टोडारायसिंह में दो डॉक्टर के भरोसे 50 बेड का अस्पताल

Tonk News - कई सरकारें आई और गई लेकिन आज भी यहां के राजकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में डॉक्टरों की सुविधा वैसी है जैसी...

Bhaskar News Network

Apr 17, 2019, 10:30 AM IST
Todaraisingh News - rajasthan news two doctor39s trust in todaray singh 50 bed hospital
कई सरकारें आई और गई लेकिन आज भी यहां के राजकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में डॉक्टरों की सुविधा वैसी है जैसी शुरू में थी। उपखण्ड मुख्यालय का अस्पताल में पहले भी दो डॉक्टर थे और आज भी दो डॉक्टर है। आज भी अस्पताल में फिजीशियन, सर्जन, महिला गाइनिक व चाइल्ड रोग विशेषज्ञ की नियुक्ति नही करने से रोगियों को रेफर का दर्द झेलना पड़ रहा है।

उपखण्ड क्षेत्र की करीब डेढ़ लाख की आबादी केवल दो डॉक्टर नियुक्त है। स्वास्थ्य संबंधी राहत अभी तक नहीं मिलने से यहां के लोग परेशान है। यहां वर्षों से सर्जन व गाइनिक चिकित्सक जैसे महत्वपूर्ण डॉक्टरों का नहीं होना सबसे अधिक पीड़ादायक बना हुआ है। बीच बीच में एक दो डॉक्टर लगा भी दिए जाते है तो वे ज्वाइन नही करते है। उपखण्ड मुख्यालय के 50 बेड के अस्पताल में हालात वही ढाक के तीन पात ही है। ऐसे में यहां की जनता उपचार के लिए गत 50 सालों से इधर उधर भटने पर विवश है।

विडंबना यह है कि जिले का यह पहला उपखण्ड मुख्यालय है जहां पर निजी अस्पताल भी नहीं है। अंतत: यहां के लोगों को उपचार के लिए दूसरे शहर का ही रास्ता चुनना पड़ता है। इसमें आम आदमी के लिए सबसे अधिक संकट बना हुआ है। महिला गाइनिक के अभाव में महिलाओं को उपचार के लिए बाहर जाना पड़ता है। अस्पताल में 300-400 मरीज रोजाना उपचार के लिए आते है। इनमें से साधारण बीमारी वाले को छोड़ बाकी मरीजों को रेफर होना पड़ता है। आज के परिवेश में गांवों के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर ही दो-दो डॉक्टर सेवाएं दे रहे है। वहीं यहां के अस्पताल में केवल उपचार के लिए दो एमबीबीएस डॉक्टर है। एक दंत रोग विशेषज्ञ है। इनमें भी एक छुट्टी चले जाते है ताे एक ही डॉक्टर ही उपचार के लिए रहते है। इससे एक डॉक्टर पर मरीजों का दबाव बना रहता है। इससे उनको आराम नही मिल पाता है। अस्पताल में फिजीशियन, सर्जन, महिला गाइनिक व शिशु रोग विशेषज्ञ जैसे महत्वपूर्ण डॉक्टर नही होना पीड़ादायी बना हुआ है। इनमें खास कर महिलाओं व शिशुओं को उपचार की सर्वाधिक परेशानी होती है। सर्जन डॉक्टर का पद तो गत 7 साल से रिक्त चल रहा है।

टोडारायसिंह | मुख्यालय का अस्पताल जहां डॉक्टरों का टोटा।

समस्या का आज तक समाधान नहीं

पूर्व पार्षद मुकेश जैन का कहना है कि अस्पताल की समस्या का आजतक किसी ने समाधान नही किया है। अस्पताल में सर्जन, गाइनि, फिजीशियन, बाल रोग विशेषज्ञ नही होने से यहां की जनता के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ हो रहा है। जिले के अन्य उपखण्ड मुख्यालय पर 15-15 डॉक्टर नियुक्त है। वहां से एक डॉक्टर को डेपुटेशन पर लगा कर तो व्यवस्था ॉकी जा सकती है।

X
Todaraisingh News - rajasthan news two doctor39s trust in todaray singh 50 bed hospital
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना