Hindi News »Rajasthan »Udaipur» Boats To Be Started Soon To Visit Nehru Garden

हाईकोर्ट से स्टे हटा, नेहरू गार्डन की सैर कराने के लिए जल्द चलेंगी नावें

11 माह से बंद हैं नावें, गार्डन पड़ा वीरान, झील किनारे पर्यटकों का ठहराव भी घटा

Bhaskar News | Last Modified - Dec 27, 2017, 04:12 AM IST

हाईकोर्ट से स्टे हटा, नेहरू गार्डन की सैर कराने के लिए जल्द चलेंगी नावें

उदयपुर. फतहसागर में नेहरू गार्डन की सैर जल्द शुरू होगी। ठेकेदारों के आपसी विवाद के कारण हाईकोर्ट से स्टे होने से 11 महीनों से गार्डन तक नावों को संचालन बंद करना पड़ा था। अब कोर्ट से स्टे हट गया है, जिसके बाद पीडब्ल्यूडी ने नावें चलाने का टेंडर फिर से करने की तैयारी शुरू कर दी है। झील के बीच में गार्डन हाेने से पर्यटक और शहरवासी इसमें घूमने के लिए उत्सुक रहते हैं। स्टे के कारण नौकायन बंद करना पड़ा था, जिससे गार्डन घूमने वाले लोगों की हसरत पूरी नहीं हो सकी थी। अब समय रहते टेंडर प्रक्रिया पूरी होने पर सभी को फिर से नेहरू गार्डन देखने, घूमने का माैका मिल सकेगा। गार्डन के लिए नौकायन बंद रहने से फतहसागर किनारे पर्यटकों का ठहराव भी कम हुआ है।

जनवरी 2017 से नहीं चली नावें

नाव से गार्डन आने-जाने के लिए प्रति व्यक्ति 15 और 30 रुपए किराया होने से प्रतिदिन 500 लाेग गार्डन देखने पहुंचते थे। सीजन के समय यह संख्या 1500 तक भी पहुंच जाती। नावें बंद पर पर्यटकों को हुई परेशानी पर भास्कर ने समाचार प्रकाशित कर विभागों का ध्यान खींचा था कि जनवरी 2017 से नावें बंद होने से गार्डन वीरान पड़ा है।

स्टे हट गया है, जल्द नए टेंडर करेंगे
नेहरू गार्डन तक नाव संचालन की टेंडर प्रक्रिया पर हाईकोर्ट से स्टे आया था। स्टे अब हट गया है। पर्यटन सुविधा को देखते हुए जल्द ही दोबारा टेंडर प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी। विभाग खुद चिंतित है कि नावें नहीं चलने से खूबसूरत नेहरू गार्डन भी वीरान पड़ा है।
- सीएम माथुर, एसई, पीडब्ल्यूडी उदयपुर
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Udaipur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: highkort se ste htaa, neharu gaaardn ki sair karaane ke liye jld chlengi naaven
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Udaipur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×