 30, छह ट्रैक्टर, दो डंपर, दो जेसीबी, एक नाला सफाई वाहन, एक रोड स्वीपर वाहन है। इनके माध्यम से कर्मचारी सफाई व्यवस्था पुख्ता रखते है। शहर की सफाई व्यवस्था को नो जोन में बांट रखा है।

निकाली जाएगी लॉटरी