Hindi News »Rajasthan »Udaipur» Kautilya Said Reserved Category Should Be Highest Rank In Army

'सेना में आरक्षित वर्ग को मिलने चाहिए सैनिक से लेकर सबसे ऊंचे ओहदे'

संस्कृत में पहला ज्ञानपीठ पुरस्कार पाने वाले डॉ. सत्यव्रत शास्त्री से विशेष बातचीत

त्रिभुवन | Last Modified - Mar 14, 2018, 03:00 AM IST

  • 'सेना में आरक्षित वर्ग को मिलने चाहिए सैनिक से लेकर सबसे ऊंचे ओहदे'
    +1और स्लाइड देखें
    फाइल।

    उदयपुर. प्रसिद्ध संस्कृत विद्वान और इस भाषा में सबसे पहला ज्ञानपीठ पुरस्कार हासिल करने वाले लगभग नब्बे साल के डॉ. सत्यव्रत शास्त्री ने कहा कि कौटिल्य (चाणक्य) के अर्थशास्त्र की मानें तो देश की सेना में आरक्षित वर्ग के लोगों को सबसे ज्यादा और सबसे ऊंचे पद मिलने चाहिए। क्योंकि यही वर्ग है, जिसमें योद्धा के सभी गुण होते हैं। कौटिल्य ने यह बात अर्थशास्त्र के नौवें अधिकरण के बिंदु दो में कही है।

    - उन्होंने यह चौंकाने वाला तथ्य बताया कि कौटिल्य ने सेना में रिक्रूटमेंट में मनु का वह सिद्धांत पूरी तरह उलट दिया था, जिसमें ब्राह्मण सबसे ऊपर और शूद्र सबसे नीचे था।

    - कौटिल्य की नीति के बाद देश की सेना में शूद्र वर्ग सबसे ऊपर रहने लगा और ब्राह्मण सबसे नीचे तथा क्षत्रिय उससे थोड़ा ऊपर। लेकिन जैसे ही कौटिल्य की यह रिक्रूटमेंट नीति बदली, देश की सेना कमजोर होती चली गई और विदेशी आक्रांताओं के सामने पराजित होती रही।

    कौटिल्य की रिक्रूटमेंट नीति बदली, सेना कमजोर होती चली गई

    यह भी कहा

    - वाल्मीकि रामायण संस्कृत की सर्वश्रेष्ठ पुस्तक है। इसके बाद भगवद् गीता व अर्थशास्त्र आते हैं। भारत और संस्कृत बहुत उदार रहे हैं। वे विदेशी लोगों और विदेशी भाषाओं से सीखते और सिखाते रहे हैं।
    - कौटिल्य ने भ्रष्टाचार को रोकने के लिए आर्थिक विभागों में विजिलेंस टीमें बनाने के सुझाव दिए हैं।
    - भारत की सरकारों को दक्षिण एशिया के देशों में संस्कृत और संस्कृति के आधार पर रिश्तों को पुख्ता करना चाहिए, क्योंकि ज्यादातर देशों के साथ हमारे अच्छे रिश्तों की बुनियाद यही बात है। चाहे श्रीलंका, नेपाल, भूटान हों या म्यांमार या थाईलैंड।

    बैंकॉक में इनके नाम से पुस्तकालय
    - वे सबसे कम उम्र में साहित्य अकादमी पुरस्कार पाने वाले कवि हैं। उन्हें पद्मभूषण मिल चुका है। थाईलैंड की महाराजकुमारी को संस्कृत सिखा चुके हैं। थाईलैंड के एक विवि में जहां उन्होंने संस्कृत विभाग शुरू करवाया, वहां का पुस्तकालय उन्हीं के नाम से है।
    - उन्होंने इस्लाम और ईसाई धर्म के लोगों के संस्कृत भाषा में योगदान पर बहुत लिखा है।

  • 'सेना में आरक्षित वर्ग को मिलने चाहिए सैनिक से लेकर सबसे ऊंचे ओहदे'
    +1और स्लाइड देखें
    डॉ. सत्यव्रत शास्त्री
Topics:
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Udaipur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Kautilya Said Reserved Category Should Be Highest Rank In Army
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Udaipur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×