--Advertisement--

डेढ़ साल पहले पकड़े थे अमोनियम नाइट्रेट के 270 कट्‌टे, 2 सप्लायर गिरफ्तार

महाराष्ट्र से लाया गया था उदयपुर में जब्त हुआ अमोनियम नाइट्रेट

Danik Bhaskar | Dec 14, 2017, 07:35 AM IST

जयपुर/उदयपुर. करीब डेढ़ साल पहले पकड़े गए विस्फोटक अमोनियम नाइट्रेट के 270 कट्टे महाराष्ट्र से फर्जी बिल्टी बनाकर लाए गए थे। ये कट्टे महाराष्ट्र पुणे स्थित मैसर्स पैरी नाइट्रेट प्राइवेट लिमिटेड के यहां से सप्लाई किया गया था। एसओजी ने बुधवार को पैरी नाइट्रेट के प्राइवेट लिमिटेड के ताटीपर्ती सुब्रमन्य शर्मा (47) तथा सवेश्वर राव (46) को गिरफ्तार कर लिया। दोनों पुणे के रहने वाले हैं और सगे भाई हैं।

एटीएस एडीजी उमेश मिश्रा ने बताया कि गत वर्ष फरवरी मार्च में उदयपुर के प्रतापनगर थाना इलाके में पुलिस ने 270 कट्टे अमोनियनम नाइट्रेट के पकड़े थे। जांच के लिए स्पेशल इन्वेस्टिगेशन यूनिट बनाकर उदयपुर एटीएस विंग की एएसपी रानू शर्मा को सौंपी।

जांच में सामने आया कि पकड़े गए अमाेनियम नाइट्रेट के कट्टों का कन्साइनमेंट पुणे स्थित मैसर्स दीपक फर्टीलाइजर्स प्राइवेट लिमिटेड से तैयार हुआ था। कट्टों के बार कोड की जांच की तो सामने आया कि ये कट्टे मैसर्स दीपक फर्टीलाइजर्स से महाराष्ट्र के रायगढ़ स्थित रायगढ़ एन्टरप्राइजेज के यहां रखे गए थे। जहां से पुणे की मैसर्स परी नाइट्रेट प्राइवेट लिमिटेड को सप्लाई किए गए थे। अभी तक यह पता नहीं चल पाया है कि ये कट्टे राजस्थान में कहां सप्लाई किए जाने थे।

उल्लेखनीय है कि प्रतापनगर थाने में डेढ़ साल पहले अमोनियम नाइट्रेट के ट्रक पकड़े थे। लगातार जांच में इंदौर निवासी मूलत: भीलवाड़ा के अविनाश बाहेती को गिरफ्तार किया था। आरोपी ने मध्यप्रदेश, उत्तरप्रदेश और राजस्थान में फर्जी कंपनियां बनाकर अमोनियम नाइट्रेट के ट्रक की तस्करी की थी।