--Advertisement--

कार हादसा: PM की पत्नी जसोदा के आने पर हॉस्पिटल को बनाया छावनी

विशेष सुरक्षा टीम के साथ दोपहर 2.15 बजे डबोक एयरपोर्ट से सीधे अहमदाबाद के लिए रवाना हो गईं।

Dainik Bhaskar

Feb 08, 2018, 02:22 AM IST
pm modi s wife jashodaben treatment in udaipur mb hospital

उदयपुर. सड़क हादसे में बाल-बाल बचीं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की पत्नी जसोदा बेन और उनके रिश्तेदारों को एमबी हॉस्पिटल में लाने की सूचना पर दोपहर 12 बजे एमबी सहित पूरे प्रशासनिक अमले में अफरा-तफरी मच गई। उनके उदयपुर पहुंचने के डेढ़ घंटे पहले ही गठित मेडिकल बोर्ड के साथ आरएनटी मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ. डीपी सिंह, अधीक्षक विनय जोशी, एडीएम सिटी सुभाषचंद्र शर्मा, एसपी राजेन्द्र प्रसाद गोयल, एएसपी हर्ष रत्नू, डीवाईएसपी, तीन पुलिस निरीक्षक सहित घंटाघर और हाथीपोल थाने का जाब्ता मौके पहुंच गया। ट्रोमा वार्ड में जगह-जगह पुलिसवाले तैनात किए। जबकि जसोदा बेन चित्तौडग़ढ़ कलेक्टर इंद्रजीत सिंह की विशेष सुरक्षा टीम के साथ दोपहर 2.15 बजे डबोक एयरपोर्ट से सीधे अहमदाबाद के लिए रवाना हो गईं। घायलों को देखने उदयपुर कलेक्टर बिष्णुचरण मल्लिक भी ट्रोमा पहुंचे।

- हादसे में मृत जशोदा बेन के 65 साल के रिश्तेदार वसंत भाई की 60 वर्षीय पत्नी विमला बेन को नाजुक हालत में दोपहर 2.11 बजे एमबी हॉस्पिटल के ट्रोमा आईसीयू में भर्ती कराया गया। जहां एसएमएस जयपुर और एमबी हॉस्पिटल के न्यूरोलॉजी, अस्थि, ईएनटी आदि विभागों के विशेषज्ञ डॉक्टरों की टीम ने सीटी स्कैन, एक्सरे जैसी कई जांचें की। जांच रिपोर्ट में विमला के सिर के पिछले हिस्से में गहरी चोट और चेहरे पर फ्रेक्चर पाया गया है।

- एमबी हॉस्पिटल के अधीक्षक डॉ. विनय जोशी ने बताया कि हादसे में घायल 45 वर्षीय गार्ड जयेंद्र सिंह का ऑपरेशन किया गया है, क्योंकि गार्ड के चेहरे पर चोट और होंठ कट गया है।

- विमला बेन को शाम 5.30 बजे आईसीयू ऑन व्हील में मेडिसिन विभाग के डॉ. महेश दवे, एनेस्थीसिया के डॉ. खेमराज मीणा व अन्य स्टाफ के साथ अहमदाबाद भेजा गया। उनके साथ जसवंत भाई मोदी, उदयपुर के जितेन्द्र सिसौदिया व अन्य लोग भी गए थे। इसके बाद जिला प्रशासन और मरीजों ने राहत की सांस ली।

स्ट्रेचर मांगी तो पुलिस और अस्पताल स्टाफ ने भगा दिया

- ट्रोमा में इलाज कराने पहुंचे कई गंभीर घायलों डॉक्टरों का उपचार तो दूर स्ट्रेचर तक नसीब नहीं हुआ। जिन्हें परिजन कंधों पर उठाकर अस्पताल में ले गए, जिन्हें पुलिस पूछताछ तक का सामना करना पड़ा।

- ट्रोमा में भर्ती झाड़ोल निवासी 14 वर्षीय मनीष को दोपहर 1 बजे ट्रोमा से बाहर का रास्ता दिखा दिया।

- परिजन आशीष ने बताया कि मनीष 5 दिन पहले पेड़ से गिर कर गंभीर घायल हो गया है, जिसका ट्रोमा में इलाज चल रहा है। उसे बाहर स्ट्रेचर पर लाना था, लेकिन पुलिस और हॉस्पिटल स्टाफ ने भगा दिया।

दोपहर डेढ़ बजे हुई ट्रोमा की सफाई
- एमबी के ट्रोमा के बाहर फैली गंदगी की दोपहर 1.30 बजे साफ किया गया। जबकि यह सफाई नियमानुसार सुबह ही हो जानी चाहिए थी।

डेढ़ घंटे पहले ही प्रिंसिपल के साथ ट्रोमा में पहुंच गई बीस विशेषज्ञ डॉक्टरों की टीम. ट्रोमा सहित पूरा अस्पताल पुलिस ने लिया कब्जे में
- वैसे तो ट्रोमा हमेशा अस्पताल प्रशासन के नियंत्रण में रहता है, लेकिन पीएम मोदी की पत्नी और उनके रिश्तेदारों की सुरक्षा में पहुंची पुलिस ने ट्रोमा के चप्पे-चप्पे को अपने कब्जे में ले लिया। कोई ढील नहीं रहे यह देखने एसपी राजेन्द्र प्रसाद गोयल भी मौके पर पहुंचे।
- एसपी ने एएसपी हर्ष रत्नू से कहा मीडिया को घायलों के आस-पास मत भटकने देना। इसके बाद तो पुलिस ने ट्रोमा में जाने वाले मरीजों तक को भी टटोला।

चित्तौडग़ढ़ हादसे में घायल जसोदा बेन, विमला बेन, गार्ड जयेंद्र को मौके से एमबी हॉस्पिटल लाने की सूचना जैसे ही आरएनटी मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ. डीपी सिंह और अधीक्षक डॉ. विनय जोशी को लगी तो आनन-फानन में मेडिकल बोर्ड गठित हो गया।

- यह नहीं, जिस ट्रोमा में कई बार आम आदमी अपनों की जान बचाने डॉक्टरों को ढूंढता फिरता है वहां डेढ़ घंटे पहले ही डॉक्टरों का दल पहुंच गया।
- प्रिंसिपल डॉ. सिंह, अधीक्षक डॉ. जोशी, उपाधीक्षक डॉ. रमेश जोशी, न्यूरोलॉजी विभागाध्यक्ष डॉ. तरुण गुप्ता, डॉ. गौरव जायसवाल, मैक्सोफेशियल के डॉ. नरेन्द्र सिंह, रेडियोलॉजी के विभागाध्यक्ष डॉ. एनके कर्दम सहित कई डॉक्टरों के दल को जैसे ही किसी एंबुलेंस के सायरन की आवाज सुनाई देती तो वह दौड़कर ट्रोमा की छत तो कोई मेनगेट से बाहर आकर देखता।

एसएमएस जयपुर के डॉक्टरों की स्पेशल टीम फ्लाइट से पहुंची उदयपुर
- घायलों के उपचार के लिए मुख्यमंत्री वसुंधराराजे के कार्यालय आदेश पर एसएमएस हॉस्पिटल जयपुर के न्यूरोलॉजी, अस्थि, ईएनटी जैसे अहम विभागों के विशेषज्ञ डॉक्टरों का दल हवाई यात्रा कर उदयपुर पहुंचा। अधीक्षक डॉ. जोशी ने बताया कि एसएमएस अस्पताल के दल ने भी उपचार में मदद की।

एफएसएल जांच : गलती ट्रक ड्राइवर की
- हादसे पर एफएसएल टीम की जांच में सामने आया कि ट्रक रोड की लेफ्ट साइड में चल रहा था। कार ड्राइवर ओवर टेक कर रहा था, उसी दौरान ट्रक ड्राइवर ने ट्रक को राइट साइड की तरफ मोड़ लिया और पीछे से आकर कार टकरा गई।

- एफएसएल टीम ने ट्रक ड्राइवर की गलती बताई है। अब गुरुवार सुबह तक यह सामने आ जाएगा कि ट्रक कितनी स्पीड में था। ट्रक सहित ड्राइवर पूरण यादव को पारसोली पुलिस ने पकड़ लिया।

pm modi s wife jashodaben treatment in udaipur mb hospital
pm modi s wife jashodaben treatment in udaipur mb hospital
pm modi s wife jashodaben treatment in udaipur mb hospital
X
pm modi s wife jashodaben treatment in udaipur mb hospital
pm modi s wife jashodaben treatment in udaipur mb hospital
pm modi s wife jashodaben treatment in udaipur mb hospital
pm modi s wife jashodaben treatment in udaipur mb hospital
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..