टेल पर पानी नहीं पहुंचने से किसान परेशान, कई गांवों ने कलेक्टर को दिया ज्ञापन

Tonk News - जिले के टोडारायसिंह की ग्राम पंचायत हमीरपुर, इंदोकिया, अलियारी व लांबाकला से आए किसानों ने कलेक्टर को ज्ञापन देकर...

Dec 04, 2019, 12:46 PM IST
Tonk News - rajasthan news farmers upset due to lack of water on tail many villages submitted memorandum to collector
जिले के टोडारायसिंह की ग्राम पंचायत हमीरपुर, इंदोकिया, अलियारी व लांबाकला से आए किसानों ने कलेक्टर को ज्ञापन देकर पुलिस की व्यवस्था कर टेल के किसानों को सिंचाई का पानी दिलवाने की मांग की हैं। किसानों ने बताया कि 20 नवंबर को डाक बंगला टोरडीसागर में आयोजित बैठक में कलेक्टर के आदेश पर 200 चैन तक 10 दिन, 400 चैन तक 10 व 600 चैन तक 10 दिन टेल पर पानी दिया गया था। निर्णय के बावजूद 200 चैन के रोटेशन को 14 दिन कर दिया गया। इससे आगे के व टेल के किसानों में भारी रोष हैं। उन्होने कहा कि इससे टेल के किसानों को पानी मिलना मुश्किल हैं। जबकि 2014 में बनाए नियम बनाए गए थे तक से आज तक कभी नियमों में बदलाव या उल्लंघन नही किया गया। उन्होने कहा कि 200 चैन तक हेड़ पर पानी का दबाव वैसे ही अधिक होता हैं। जबकि 200 चैन से आगे व टेल तक पानी का प्रेशर कम हो जाता हैं। जबकि नियमानुसार 30 तक दिन बाद भी नहर के बाकि 15 दिन चलने वाले नहर 200 चैक तक ही पानी काम आएगा। उन्होने कलेक्टर को ज्ञापन देकर आगे की चेनो को भी 14-14 दिन रोटेशन में दिए जाने की मांग करते हुए बताया कि पूर्व में भी मीड़िल कैनाल पर बिना आरएसी व प्रशासनिक व्यवस्था के सिंचाई नही की जा सकती थी। इसलिए टेल तक पानी पहुंचाने के लिए आरएसी व पुलिस की पुख्ता व्यवस्था करवाने के आदेश देकर टेल के किसानों को सिंचाई का पानी उपलब्ध करवाकर राहत पहुंचाई जाए।

टोडारायसिंह| एसडीएम को ज्ञापन सौंप कर आते देवपुरा व लाखोलाई के ग्रामीण।

घारेड़ा बांध का पानी एनिकटों में भरने से रोष

टोडारायसिंह| घारेडा बांध का पानी पर कुछ व्यक्तियों द्वारा मनमानी कर एनिकट भरने व मोरी को बंद कर पानी नही लेने देने से परेशान देवपुरा व लाखोलाई के ग्रामीणों ने मंगलवार को एसडीएम डॉ.सूरजसिंह नेगी को ज्ञापन सौंप अविलंब कार्यवाही की मांग की है। ग्रामीणों ने ज्ञापन से बताया है कि घारेडा सागर से नहर में पानी 1 दिसंबर को चालू कर दिया था। लेकिन इसके पानी को बालपुरा के मदन लाल व छोटू लाल 400 मीटर दूर लेजाकर चरागाह में बने अवैध एनिकट में भर रहे है। वही 2 दिसंबर को भी गांव के प्रभावशाली लोग श्योजी, गोपाल, हनुमान सहित अन्य लोग मिलकर ट्रैक्टर से मिट्टी लाकर मोरी को बंद कर दिए है। इससे पानी बंद हो चुका है। मना करने पर भी नही मान रहे है। ये लोग अन्य व्यक्तियों को सिंचाई नही करने देते है।

X
Tonk News - rajasthan news farmers upset due to lack of water on tail many villages submitted memorandum to collector
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना