• ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स

Best of City

नागदा

छठीं शताब्दी में बप्पा रावल की पहली राजधानी नागदा के निशान अब भी अरावली की कंदराओं में सिमटे पड़े हैं। नागदा के इतिहास को जानने के लिए आज भी बड़ी संख्या में पर्यटक आते है। हालांकि आज यह मुख्य तौर पर सास बहू मंदिर के नाम से जाना जाता है। सास बहू मंदिर की कहानी 9वीं से लेकर 10वीं शताब्दी तक मिलती है। इसकी निर्माण शैली और स्थापत्य कला लोगों को आकर्षित करती है।

Address: नाथद्वारा रोड, एकलिंगजी मंदिर के पास, रामागांव, राजसमंद

दोस्तों से शेयर करें

Email 
 
  
 
विज्ञापन

RECOMMENDED