--Advertisement--

ये सचिन से पहले लगा चुके हैं दोहरा शतक, 50 मैच में हैं 8 शतक, 20 अर्द्धशतक

राजेन्द्र टीम इंडिया से 50 इंटरनेशनल मैच खेले जिसमें 8 शतक, 20 अर्द्ध शतक जड़ डाले।

Dainik Bhaskar

Dec 30, 2017, 07:23 AM IST
many records of Blind cricketer Rajendra Verma

उदयपुर. ब्लाइंड क्रिकेटर राजेंद्र वर्मा भले ही आंखों से देख नहीं सकते हैं लेकिन ब्लाइंड क्रिकेट में कई विश्व रिकॉर्ड इनके नाम हैं। वनडे में सचिन से पहले ही दोहरा शतक लगा चुके हैं। राजेन्द्र टीम इंडिया से 50 इंटरनेशनल मैच खेले जिसमें 8 शतक, 20 अर्द्ध शतक जड़ डाले। पांच मैचों की सीरीज में 576 रन भी बना चुके हैं। इसमें 1 दोहरा शतक, 2 शतक, 2 अर्द्ध शतक शामिल है।

15 साल तक इंडियन टीम के रहे मेंबर

आनंदधाम में चल रहे दृष्टिबाधित सशक्तिकरण सम्मेलन में हिस्सा लेने राजेंद्र उदयपुर आए हैं। पंद्रह साल तक इंडियन टीम से खेलने वाले राजेन्द्र बताते हैं कि बचपन से क्रिकेट का शौक था। कमेंट्री सुनता था। कपिल देव, सुनील गावस्कर के बारे में सुनकर क्रिकेट खेलने की इच्छा होती थी। देख नहीं पाता था लेकिन रेडियो पर सुनाई देने वाला मैदान का शोर कानों में गूंजता रहता था। एक दिन सोचा मैं खेल सकता हूं। फिर मैने ब्लाइंड क्रिकेट एकेडमी ज्वाइन कर ली। शुरुआत में परेशानी हुई।

ऐसे खेलते हैं ब्लाइंड क्रिकेट प्लास्टिक की बॉल में होते हैं छर्रे, आवाज सुनकर लगाते हैं शॉट

ब्लाइंड क्रिकेट का वनडे मैच 40 ओवर का होता है। स्टंप लोहे के और बॉल हार्ड प्लास्टिक की बनी होती है। इसमें छर्रे होते हैं। छर्रों की आवाज सुनकर बैटिंग की जाती है। अंडर आर्म बॉलिंग होती है। पिच मैदान की लंबाई सामान्य की तरह ही रहती है। 11 खिलाड़ियों को तीन श्रेणी बी1, बी2 बी3 में बांटते हैं। बी1 में शत प्रतिशत ब्लाइंड के 4 खिलाड़ी, बी2 में 80 प्रतिशत ब्लाइंड के 3 खिलाड़ी बी3 में 70 प्रतिशत ब्लाइंड के 4 खिलाड़ी होते हैं।

1991 में हुआ था नेशनल टीम में सिलेक्शन

1991 में नेशनल के लिए चयन हुआ। राजस्थान की ओर खेलते हुए पहले ही प्रथम क्लास मैच में नाबाद 146 रन बनाए। जिसमें 32 चौके शामिल थे। नेशनल के लिए चयन 1989 में जाेधपुर में हुई राज्य स्तरीय चैंपियनशिप में जयपुर की ओर से मैन ऑफ दी सीरीज रहने के बाद हुआ। उसमें उन्होंने तीन मैच में 10 विकेट लिए और 5 कैच पकड़े थे। 1993 से उन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट खेलनी शुरू की। लेफ्ट हेंड ओपनिंग बेट्समैन होने के साथ स्ट्राइक गेंदबाज भी रहे। राजेंद्र के साथी बैट्समेन निर्मल बताते हैं कि पाकिस्तान में राजेंद्र को आउट करने के लिए खिलाड़ियों पर इनाम रखे जाते थे। 2004 में हुई इंडो पाक वनडे सीरीज में कराची के नेशनल स्टेडियम में नाबाद दोहरा शतक लगाया। जयपुर के सांभर के रहने वाले राजेन्द्र फिलहाल थर्ड ग्रेड म्यूजिक टीचर हैं।

many records of Blind cricketer Rajendra Verma
many records of Blind cricketer Rajendra Verma
X
many records of Blind cricketer Rajendra Verma
many records of Blind cricketer Rajendra Verma
many records of Blind cricketer Rajendra Verma
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..