Home | Rajasthan | Udaipur | fraud brides gang active near udaipur area

7 फेरे लेकर घर की बहू बनती हैं वो, मौका देख सब लूटकर हो जाती हैं फरार

पुलिस में दर्ज मामलों में अधिकतर ऐसी दुल्हनों के नाम... पूजा, रानी, साेनू, प्रियंका

लकी जैन| Last Modified - Feb 15, 2018, 06:45 AM IST

1 of
fraud brides gang active near udaipur area

उदयपुर. वो शादी का सपना देख रहे लोगों की जिंदगी में खुशियों की सौगात लेकर आती है। सात फेरों के सात वचन लेकर जिंदगी भर का साथ निभाने का वादा कर घर में दस्तक देती है। फिर दो-चार दिन ससुराल में गुजारने के बाद उस दुल्हन का शातिर दिमाग अपने प्लान पर काम करना शुरू कर देता है। मौका मिलते ही अपने गिरोह के अन्य लोगों के साथ मिलकर वह ससुराल का सारा सामान, जेवर, पैसे लेकर रफूचक्कर हो जाती है। यह बॉलीवुड की मशहूर फिल्म डॉली की डोली की कहानी नहीं, बल्कि राजस्थान में पिछले कुछ माह में घटी ऐसी ही घटनाएं हैं जो निरंतर बढ़ रही हैं। प्रदेश में चार साल में फर्जी दुल्हन बनकर लड़के के घरवालों को लूटकर फरार हो जाने के 103 मामले दर्ज हुए हैं जिनमें सबसे ज्यादा पाली जिले में 11 ऐसी वारदातें हुईं हैं। 2017 में भी उदयपुर सहित संभाग के सभी जिलों से ऐसे कई मामले सामने आए हैं।

 

103 केस में 9 में दुल्हन का नाम पूजा, 30 में रानी, सोनू, प्रियंका

खास बात यह है कि पुलिस में दर्ज रिपोर्ट के अनुसार ऐसी ज्यादातर फर्जी दुल्हनों के नाम नाम पूजा, रानी, सोनू, प्रियंका और नेहा है। प्रदेश में दर्ज हुए मामलों में फर्जी दुल्हनों का पसंदीदा नाम पूजा सामने आया है। 103 मामलों में 9 केस ऐसे हैं जिनमें आरोपी दुल्हन का नाम पूजा था। इसके साथ 30 केस प्रियंका, रानी, नेहा, सोनू और संध्या नाम के हैं। जानकारों के अनुसार सोशल साइट पर भी अधिकतर युवा इन नामों से ही सर्च ज्यादा करते हैं।

 

संभाग में भी छह साल में ऐसे 11 मामले आए सामने

मेवाड़ भी फर्जी दुल्हनों के मामलों से अछूता नहीं रहा है। पिछले कुछ माह में उदयपुर, बांसवाड़ा, चित्तौड़गढ़, डूंगरपुर, प्रतापगढ़ में 2-2 मामले और राजसमंद में एक फर्जी दुल्हन बनकर लूट लेने का मामला दर्ज हुआ है। वहीं पिछले 6 साल में उदयपुर में फर्जी दुल्हन बनकर लूट लेने के 8 से ज्यादा मामले दर्ज हुए। इसमें 2 पिछले साल के हैं। 

 

गिरोह में दलाल के साथ दुल्हन, दुल्हन की मां, भाई, मामा, बुआ सभी होते हैं शामिल

आंकड़ों के अनुसार 4 साल में दर्ज ऐसे मामलों में 50 प्रतिशत केस का चालान भी नहीं हो सका है। इसका बड़ा कारण यह है कि वे लड़के वालों को फर्जी नाम, पता बताते हैं। दलाल, दुल्हन, दुल्हन की मां, भाई, मामा, बुआ सभी रिश्तेदारों का पूरा एक गिरोह होता है। ये शादी के लिए लड़की ढूंढ रहे परिवार वालों की रैकी करते हैं।  फिर उनसे मिलकर अपना फर्जी नाम, पहचान, दस्तावेज बताते हैं। इसलिए धोखाधड़ी के बाद मामलों का खुलासा करने में पुलिस को काफी परेशानी होती है या अधिकतर मामले पेंडिंग ही रह जाते हैं।

 

ऐसे मामले की जांच से जुड़े भूपालपुरा पूर्व थानाधिकारी चांदमल सिंगारिया ने बताया कि दलाल, दुल्हन, दुल्हन की मां, भाई, मामा, बुआ सभी रिश्तेदारों का पूरा एक गिरोह होता है। ये शादी के लिए लड़की ढूंढ रहे परिवार वालों की रैकी कर फर्जी बातें बता शादी फाइनल करते हैं। कई बार ऐसे परिवारों से संपर्क साधने के लिए मेट्रिमोनियल वेबसाइट्स का भी सहारा लेते हैं। शादी के दो-चार दिन बाद वह घर में खजाने का पूरा पता लगाती है। फिर कुछ दिन बाद मौका मिलते ही गिरोह के सदस्य की मदद से सामान, जेवर-नकदी लेकर फरार हो जाती है।

 

सोशल मीडिया भी बना जरिया : फर्जी आईडी बनाकर झांसे में लेते हैं

सोशल मीडिया में युवा’ं का क्रेज बढ़ते देख दलालों ने यहां से भी लोगों को झांसे में लेना शुरू कर दिया है। पुलिस के अनुसार ऐसे कई मामले सामने आए हैं, जिनमें युवतियों ने सोशल मीडिया के जरिए युवकों को फंसाया। ऐसे ज्यादातर लोग फर्जी नाम, पता से आईडी बनाते हैं और युवा’ को रिक्वेस्ट भेजकर जाल में फंसाते हैं।

 

केस-1 : गिरवी जमीन छुड़वाने 2 लाख लेकर फरार

भूपालपुरा के पुष्कर लाल छोटे बेटे की शादी के लिए लड़की की तलाश कर रहे थे। किसी व्यक्ति ने भरोसे में लिया और शादी तय हो गई। कोर्ट मैरिज के लिए एग्रीमेंट भी हो गया। युवती के भाई ने गिरवी जमीन छुड़वाने के नाम पर पुष्कर लाल से दो लाख रुपए उधार लिए। फिर कोर्ट में दस्तावेज जमा कराने के नाम पर जस्तावेज लाने कहीं गए और दोबारा नहीं मिले। जांच में पता चला कि लड़की का भाई नकली था।

 

केस-2: शादी के बाद घर से रुपए लेकर फरार

पिछले साल उदयपुर के सेमारी के युवक की शादी पूजा नाम की लड़की से हुई। लड़की का भाई बताकर विशाल नामक युवक ने रेशमा को सेमारी के युवक से मिलाया जो लड़की की तलाश कर रहा था। शादी हो गई। कुछ दिन तो सबकुछ ठीकठाक रहा फिर घर से दो लाख रुपए लेकर वह फरार हो गई। युवक ने मामला दर्ज करवाया तो मुश्किल से गिरोह का खुलासा हुआ। युवती महाराष्ट्र के सुंदरनगर की निकली। 

 

 

fraud brides gang active near udaipur area
prev
next
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now