--Advertisement--

कुछ पता न चले इसलिए बांधकर शव को झील में फेंका गया, बंधे थे दोनों पैर

जयसमंद झील में मिला परीक्षा देने उदयपुर आए ई मित्र संचालक का शव

Danik Bhaskar | Dec 28, 2017, 08:31 AM IST

जयसमंद/उदयपुर. जयसमंद झील में वलकुंडा मार्ग पर बुधवार सुबह युवक का शव मिलने से सनसनी फैल गई। उसके दोनों पैर बंधे हुए थे। शव के पास ही पर्स मिला जिसमें मौजूद आधार कार्ड से उसकी शिनाख्त सराडा के सल्लाडा गांव निवासी लक्ष्मण पुत्र किशन सालवी 30 वर्ष के रूप में की गई।

- सूचना पर पहुंचे मृतक के भाई देवीलाल ने पुलिस को बताया कि लक्ष्मण अविवाहित था और सलुम्बर में ई मित्र संचालक के रूप मे कार्य करता था। वह शुक्रवार को उदयपुर में ई मित्र की परीक्षा देने की बात बताकर निकला था। शुक्रवार शाम से ही उसका मोबाइल फोन स्विच ऑफ बता रहा था। पिता ने मंगलवार को सलुम्बर थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाई थी।

- जयसमंद पुलिस चौकी प्रभारी राजेंद्र सिंह मीणा, हेड कांस्टेबल राजेंद्र सिंह, कांस्टेबल अर्जुन मीणा, देहात जिला उपाध्यक्ष भाजपा शान्तिलाल मीणा पहुंचे और शव को पोस्टमार्टम के लिए ले गए।

- आशंका जताई जा रही है कि पहले युवक का अपहरण कर मारपीट के बाद अधमरा कर दिया गया। फिर दोनों पैर रस्सी से बांधकर युवक को ऊंचाई से झील में डाला गया। युवक के चेहरे पर चोट के निशान हैं। बताया जा रहा है कि शव पानी से बाहर न आए इसलिए पैर बांधकर झील में डालने की प्लानिंग बनाने की योजना बनाई होगी।

इस मार्ग पर दो शव पहले भी मिल चुके, खुलासा आज तक नहीं हुआ

इससे पहले भी इस सुनसान मार्ग पर दो युवकों की हत्या कर शव को झील में डाला गया था। लेकिन आजतक पुलिस किसी भी प्रकार का खुलासा और मृतकों की शिनाख्त नहीं कर पाई है। इस मार्ग पर शाम के बाद वाहनों का आवागमन बंद हो जाता है।