--Advertisement--

वाॅल आर्ट के जरिए फिर से ट्रेंड में आ रही है फोक, मांडणा और ट्रायबल आर्ट

जगदीश चौक और चांदपोल पुलिया पर बने स्ट्रीट आर्ट पर्यटकों को कर रहे आकर्षित

Danik Bhaskar | Jan 16, 2018, 05:35 AM IST

उदयपुर. लेकसिटी के प्रमुख टूरिस्ट प्लेस पर इन दिनों स्ट्रीट आर्ट का क्रेज बढ़ रहा है। इन ट्रेडिशनल आर्ट से शहरवासी और पर्यटक खासे आकर्षित हो रहे है। शहर के जगदीश चौक के आसपास के क्षेत्रों में दीवारों पर विदेशी और स्थानीय आर्टिस्टों ने पगड़ी पहने बुजुर्ग, ईगल, पानी लेने जाती महिलाएं, टेलीविजन को चर्चित कार्टून केरेक्टर के कई वॉल म्यूरियल आर्ट बनाए है। इसके अलावा चांदपोल स्थित पुलिया के पास भी ग्रामीण परिवेश पर बने आर्ट इन दिनों पर्यटकों के लिए आकर्षण बने हुए है। शाम को यहां कई पर्यटक वक्त बिताने आते है। आर्टिस्ट ममता सिंह ने बताया कि फतहसागर पर उनके द्बारा बनाई गई ट्रेडिशनल वॉल म्यूरियल को देखने काफी लोग पहुंच रहे हैं।

रेक्टेंगल, मंडाला और ओर्नामेंटल की जा रही है काफी पसंद

आर्टिस्ट ममता सिंह ने बताया कि राजस्थान की दुनियाभर में मशहूर कई पुरानी कलाकृतियां विलुप्त होती जा रही है। इन्हीं कलाओं के संरक्षण के लिए इन्हें वॉल आर्ट से जीवित किया जा रहा है। वॉल आर्ट से फिर से इस आर्ट में लोगो का रुझान बढ़ाया है। वॉल आर्ट में मांडना आर्ट को मेहंदी में भी बनाया जाता है और इसी तरह से लोगों की इसमें दिलचस्पी बढ़ रही है। आज के दौर में रेक्टेंगल, मंडाला एवं ओर्नामेंटल आर्ट को देश-विदेश में काफी पसंद किया जा रहा है। ममता ने बताया कि वे अब उदयपुर, जयपुर सहित अन्य शहरों में 50 से ज्यादा कमर्शियल वॉल आर्ट बना चुकी है।

शहर में फोक आर्ट अब तक होटल इंड्रस्ट्रीज में ही बनवाई जा रही थी, लेकिन अब होम इंटीरियर में भी इसे नए रूप में अपनाया जा रहा है। शहर के कलाकारों इस कला को बचाए रखने के लिए अब इसे इंटीरियर आर्ट से जोड़ दिया है। ट्रेडिशनल वॉल डेकोरेशन में कैनवास पर सजी फोक आर्ट भी आजकल फिर से ट्रेंड में आ गई है। जिससे वर्तमान पीढ़ी भी इस आर्ट से रूबरू हो रही है। सेलिब्रेशन मॉल में लगी ट्रेडिशनल वॉल भी मांडना थीम पर ही आधारित है। घरों, होटलों और रेस्टोरेंट में भी वॉल आर्ट का कल्चर काफी बढ़ गया है। इसमें फोक आर्ट, मांडना, ट्राइबल, गोंड और महाराष्ट्र वरली आर्ट प्रमुख है।