--Advertisement--

ऑपरेशन कर गलत धागे से सिल दिया पेट, ब्रेन डेड होने से वेंटिलेटर पर बच्चा

भंडारी बाल चिकित्सालय में इलाज में लापरवाही की शिकायत, थाने तक पहुंचा मामला

Dainik Bhaskar

Jan 06, 2018, 04:18 AM IST
doctors negligence in minor patient operation

उदयपुर. भूपालपुरा स्थित भंडारी बाल चिकित्सालय में 19 दिन से भर्ती 11 माह के बच्चे हर्षित के इलाज में लापरवाही का परिवाद शुक्रवार रात 10 बजे थाना भूपालपुरा में दिया गया है। नवजात के पिता नांदवेल आेरड़ी, डबोक निवासी उदयलाल मेघवाल ने परिवाद देकर हॉस्पिटल के डॉ. शैलेन्द्र सिंह, डॉ. सुदर्शन, डॉ. हरित भंडारी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

- उदयलाल का आरोप है कि उनके बच्चे के ऑपरेशन में डॉक्टरों ने गंभीर लापरवाही बरती है।

- डॉ. शैलेन्द्र सिंह ने बच्चे का ऑपरेशन कर उसके पेट को गलत धागे से सिल दिया, क्योंकि उस समय हॉस्पिटल में बच्चों के टांके सिलने वाला धागा ही नहीं था।

- इससे बच्चे के टांकों में पस जमा हो गई। 18 दिन बाद गुरुवार को टांके नहीं सूखे तो लापरवाही पूर्ण तरीके से स्प्रे छिड़क कर सुखाने की नाकाम कोशिश की।

- हॉस्पिटल के डॉक्टरों ने अब बोल दिया है कि बच्चे का ब्रेन डेड हो गया है, जिसके जिंदा रहने की उम्मीद लगभग खत्म हो गई है। वे कह रहे हैं कि बच्चे को यहां से ले जाओ। हालांकि, इस मामले में हॉस्पिटल प्रबंधन ने लापरवाही के आरोप नकार दिए हैं। भूपालपुरा थाना पुलिस मामले की पड़ताल कर रही है।


18 दिसंबर को हॉस्पिटल में भर्ती है बच्चा

- उदयलाल ने यह भी आरोप लगाए हैं कि 18 दिसंबर को बच्चे को हॉस्पिटल में भर्ती किया गया। इसके बाद जब डॉ. शैलेन्द्र सिंह ने बच्चे का ऑपरेशन किया तक हॉस्पिटल में बच्चों के टांके सिलने वाला धागा तक नहीं था।

- उन्होंने आनन-फानन में गलत धागे से बच्चे के पेट को सिल दिया। जबकि बच्चे के इलाज का अब तक का 2.5 लाख रुपए का बिल बनाया है। इसमें से करीब 2 लाख रुपए का भुगतान कर दिया है।

बचाने की कोशिश की थी, लेकिन अब बच्चे का ब्रेन डेड हो गया है : डॉ. भंडारी
बच्च हॉस्पिटल में भर्ती है। डॉ. शैलेन्द्र सिंह ने उसका ऑपरेशन कर बचाने की पूरी कोशिश की है। सही धागे से ही बच्चे के पेट को ऑपरेशन कर सिला गया है। अब बच्चे का ब्रेन डेड हो गया है, जो वेंटिलेटर पर सांसें ले रहा है। परिजनों को बोल दिया है कि अब बच्चे के बचने के संभावना कम है। अगर वे चाहें तो कहीं और ले जा सकते हैं।
-डॉ. बी भंडारी, भंडारी बाल चिकित्सालय

उदयलाल और उसके साथियों ने परिवाद दिया। मामले की पड़ताल शुरू कर दी है। डॉक्टर बच्चे को वेंटिलेटर पर बता रहे हैं। कार्रवाई करेंगे।
-चांदमल, थानाधिकारी थाना भूपालपुरा

doctors negligence in minor patient operation
X
doctors negligence in minor patient operation
doctors negligence in minor patient operation
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..