--Advertisement--

आईआईएम सोलारिस: 11 कैटेगरी, 19 प्रतियोगिताएं, 5 लाख के इनाम

सोलारिस खुद ढूढंता है स्पॉन्सर, हर वर्ष करता है आयोजन, क्रिएटिविटी से लेकर नेतृत्व क्षमता, व्यवहारिक ज्ञान, विश्लेषण

Danik Bhaskar | Jan 02, 2018, 03:23 AM IST

उदयपुर. आईआईएम उदयपुर में प्रबंधन के विद्यार्थी खुद सीखने के साथ ही अन्य विद्यार्थियों में क्रिएटिविटी, नेतृत्व क्षमता, व्यवहारिक ज्ञान, विश्लेषण सिखाने, चर्चा में बात रखने का कौशल बढ़ाने के लिए हर साल विशेष प्रतियोगिताएं करवाते हैं। छात्रों का सोलारिस नामक समूह हर साल 5 लाख 7 हजार रुपए के 11 कैटेगरी की 19 प्रतियोगिताएं करवाता है। इन प्रतियोगिताओं में कड़ी मेहनत करवाकर प्रबंधन के चाणक्य तैयार किए जा रहे हैं।

- आईआईएम निदेशक प्रो. जनत शाह ने बताया कि यह काम सोलारिस के 6 विद्यार्थियों की टीम करती है। यह टीम इनाम के लिए स्पोंसरशिप भी ढूंढती है। संस्थान इसमें सहयोग करता है। हालांकि प्रतियोगिताएं ओपन रहती हैं। इसमें बाहरी विद्यार्थी भी हिस्सा ले सकते हैं, लेकिन अधिकांश विद्यार्थी आईआईएम के ही होते हैं। इसके अलावा आईआईएम में 6 सम्मेलन भी होते हैं। इसमें देश के प्रमुख लोगों को बुलाया जाता है।

प्रबंधन के चाणक्य गढ़ने को ये प्रतियोगिताएं आयोजित करवाता है आईआईएमयू

- वित्त संग्राम, वित्तीय जानकारी हासिल करना : ऑनलाइन क्विज, केस स्टडी, इनाम-50 हजार
- विश्लेषण, केस स्टडी करना, सीखना : इनाम- 30 हजार रुपए
- वाद विवाद, कम्यूनिकेशन स्किल के लिए
- दो राउंड, टीम व रैंक। इनाम - 50 हजार रुपए
- उदयपुर रन्स, जागरूकता संदेश देना
मैराथन, इनाम- 36 हजार रुपए


ट्विट्रिक्स : विषय पर पकड़ बनाने को : एक शब्द पर 140 शब्द लिखना: इनाम- 4 हजार
सेल योर प्रोफाइल, मार्केटिंग सीखना : तरीकों को खोजना, इनाम- 10 हजार रुपए।
सौदागर, आइडिया वास्तविकता में बदलना सीखना। इनाम - 50 हजार रुपए।
क्विज मी अप, विश्लेषण करना सीखना
इनाम- 15 हजार रुपए।
ऑप्स समस्या, समस्या समाधान सीखना :
लाइव केस सुलझाना।इनाम- 25 हजार रुपए।
ऑप्स एनिग्मा, सप्लाई चेन को समझना
इनाम-17 हजार रुपए।
मेडेड : पोस्टर पर बने टीवी सीरीज के चरित्रों पर कहानी तैयार करना। इनाम- 15 हजार।
इंफो ड्यू ग्राफिक, चीजों को ग्राफिक में बताना सीखते हैं : इनाम- 23 हजार रुपए।
एचआर आइडिया, आइडिया पॉवर बढ़ाने के लिए : इनाम- 8 हजार रुपए।
हैड रश, सामान्य ज्ञान बढ़ाने के लिए।
इनाम - 38 हजार रुपए।
एफ प्लान, बजट प्लानिंग करना सीखना।
इनाम- 35 हजार रुपए।
बिजविज, वास्तविक समस्या जानने में मददगार। इनाम- 30 हजार ।
ऑक्शनेयर, ब्रांड वैल्यू जानना सीखना।
इनाम - 40 हजार रुपए।
अर्थात, वित्तीय व्यवस्था जानने के लिए।
इनाम - 6 हजार
आरोहन, वित्तीय आपदाओं को हल करना सीखना। इनाम- 25 हजार रुपए।

सम्मेलनों में यह सिखाते हैं
द लीडरशीप सम्मिट - व्यवसाय जगत को लीड करना।
अर्थ संवाद - वित्त समस्याओं पर मंथन।
सम् वाह - मार्केटिंग के तरीके सीखना।
अंतरदृष्टि - एकेडमी और उद्योग के बीच विचारों का आदान-प्रदान।
उन्मेष - उद्योगों की जानकारी हासिल करना।
{अन्वेषण - आईटी और तकनीक में हो रहे बदलावों को जानना।
सोलारिस में यह शामिल : सोलारिस की टीम में इस वर्ष कन्वीनर उपासना कारवा, नीरज सशीन्द्रन, रजत जैन, मनवी कोठारी, नित्यानंदा साई के, मृन्मय चौधरी शामिल किए गए हैं। हर वर्ष यह सदस्य बदल जाते हैं।