Hindi News »Rajasthan »Udaipur» Arrest In Charge Of Breach Of Peace

एडीएम के घर पहुंचा युवक बोला- मैंने 150 लोगों को बाढ़ में बचाया, फिर भी नहीं किया सम्मान, शांतिभंग के आरोप में अरेस्ट

22 तारीख को मैंने पूछा तो बताया कि नाम है, लेकिन सूची में मेरा नाम नहीं था।

Bhaskar News | Last Modified - Jan 28, 2018, 06:57 AM IST

एडीएम के घर पहुंचा युवक बोला- मैंने 150 लोगों को बाढ़ में बचाया, फिर भी नहीं किया सम्मान, शांतिभंग के आरोप में अरेस्ट

सिरोही.जिला स्तरीय गणतंत्र दिवस समारोह में सम्मानितों की चयन प्रक्रिया को लेकर जिला प्रशासन पर उस समय सवाल खड़े हो गए। जब एक दिन पहले घोषित सूची में नाम नहीं होने के बावजूद एसीबी के आरोपी बाबू को सम्मानित कर दिया गया। इसके बाद सोशल मीडिया पर भी लोगों ने कई सवाल उठाए। इधर, एक अन्य मामले में सम्मानितों की सूची में नाम नहीं होने की आपत्ति दर्ज कराने पर प्रशासन ने एक युवक को पुलिस के हवाले कर दिया।


शुक्रवार को जैसे ही गणतंत्र दिवस समारोह संपन्न हुआ एक युवक और उसके साथी एडीएम के आवास पर पहुंचे। युवक रणछोड़ देवासी का कहना था कि उसने बाढ़ के दौरान 150 लोगों की जान बचाई, लेकिन उसे सम्मानित नहीं किया गया जबकि उसने इसके लिए सभी दस्तावेज तय समय पर जमा भी करवाए, लेकिन यहां एडीएम की सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने रणछोड़ देवासी और उसके साथी कलाराम व राकेश को शांतिभंग के आरोप में गिरफ्तार कर लिया।

एसीबी के आरोपी को किया सम्मानित
गणतंत्र दिवस के जिला स्तरीय मुख्य समारोह में नगरपरिषद के कनिष्ठ लिपिक रामलाल परिहार को मुख्य अतिथि कलेक्टर संदेश नायक ने प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। इसके बाद सोशल मीडिया पर सवाल उठे कि परिहार के खिलाफ भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो में एक करोड़ से ज्यादा की अनियमितता के जुलाई 2015 और सितंबर 2015 को दो अलग-अलग मामले दर्ज हैं। खास बात यह है गणतंत्र दिवस पर सम्मानित होने वालों की प्रशासन ने 24 जनवरी को जो सूची जारी की थी। उसमें रामलाल परिहार का नाम शामिल ही नहीं था।


समस्त दस्तावेजों समेत किया था आवेदन
मैंने गणतंत्र दिवस पर सम्मानित होने के लिए बाढ़ के दौरान 150 लोगों को बचाने से जुड़े समस्त दस्तावेजों समेत आवेदन किया था। इसमें ओटाराम देवासी, जिलाप्रमुख, प्रधान, भाजपा जिलाध्यक्ष और अनादरा थाने का पत्र शामिल था। 22 तारीख को मैंने पूछा तो बताया कि नाम है, लेकिन सूची में मेरा नाम नहीं था।
-रणछोड़ देवासी

मेरे खिलाफ कोई मामला नहीं
व्यक्तिगत मेरे खिलाफ कोई मामला एसीबी में दर्ज नहीं है और न ही भ्रष्टाचार का कोई आरोप सिद्ध हुआ है। राष्ट्रीय पर्वों समेत सरकारी कार्यक्रमों में तत्परता से काम कराने के लिए प्रशासन ने मुझे सम्मानित किया है।
-रामलाल परिहार

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Udaipur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: ediem ke ghr phunchaa yuvak bolaa- mainne 150 logon ko baadhe mein bchaayaa, fir bhi nahi kiyaa smmaan, shaantibhnga ke aarop mein arest
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Udaipur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×