--Advertisement--

अफराजुल हत्याकांड: उदयपुर में 72 घंटे बाद इंटरनेट सेवा बहाल, धारा 144 भी हटाई

अफराजुल हत्याकांड: सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक वीडियो डालने वालों पर रहेगी नजर

Danik Bhaskar | Dec 17, 2017, 05:31 AM IST
उदयपुर में 72 घंटे बाद इंटरनेट सेवा बहाल उदयपुर में 72 घंटे बाद इंटरनेट सेवा बहाल

उदयपुर. राजसमंद में बिल्डिंग ठेकेदार अफराजुल हत्याकांड को लेकर सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक वीडियो वायरल करने से पिछले दिनों बिगड़े माहौल के बाद एसपी और जिला कलेक्टर ने शनिवार शाम को प्रेस वार्ता कर तीन दिन से लागू धारा-144 को हटाने का आदेश दिया। वहीं, बुधवार शाम 8 बजे से बंद हुई इंटरनेट सेवा 72 घंटे बाद शनिवार शाम 8 बजे शुरू हो गई।

- एसपी राजेन्द्र प्रसाद गोयल ने कहा कि सोशल मीडिया पर किसी व्यक्ति के भड़काऊ मैसेज करने और उसे फॉरवर्ड करने या उस पर कमेंट करने वालों की जांच शुरू कर दी गई है।

- इसके लिए जिला कलेक्टर कार्यालय और पुलिस विभाग की तरफ से स्पेशल सेल काम कर रहा है। ऐसे व्यक्तियों की पहचान कर गिरफ्तार किया जाएगा और आईपीसी धारा-153 अ के तहत कार्रवाई
की जाएगी।

शंभु ने वारदात से एक दिन पहले की थी रिहर्सल

- अफराजुल की गैंती से हत्या करने वाले राजनगर निवासी शंभुलाल रेगर ने एक दिन पहले वारदात की रिहर्सल की थी। उसने भांजे सहित परिवार के किसी भी सदस्य को भनक तक नहीं लगने दी कि उसके दिमाग में क्या चल रहा है? यहां तक कि वारदात का लाइव वीडियो बनाने वाले अपने भांजे को भी सिर्फ यह बताया था कि, मैं एक मुस्लिम व्यक्ति से मारपीट करूंगा, उसका वीडियो तुझे बनाना है। 10 दिन के पुलिस रिमांड पर चले रहे शंभुलाल से पुलिस की पूछताछ में यह बात सामने आई है।


माहौल शांतिपूर्ण, पुलिस अब भी तैनात

- घटना के बाद से गत दस दिनों से शहर में पुलिस बल तैनात है। इधर,शुक्रवार सुबह से बंद इंटरनेट सेवा रात को चालू होने के बाद शनिवार को शांतिपूर्ण माहौल रहा।

- थानाधिकारी रामसुमेर मीणा ने बताया कि आरोपी शंभुलाल से पूछताछ की जा रही है।

- आरोपी शंभुलाल ने घटना के वक्त लाइव वीडियो बनाने वाले भांजे को भी मारपीट करने की बात कहते हुए वीडियो बनाने को कहा था।

- घटना के एक दिन पूर्व घटना स्थल पर अपने भांजे के साथ पहुंचा और पूरी वारदात की रिहर्सल की। इसके बाद वारदात कर भांजे व बेटी के साथ फरार हो गया।

- वारदात वाले दिन दोपहर साढ़े 12 बजे शंभुलाल का छोटा भाई लोकेश खेत पर गया तो अधजला शव होने का पता चला।

- लोकेश ने शव की सूचना देने के लिए अपने भाइयों को फोन लगाया तो शंभुलाल ने फोन नहीं उठाया था। इसके बाद उसने वारदात की सूचना पुलिस को दी थी।

- पुलिस ने आरोपी शंभुलाल से अफराजुल का मोबाइल भी बरामद कर लिया है। अफराजुल के पास दो मोबाइल थे। इसमें एक तो वारदात के वक्त साथ जल गया और एक मोबाइल शंभुलाल साथ ले गया था, जो पुलिस ने बरामद कर लिया है।

53 गिरफ्तार लोगों को नहीं मिली जमानत

- हुड़दंग करने के आरोप में गिरफ्तार 53 लोगों को शनिवार को कोर्ट में पेश किया गया। यहां न्यायिक मजिस्ट्रेट क्रम 2 दक्षिण की जज मनीषा चौधरी ने 25 और न्यायिक मजिस्ट्रेट क्रम 1 उत्तर दीपिका सिंह ने 28 लोगों की जमानत अर्जियां खारिज कर दी।

- वहीं, 9 दिसंबर को फेसबुक पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने के आरोप में गिरफ्तार दो लोगों की भी जमानत याचिका कोर्ट ने खारिज कर दी।

19 और 25 दिसंबर को बंद और रैली नहीं
- 19 और 25 दिसंबर को विभिन्न संगठनों की तरफ से रैलियां और उदयपुर बंद का आह्वान वापस ले लिया गया है। इस दिन किसी भी प्रकार का बंद नहीं है औैर न ही रैलियां निकाली जाएंगी। कलेक्टर-एसपी ने कहा कि लोग अफवाह पर ध्यान न दें।

एक नजर में तीन दिन का पूरा घटनाक्रम
- चेतक सर्कल पर आपत्तिजनक नारों का वीडियो वायरल होने के बाद बुधवार को विभिन्न संगठनों में आक्रोश फैल गया था। इसके बाद जिले में धारा 144 लागू की गई। साथ ही इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई। - गुरुवार को धारा-144 का उल्लंघन कर कुछ लोग कोर्ट चौराहे पर एकत्र हुए। पुलिस से झड़प के बाद हुड़दंगियों ने पथराव किया, जिसमें 32 पुलिस जवान व अधिकारी घायल हो गए।

- पुलिस ने लाठीचार्ज कर 207 लोगों को गिरफ्तार किया था। शुक्रवार को विहिप व बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया था।

अफराजुल हत्याकांड : सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक वीडियो डालने वालों पर रहेगी नजर अफराजुल हत्याकांड : सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक वीडियो डालने वालों पर रहेगी नजर