--Advertisement--

होली पर डाक टिकट जारी करने वाला इकलौता देश है गुयाना; भारत में आजादी से आज तक होली पर टिकट जारी नहीं हुआ

होलिका दहन आज: होली का ये दुर्लभ डाक टिकट उदयपुर में संग्रहकर्ता विनय भाणावत के पास मौजूद है

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 01:20 AM IST
गुयाना ने 1969 में होली पर 6 से लेकर 40 सेंट तक के डाक टिकट जारी किए थे। गुयाना ने 1969 में होली पर 6 से लेकर 40 सेंट तक के डाक टिकट जारी किए थे।

उदयपुर. देश भर में आज होलिका दहन किया जाएगा। कल होली खेली जाएगी। इस त्योहार पर भारतीय डाक विभाग ने आजादी से आज तक कोई डाक टिकट जारी नहीं किया है। दक्षिण अमेरिका का गुयाना ही दुनिया का एकलौता ऐसा देश है, जिसने होली पर डाक टिकट जारी किया है। गुयाना की सरकार ने 26 फरवरी 1969 को चार डाक टिकटों का खूबसूरत सेट जारी किया था। इन टिकटों में राधा-कृष्ण को हाेली खेलते हुए दिखाया गया है। राधा पर कृष्ण पिचकारी से रंग डाल रहे हैं, जिससे राधा बचने का प्रयास कर रही हैं। वहीं, दूसरे टिकट में राधा की सखियां कृष्ण पर गुलाल डालती दिख रही हैं।

- ये डाक टिकट उदयपुर के मेवाड़ फिलैटली सोसायटी के संस्थापक अध्यक्ष विनय भाणावत ने संजो रखे हैं।

- भाणावत कहते हैं कि ये अफसोस की बात है कि जो त्योहार हमारे देश में इतना अहम है, उस पर भारतीय डाक विभाग ने अभी तक डाक टिकट जारी नहीं किए हैं।

- भाणावत का कहना है कि सरकार को होली ही नहीं, रक्षाबंधन और ईद जैसे त्योहारों पर भी डाक टिकट जारी करने चाहिए।

10 साल तक मांग चलती रही
- देश में दीपावली पर डाक टिकट जारी करने के लिए भी करीब 10 साल तक मांग चलती रही। इसके बाद 7 अक्टूबर 2008 को पहली बार दीपावली पर तीन डाक टिकट जारी किए गए थे।

- इसके बाद 5 नवंबर 2012 को और फिर बीते साल दो-दो डाक टिकट जारी किए गए। यहां भी गुयाना हमसे आगे रहा।

- गुयाना ने 1976 में ही दीपावली पर चार डाक टिकट जारी कर दिए थे, जिसमें महालक्ष्मी और दीपदान का चित्र बना है। इसके बाद सिंगापुर ने भी दिवाली पर डाक टिकट जारी किए।

- इसी तरह धनतेरस पर पूजे जाने वाले श्रीयंत्र पर भी एक मात्र टिकट भूटान ने जारी किया है। आयुर्वेद के जनक धनवंतरि पर भी भारत में कोई डाक टिकट जारी नहीं है। धनवंतरी पर 1977 में नेपाल ने डाक टिकट जारी किया था।

1976 में गुयाना सरकार ने दीपावली पर भी 8 सेंट के डाक टिकट जारी किए थे। 1976 में गुयाना सरकार ने दीपावली पर भी 8 सेंट के डाक टिकट जारी किए थे।