--Advertisement--

सड़क हादसे: सिर पर चोट से दो साल में मौतों का आंकड़ा 25 प्रतिशत बढ़ा

पुलिस ने 7 दिन में 1600 लोगों को ट्रैफिक नियम तोड़ते हुए पकड़ा, 2.35 लाख जुर्माना

Danik Bhaskar | Dec 27, 2017, 04:23 AM IST

उदयपुर. वाहन दुर्घटनाओं के दौरान हेलमेट नहीं पहनने से सिर में चोट लगने पर मौतों का ग्राफ बढ़ता जा रहा है। जिले के पिछले दो साल की बात करें तो सड़क दुर्घटना में मौत होने की संख्या में 25 प्रतिशत वृद्धि हुई है। बढ़ते आंकड़े को देख पुलिस विभाग की यातायात शाखा ने सख्ती दिखाते हुए सात दिन के अभियान में 1600 कार्रवाई कर 2 लाख 35 हजार रुपए का जुर्माना वसूला है।

- वहीं, खास बात यह है कि अभियान के समाप्त होने के बाद मंगलवार को कार्रवाई करते हुए 566 कार्रवाई कर एक लाख 10 हजार रुपए का जुर्माना वसूला है।

- इधर, दुर्घटनाओं पर नजर डाले तो साल 2015 में जिले में 997 दुर्घटनाओं में 1187 लोग घायल हुए तो 383 जनों की मौतें हुई थीं। जबकि साल 2016 में 1116 दुर्घटनाओं में 1245 लोग घायल हुए और 472 जनों की मौतें हुईं।

- इसी तरह साल 2017 में नवंबर तक 1182 दुर्घटनाओं में 1395 घायल और 451 लोगों की मौतें हो चुकी हैं। इनमें 95 प्रतिशत मौतें सिर में चोट लगने से हुईं।

घटिया हेलमेट से बचें

- पुलिस अधिकारियों ने बताया कि कई चालक हेलमेट पहनने के बाद भी दुर्घटना में मौत का शिकार हो जाते हैं। इसका कारण है कि खराब क्वालिटी के हेलमेट।

वाहन चलाते वक्त मोबाइल पर बात की तो कार्रवाई

- यातायात शाखा की तरफ से तीन सवारी और बिना हेलमेट पहनने वालों के खिलाफ तो कार्रवाई की जा रही है, लेकिन वाहन चलाते समय फोन का इस्तेमाल करने वाले चालकों के खिलाफ भी कार्रवाई की जरूरत जताई जा रही है। इससे भी शहर में कई दुर्घटनाओं पर लगाम लग पाएगा।

आगे भी जारी रहेगा अभियान : टीआई
दुर्घटनाओं में जितनी भी मौतें हुई, उनमें 90 प्रतिशत मौतें सिर में चोट लगने से हुईं। हेलमेट नहीं पहनने वालों और तीन सवारी बिठाने वालों के खिलाफ सख्ती से अभियान चलाया जा रहा है। यह आगे भी निरंतर रहेगा।
भैयालाल, टीआई, यातायात शाखा


ड्राइविंग लाइसेंस होंगे निरस्त : एएसपी
अभियान लगातार जारी रहेगा। बिना हेलमेट वाहन चलाने वाले दुपहिया वाहन चालकों और तीन सवारी बैठे दुपहिया वाहनों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाए। बार-बार यातायात नियमों का उल्लंघन करने वाले व्यक्तियों के ड्राइविंग लाइसेंस निरस्तीकरण करने की कार्यवाही और वाहन के पंजीयन को भी केंसिल करवाने की कार्रवाई होगी।
हर्ष रत्नू, एएसपी, शहर