Hindi News »Rajasthan »Udaipur» No New Train Promised In Budget

कोई नई ट्रेन का वादा नहीं किया, अब 5 फरवरी को बजट आवंटन से आशा

डेढ़ गुना ज्यादा फंड की उम्मीद, पूरे होंगे सपने

Bhaskar News | Last Modified - Feb 02, 2018, 05:05 AM IST

  • कोई नई ट्रेन का वादा नहीं किया, अब 5 फरवरी को बजट आवंटन से आशा
    +1और स्लाइड देखें

    जयपुर. आम बजट के साथ गुरुवार को पेश हुए रेल बजट में जयपुर और राजस्थान के लिए फिलहाल कुछ खास नहीं है। हालांकि उत्तर-पश्चिम रेलवे प्रशासन का दावा है कि पिछले साल की तुलना में उन्हें करीब डेढ़ गुना ज्यादा फंड मिलने की उम्मीद है। ऐसे में कई रुके प्रोजेक्ट्स को गति मिल सकती है। बजट में जयपुर को कोई नई ट्रेन तो नहीं मिली, मगर 5 फरवरी को बजट आवंटन का पूर्ण विवरण जारी होने के बाद स्पष्ट हो जाएगा कि अमान परिवर्तन और विद्युतीकरण के राज्य के बड़े प्रोजेक्ट्स के लिए क्या मिलेगा।

    ये हैं हमारी उम्मीदें
    - जयपुर से गोविंदगढ़ वाया चौमूं ट्रैक का आमान परिवर्तन इस साल के अंत तक पूरा। उदयपुर से हिम्मतनगर और जयपुर से सीकर के बीच 50% काम हो जाएगा।

    - 930 किमी. ट्रैक के विद्युतीकरण की घोषणा हुई है। दिल्ली-जयपुर, जयपुर-सवाई माधोपुर, बांदीकुई-भरतपुर और जयपुर-अहमदाबाद सेक्शन में पूरा होने की उम्मीद।

    - सीकर-लुहारू विद्युत्तीकरण, खातीपुरा में कोच केयर कॉम्पलेक्स को मंजूरी मिल सकती है।

    - खातीपुरा रेलवे स्टेशन को टर्मिनल में परिवर्तित करने के लिए मिल सकती है राशि।

    - गांधीनगर, बांदीकुई, फालना, रेवाड़ी, अलवर सहित 44 स्टेशनों पर 88 एस्केलेटर, 4 लिफ्ट लगेंगी।

    - कई स्टेशनों के प्लेटफॉर्म लेवल अपग्रेड होंगे। इसके लिए सेफ्टी फंड से 700 करोड़ रु. मिलने की उम्मीद।

    पिछले बजट का सच: 5 करोड़ के बाद भी सीसीटीवी के टेंडर तक नहीं

    रेलवे स्टेशनों पर सुरक्षा की दृष्टि से निर्भया फंड के तहत गांधीनगर सहित 8 रेलवे स्टेशनों में 271 सीसीटीवी कैमरे लगाने की योजना बजट मिलने का बाद भी अटकी है। इसके लिए लगभग 5 करोड़ रु. का बजट भी स्वीकृत किया जा चुका है। लेकिन 3 साल बीतने के बाद भी काम शुरू नहीं हुआ है। कैमरे लगाने का काम सिग्नल एंड टेलीकॉम विभाग और रेल टेल कॉर्पोरेशन के बीच अटका हुआ है। रेलवे स्टेशनों पर चोरी अन्य वारदातों के बढ़ने के बाद साल 2012 में जयपुर रेलवे स्टेशन पर सुरक्षा की दृष्टि से 77 सीसीटीवी कैमरे लगाए गए थे। इनकी मॉनीटरिंग के लिए रेलवे द्वारा अलग से कक्ष भी बनाया गया है। लेकिन गांधीनगर सहित मंडल के अन्य किसी भी स्टेशन पर सीसीटीवी कैमरे नहीं लगे हैं। जबकि पिछले दिनों ही गांधीनगर जंक्शन पर एक युवक द्वारा आरपीएफ थाने के सामने बडी वारदात को अंजाम दिया गया था। वहां एक भी सीसीटीवी कैमरा नहीं था।

  • कोई नई ट्रेन का वादा नहीं किया, अब 5 फरवरी को बजट आवंटन से आशा
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Udaipur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×