विज्ञापन

प्रशासन की तमाम कोशिशों के बाद भी बनास में बजरी खनन

Dainik Bhaskar

Mar 17, 2019, 06:25 AM IST

Tonk News - बनास नदी में बजरी खनन पर भले ही सुप्रीम कोर्ट की ओर से रोक लगाए पंद्रह महिनों से ज्यादा समय हो चुका हैं। लेकिन जिले...

Tonk News - rajasthan news after all the administration39s efforts gravel mining in banas
  • comment
बनास नदी में बजरी खनन पर भले ही सुप्रीम कोर्ट की ओर से रोक लगाए पंद्रह महिनों से ज्यादा समय हो चुका हैं। लेकिन जिले में अवैध खननकर्ता बनास नदी आज भी चांदी कूट रहे हैं। बनास नदी किनारे बसे गाव ही नही जिला मुख्यालय पर भी बजरी से भरी ट्रेक्टर ट्रॉलिया दिखाई देना हैरत की बात नही हैं। लोगों का आरोप हैं कि अल सुबह रोजनो शहर के बीच से होकर बजरी से भरी ट्रेक्टर-ट्राॅलिया आसानी से देख सकते हैं।

दूसरी ओर खनिज विभाग के अधिकारियों माने तो बनास नदी में अवैध खननकर्ता संगठित होकर अवैध बजरी खनन करते हैं ताकि विभाग, प्रशासन या पुलिस अधिकारियों के उनतक पहुंचने से पूर्व वह अपना वाहन बचाकर निकाल ले। वही इस दौरान वह गश्ती दल पर भी हमला करने से नही चूकते हैं। पिछले साल सहायक खनिज अधिकारी व गश्ती दल गाड़ियों पर अवैध खननकर्ताओं ने हमला कर दिया था। साल 19 नवंबर 2018 को पीपलू-नाथड़ी मोड़ पर अवैध खननकर्ताओं ने खनिज विभाग के दल पर हमला कर दिया था। जिसमें विभाग की गाड़ी क्षतिग्रस्त हो गई थी। वही आरएसी के 5 जवान गंभीर रुप से घायल होने के साथ-साथ अधिकारियों को चोंटे आई थी। जिलेभर में अवैध बजरी खनन पर खनिज एवं पुलिस की संयुक्त कार्यवाहियों में वाहन जब्ती के अलावा करोड़ों का जुर्माना वसूला गया हैं। सहायक खनिज अधिकारी अमीचंद दुवारिया ने बताया कि सुप्रीम कोर्ट की रोक के बाद 16 नंवबर 2017 से इस साल 15 मार्च तक खनिज विभाग ने 1238 प्रकरणों में 8 करोड 76 हजार 425 रुपए की जुर्माना अवैध खननकर्ताओं पर लगाया हैं। प्रशासन की ओर से भी कार्यवाही की जा रही हैं लेकिन इन सबके बावजूद ना तो अवैध खननकर्ताओं के हौंसले पस्त ना होना इसमें बड़ी मिलीभगत की ओर इशारा करती हैं।

बजरी मजदूरों की रोजी-रोटी बंद हुई

16 नवंबर 2017 को सुप्रीम कोर्ट ने बनास में बजरी खनन पर पूर्णतया रोक लगा दी थी। जिसके बाद लीजधारकों की पोकलैंड मशीनों बंद होने के अलावा हजारों की संख्या में काम करने वाले बजरी मजदूरों के सामने रोजगार का संकट हो गया। परम्परागत रूप में बजरी मजदूरी करने वाले लोग अब घर चलाने के लिए अन्य मजदूरी कर गुजर-बसर कर रहे हैं।

कार्रवाई करते हैं हम

जिले की बनास नदी में अवैध रुप से खनन की शिकायत मिलने पर कार्यवाही की जाती हैं। शुक्रवार रात को भी खनन की शिकायत मिलने पर तहसीलदार और पुलिस की मदद से कार्यवाही कर छह डंपर जब्त किए हैं। अमीचंद दुवारिया, सहायक खनिज अभियंता, खनिज विभाग, टोंक

X
Tonk News - rajasthan news after all the administration39s efforts gravel mining in banas
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन