पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Malpura News Rajasthan News The High Court Summoned Other Officials Including The Chief Secretary

हाईकोर्ट ने मुख्य सचिव सहित अन्य अधिकारियों से जवाब-तलब किया

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
मालपुरा। नगरपालिका मालपुरा में राजपुरा ग्राम पंचायत के बृजलाल नगर क्षेत्र को शामिल न कर नई ग्राम पंचायत बनाये जाने के प्रस्ताव के विरुद्ध दायर की गई जनहित याचिका पर राजस्थान उच्च न्यायालय की जयपुर पीठ ने बुधवार को राज्य के मुख्यसचिव , प्रमुख स्थानीय निकाय सचिव,प्रमुख पंचायती राज सचिव, स्थानीय निकाय निदेशक ,टोंक ज़िला कलेक्टर तथा मालपुरा के उपखण्ड अधिकारी से 26 अगस्त तक जवाब माँग कर पूछा है कि बृजलाल नगर को मालपुरा नगर पालिका में शामिल क्यो नही किया जा रहा है।

वरिष्ठ न्यायाधीश मोहम्मद रफ़ीक ओर न्यायाधीश नरेन्द्र सिंह ढड्ढा की खण्डपीठ ने यह अंतरिम आदेश मालपुरा के फलौदी बालाजी निवासी वीरेन्द्र कुमार शर्मा द्वारा एडवोकेट लक्ष्मीकान्त शर्मा मालपुरा के जरिये दायर की गई जनहित याचिका पर प्रारम्भिक सुनवाई करते हुए दिए है। जनहित याचिका में बताया गया है कि राज्य सरकार पंचायतों ओर नगर पालिकाओं का परिसीमन कर रही है उसमें राजपुरा पँचायत के ग्राम बृजलाल नगर,फलौदी बालाजी ओर अन्य क्षेत्र जो कि मालपुरा नगर पालिका के समीप स्थित है को राज्य सरकार नई ग्राम पंचायत बनाने का प्रस्ताव लंबित है ,किन्तु राजपुरा पँचायत ने यह क्षेत्र नगर पालिका मालपुरा में शामिल किए जाने का अनापत्ति प्रमाण पत्र दे दिया है तथा बृजलाल नगर क्षेत्र का विकास शुल्क ओर अन्य राशि नगर पालिका में ही जमा हो रही है किंतु फिर भी इस क्षेत्र को मालपुरा नगर पालिका में शामिल नही किया जा रहा है जबकि क्षेत्र के निवासी ग्रामीणों ने सरकार को कई बार ज्ञापन देकर बृजलाल नगर को मालपुरा नगर पालिका में शामिल करने की माँग करते रहे है। खण्डपीठ ने बुधवार को जनहित याचिका पर सुनवाई के बाद राज्य सरकार की अतिरिक्त महाधिवक्ता शीतल मिर्धा को याचिका की प्रति सौपने के आदेश देते हुए 26 अगस्त तक जवाब पेश करने को कहा है ।

बृजलाल नगर को पालिका में नहीं कर रहे शामिल 26 अगस्त तक बताओं

मालपुरा। नगरपालिका मालपुरा में राजपुरा ग्राम पंचायत के बृजलाल नगर क्षेत्र को शामिल न कर नई ग्राम पंचायत बनाये जाने के प्रस्ताव के विरुद्ध दायर की गई जनहित याचिका पर राजस्थान उच्च न्यायालय की जयपुर पीठ ने बुधवार को राज्य के मुख्यसचिव , प्रमुख स्थानीय निकाय सचिव,प्रमुख पंचायती राज सचिव, स्थानीय निकाय निदेशक ,टोंक ज़िला कलेक्टर तथा मालपुरा के उपखण्ड अधिकारी से 26 अगस्त तक जवाब माँग कर पूछा है कि बृजलाल नगर को मालपुरा नगर पालिका में शामिल क्यो नही किया जा रहा है।

वरिष्ठ न्यायाधीश मोहम्मद रफ़ीक ओर न्यायाधीश नरेन्द्र सिंह ढड्ढा की खण्डपीठ ने यह अंतरिम आदेश मालपुरा के फलौदी बालाजी निवासी वीरेन्द्र कुमार शर्मा द्वारा एडवोकेट लक्ष्मीकान्त शर्मा मालपुरा के जरिये दायर की गई जनहित याचिका पर प्रारम्भिक सुनवाई करते हुए दिए है। जनहित याचिका में बताया गया है कि राज्य सरकार पंचायतों ओर नगर पालिकाओं का परिसीमन कर रही है उसमें राजपुरा पँचायत के ग्राम बृजलाल नगर,फलौदी बालाजी ओर अन्य क्षेत्र जो कि मालपुरा नगर पालिका के समीप स्थित है को राज्य सरकार नई ग्राम पंचायत बनाने का प्रस्ताव लंबित है ,किन्तु राजपुरा पँचायत ने यह क्षेत्र नगर पालिका मालपुरा में शामिल किए जाने का अनापत्ति प्रमाण पत्र दे दिया है तथा बृजलाल नगर क्षेत्र का विकास शुल्क ओर अन्य राशि नगर पालिका में ही जमा हो रही है किंतु फिर भी इस क्षेत्र को मालपुरा नगर पालिका में शामिल नही किया जा रहा है जबकि क्षेत्र के निवासी ग्रामीणों ने सरकार को कई बार ज्ञापन देकर बृजलाल नगर को मालपुरा नगर पालिका में शामिल करने की माँग करते रहे है। खण्डपीठ ने बुधवार को जनहित याचिका पर सुनवाई के बाद राज्य सरकार की अतिरिक्त महाधिवक्ता शीतल मिर्धा को याचिका की प्रति सौपने के आदेश देते हुए 26 अगस्त तक जवाब पेश करने को कहा है ।

खबरें और भी हैं...